काले जादू की दुनिया है मायोंग गाँव, यहां का बच्चा- बच्चा करता है काला जादू : बड़ी दिलचस्प कहानी है......

26 फरवरी 2019   |  अंकिशा मिश्रा   (223 बार पढ़ा जा चुका है)

काले जादू की दुनिया है मायोंग गाँव, यहां का बच्चा- बच्चा करता है काला जादू  : बड़ी दिलचस्प कहानी है......

भूत- प्रेत, जादू -टोना ये सब पढ़े- लिखे लोगों के लिए तो एक कल्पना है लेकिन समाज का अधिकांश हिस्सा इसे वास्तविकता मानता है। संविधान के अनुभाग 5 के अनुच्छेद 51A में कहा गया है कि सभी भारतीयों का ये मौलिक कर्तव्य है कि वो वैज्ञानिक मनोवृती को बढ़ावा दें। लेकिन आज हम जो बात कहने वाले हैं, वो हमारे पहले वाक्य से मेल नहीं खाती. क्योंकि वो 'संविधान' है और बात जिसकी होगी वो 'समाज' है।




गुवाहाटी से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर एक गांव है।जिसका नाम है मायोंग। मायोंग की पहचान उसके काला जादू की कहानियों और उसके जादूगरों से है। इसका नाम 'मायोंग' भी संस्कृत के 'माया' शब्द से पड़ा, 'माया' जिसका एक अर्थ 'भ्रम' भी होता है और 'भ्रम' जिसे हम ख़ास परिस्थितियों में 'जादू' भी कहते हैं।




ये गांव अचानक से मीडिया में चर्चा का विषय इसलिए बन गया है क्योंकि इसके ऊपर फ़िल्मकार उतपल बोरपुजारी ने एक डॉक्यूमेंट्री बनाई है। डॉक्यूमेंट्री का नाम “मायोंग : मिथ/ रियलिटी” है। डॉक्यूमेंट्री का विषय वहां के लोग और उनकी जीवनशैली है।




जहां बुनकर और किसान अपने बच्चों और वंशजों को अपनी काम की जानकारी देते हैं, उन्हें उसके सभी पहलुओं के बारे में सिखाते हैं। वहीं मायोंग गांव के लोग भी हैं, जो अपने बच्चों को विरासत में काला जादू दे जाते हैं। गावं वालों के अनुसार वो इससे समाज की भलाई के लिए उपयोग करते हैं।




गांव की चौहदी में कदम रखते ही आपको काला जादू से जुड़ी कहानियां सुनने के लिए मिल जाएंगी। जैसे जादू से इंसान का गायब हो जाना या किसी जानवर का भेष धर लेना। ये कहानियां मुगल सम्राट औरंगजेब के ज़माने से चली आ रही हैं।




यहां के तांत्रिकों का दावा है कि वो मंत्रों के सहारे से खोई हुई चीज़ ढूंढ लाते हैं, वो बस एक कटोरे में कुछ फूल डाल कर मंत्रोच्चारण करेंगे और कटोरा ख़ुद-ब-ख़ुद लुढ़कता चोर/खोई हुई वस्तु तक पहुंच जाएगी। जादू के सहारे ये कई बीमारियों को ठीक करने का भी दावा करते हैं।




ये बातें सुनने में तो अटपटी या किसी को डरावनी या बकवास लग सकती है लेकिन यही मायोंग के लोगों की सच्चाई है।




TOI की एक रिपोर्ट के अनुसार, पूरा मायोंग गांव वहां के एक पूर्वज चुरा बेज़ की कहानियों को जानता है। किवंदती है कि वो 'लुकी मंत्र' के द्वारा गायब हो सकते थे और 'बाघ बंधा मंत्र' के द्वारा किसी गुस्साए बाघ को शांत कर सकते थे।





मायोंग के एक बुज़ुर्ग हेमेंद्र नाथ ने TOI को एक इंटरव्यू में बताया कि अब हम अपने काम या इलाज के लिए काला जादू पर निर्भर नहीं करते, फिर भी कुछ लोग मदद के लिए उनके पास आ ही जाते हैं।




मायोंगवासियों को अपनी कला पर गर्व है और उन्होंने इसे Mayong Black Magic And Withcraft संग्राहलय, गुवाहाटी में सहेज कर रखा है। इस संग्राहलय को National Geographic ने दुनिया के 10 अनोख म्यूज़ियम की लिस्ट में रखा है।


अगला लेख: Red Fort: जानिए दिल्ली के लाल क़िले का इतिहास और अन्य रोचक तथ्य...



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 फरवरी 2019
किन्नरों को ही हमेशा समाज में अलग ही नज़रों से देखा जाता है समाज में इतने बदलाव होने के बावजूद इन लोगों को वो सम्मान नहीं मिला जो मिलना चाहिए। आपने किन्नरों को कई जगह देखा होगा. कभी चौराहों पर तो कभी किसी ट्रेन में. तो कभी यूं ही बाज़ार में. पर शायद कभी इन्हें आम नज़रों
14 फरवरी 2019
11 फरवरी 2019
Thought in Hindi one line: हम अपनी जिंदगी में कई बार हार और जीत का मुंह देखते हैं। जब भी हमें जीत का स्वाद देखने को मिलता है तो हम सिर्फ ख़ुशी में मग्न रहते हैें लेकिन अगर हार से दो चार होना पड़ जाए तो कोई विक्लप नहीं सूझता। अक्सर संघर्ष के दिनों में हम इतना ज्यादा दु
11 फरवरी 2019
12 फरवरी 2019
Red Fort (लाल किला) भारत में दिल्ली शहर का एक ऐतिहासिक किला है। यह 1856 तक, लगभग 200 वर्षों तक मुगल वंश के सम्राटों का मुख्य निवास रहा है। यह दिल्ली के केंद्र में स्थित है और जहां कई संग्रहालय हैं। बादशाहों और उनके घरों को समायोजित करने के अलावा, यह मुगल राज्य का औपचारिक और राजनीतिक केंद्र था और इस
12 फरवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x