एक ही टी-बैग्स का कई बार इस्तेमाल कर सकते हैं आप, जानिए कैसे

01 मार्च 2019   |  मिताली जैन   (21 बार पढ़ा जा चुका है)

एक ही टी-बैग्स का कई बार इस्तेमाल कर सकते हैं आप, जानिए कैसे - शब्द (shabd.in)

दिन की शुरूआत हो और गरमागरम चाय की चुस्कियां मिल जाए तो कहना ही क्या। आज के समय में देखने में आता है कि लोग चाय बनाने के लिए टी-बैग्स को प्राथमिकता देते हैं क्योंकि इससे चाय बनाना भी आसान होता है और लोग इसे कहीं पर भी आसानी से कैरी करते हैं। लेकिन अमूमन एक बार प्रयोग के बाद इन्हें फेंक दिया जाता है, क्योंकि लोग समझते हैं कि एक बार इस्तेमाल के बाद इनका कोई प्रयोग नहीं रह गया। जबकि यह सच नहीं है। इस्तेमाल किए हुए टी-बैग्स को आप एक नहीं, बल्कि कई तरह से प्रयोग कर सकते हैं। यकीन मानिए, इस लेख को पढ़ने के बाद आप दोबारा कभी यूज्ड टी-बैग्स को फेंकने की गलती नहीं करेंगे। तो चलिए जानते हैं बेकार समझे जाने वाले इन टी बैग्स के कुछ बेहतरीन इस्तेमाल के बारे में-


दूर करे बदबू


घर में कई तरह की बदबू को दूर करने में टी-बैग्स इस्तेमाल में लाए जा सकते हैं। फिर चाहे बात आपके जूतों की हो या फ्रिज की या फिर घर के एक कोने में पड़े डस्टबिन की। यह हर तरह की बदबू को दूर करने के साथ-साथ घर को महकाने का भी काम करता है। मसलन, अगर आपके फ्रिज से बदबू आ रही है तो इस्तेमाल किए टी बैग्स किसी बाउल में डालकर फ्रिज में रखें। कुछ ही देर में फ्रिज से दुर्गंध आनी दूर हो जाएगी। इसी तरह जूतों से आने वाली बदबू को दूर करने के लिए पहले इस्तेमाल हुए टी बैग को सुखा लें और इसे अपने जूतों में रखें। टी-बैग सारी बदबू को दूर कर देगा। इसी तरह अगर ड्राई टी बैग को आप डस्टबिन में डालते हैं तो बदबू काफी दूर हो जाती है। वैसे बदबू दूर करने के साथ-साथ टी-बैग्स घर के कोने-कोने को महकाता है। इसके लिए पहले ाूप में सुखाएं और फिर इसमें कोई भी पसंदीदा महकने वाले तेल की कुछ बूंदे डाल दें। अब आप इसका इस्तेमाल अपने बेडरूम, बाथरूम, लिविंग रूम या कहीं पर भी बतौर एयरफ्रेशनर कर सकते हैं।


बर्तनों की सफाई


अगर बर्तन जल जाए या फिर उस पर चिकनाई हो तो उसे साफ करना परेशानी का सबब बन जाता है। लेकिन आपकी इस परेशानी का टी-बैग्स कम कर सकते हैं। इसके लिए आप गंदे बर्तनों में गर्म पानी डालें और उनमें इन टी बैग्स को डालकर रात भर के लिए छोड़ दें। अगले दिन बर्तनों को साफ करें, सारी चिकनाई और जले हुए निशान दूर हो जाएंगे।


खाना बनेगा लाजवाब


इस्तेमाल किए हुए टी-बैग्स को किचन में इस्तेमाल करना भी एक अच्छा विचार हो सकता है। अगर आप पास्ता बना रहे हैं तो के लिए पानी उबालते समय उस पानी में टी बैग को डिप करें और कुछ देर बाद निकाल दें। यह टिप्स अपनाने से पास्ता का स्वाद कई गुना बढ़ जाता है। इसी तरह अगर आपको छोलों की रंगत बढ़ानी है तो छोले उबालते समय उसमें इस्तेमाल किए हुए टी-बैग डाल दें। ऐसा करने से छोले अधिक काले व बेहद स्वादिष्ट बनते हैं।


कड़क चाय


कुछ लोगों को कड़क चाय पीने की आदत होती है, उनके लिए भी इस्तेमाल किए हुए टी-बैग्स लाभकारी है। इसके लिए पहले से इस्तेमाल किए हुए टी बैग को फ्रिज में स्टोर करके आप दोबारा चाय बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे चाय का कड़क स्वाद आएगा। हालांकि एक बात का ख्याल रखें कि इसे दो बार से ज्यादा प्रयोग न करें।


करें सफाई


जब भी आप घर की सफाई करते हैं तो काफी कठिनाई होती है और अपनी मदद से लिए आप मार्केट में मिलने वाले तरह-तरह के क्लीनर का प्रयोग करते हैं, लेकिन अब आपको ऐसा करने की आवश्यकता नहीं है। आपकी मदद के लिए टी-बैग्स हैं। यह शीशों को बेहतरीन तरीके से साफ करता है। इसके लिए आप इस्तेमाल किए हुए टी बैग्स फिर से उबालें। अब उस पानी के ठंडा होने के बाद उसका इस्तेमाल अपने घर की खिड़कियों के शीशे, गाड़ी के शीशे और किसी भी तरह के शीशे पर कऱें। आप देखेंगे कि वह एकदम चमक गया है। ठीक इसी तरह, लकड़ी के फर्नीचर और फर्श की सफाई के लिए भी टी बैग्स को पानी में उबालें और कुछ देर के लिए ठंडा करें। अब इसमें एक नर्म कपड़े को भिगोएं और लकड़ी के फर्नीचर या फर्श को इससे साफ करें। सूखे कपड़े से पोंछ लें, फर्नीचर नए जैसे हो जाएंगे।


दूर करे छाले


मुंह में छाले की समस्या यूं तो बेहद आम लगती है, लेकिन वास्तव में यह काफी तकलीफदेह होती है। इससे निजात पाने के लिए सबसे पहले टी बैग को फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें। इसके बाद इसे छालों वाली जगह पर रखें। ऐसा करने से आपको तुरंत आराम मिलेगा।


बनाएं खाद


इस्तेमाल किए हुए टी-बैग्स एक बेहतरीन खाद की तरह भी काम करते हैं। साथ ही यह खाद को उपजाऊ बनाते हैं। इसके लिए आप चाय बनाने के बाद टी बैग्स को फेंकने की बजाय एक जगह इक्ट्ठा करते जाएं। जब दस-बीस टी बैग जमा हो जाएं तो उसे पानी में डालकर उबाल लें। जब यह पानी ठंडा हो जाए तो उसे अपने गमलों में डालें। आप चाहें तो इस पानी को स्प्रे बोतल में भरकर छोटे पौधों व पत्तियों पर छिडक सकते हैं, इससे पत्तियों में लगने वाले कीड़े मर जाते है। वहीं आप टी बैग को खोलकर चाय पत्ती का इस्तेमाल खाद के तौर पर भी कर सकते हैं।


आंखों के लिए लाभदायक


इस्तेमाल टी-बैग्स आंखों के लिए बेहद फायदेमंद माने गए है। कभी-कभी थकावट की वजह से आंखें लाल हो जाती हैं या फिर किसी कारणवश आंखों में जलन होने लगती है। इस समस्या को दूर करने के लिए टी-बैग्स का इस्तेमाल करें। इसके लिए पहले टी-बैग्स को फ्रिज में रखकर ठंडा करंे और फिर इसको आंखों पर रख लें। इससे आंखों की थकावट व जलन दूर हो जाएगी। साथ ही इससे डार्क सर्कल भी कम होने शुरू हो जाते हैं।


हाथ-पैरों का ख्याल


हाथ-पैरों का नेचुरल तरीके से ख्याल रखने में टी-बैग की मदद लेना अच्छा विचार हो सकता है। दरअसल, चाय में ऐसे गुण होते हैं जो आसानी से मृत त्वचा को हटाने में मदद करते हैं और इसके साथ ही एंटी-ऑक्सिडेंट त्वचा के लिए बेहद लाभकारी होते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए एक टब में गुनगुना पानी डालें, फिर उसमें टी-बैग डाल दें। जब पानी हल्का ठंडा हो जाए तो अपने पैर उसमें भिगो लें। इससे पैरों की बदबू दूर हो जाएगी और वे कोमल हो जाएंगे।


हो जाए सनबर्न


अगर सूरज के अधिक संपर्क में आने के कारण आपको सनबर्न हो गया है तो टी-बैग को कुछ समय उस हिस्से पर रखें। इससे आपको यकीनन काफी अच्छा लगेगा।


चमकाएं बाल


इस्तेमाल किए हुए टी-बैग्स बालों को नेचुरली तरीके से कंडीशन करते हैं और इसके इस्तेमाल से बाल डैंड्रफ फ्री, मुलायम और चमकदार बनते है। इसके लिए सबसे पहले टी बैग को गुनगुने पानी में डालने के बाद उसे ठंडा कर लें। अब इस पानी से गीले बालों को धोने के बाद दस मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। फिर शैंपू कर लें।


ठीक करे चोट


त्वचा पर किसी भी तरह की चोट को ठीक करने के लिए टी-बैग्स काम आ सकते है। दरअसल, चाय में मौजूद एपिगॉलॉटेक्चिन-3-गैलेट में एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं और साथ ही इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स घाव को तेजी से भरते हैं। इसलिए चोट लगने पर भिगे हुए टी-बैग को रखें। यह तुरंत जलन कम करेगा।

अगला लेख: टमाटर सूप के इन स्वास्थ्य लाभों को जानकर आज से ही इसे पीना शुरू कर देंगे आप!



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
16 फरवरी 2019
बदलती जीवनशैली में व्यक्ति की जिस तरह की खान-पान की आदतों में बदलाव आया है, उसके कारण पाचनतंत्र कमजोर होता जा रहा है। आज के समय में अधिकतर लोग किसी न किसी पेट की समस्या से जूझ रहे हैं। इन्हीं में से एक है कब्ज। खराब व अनहेल्दी भोजन, व्यस्त जीवनशैली और तनाव के चलते कब्ज की समस्या बढ़ जाती है। ऐसे में
16 फरवरी 2019
17 फरवरी 2019
पीठ की समस्या आज के समय में बेहद आम है। पहले जहां सिर्फ बढ़ती उम्र में ही लोग कमरदर्द से जूझते थे, वहीं आज के समय में युवाओं को भी इस दर्द से दो-चार होना पड़ता है। आमतौर पर लोग इसे नजरअंदाज करते हैं, जिससे स्थिति और भी अधिक बिगड़ जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके पीछे आपकी कुछ छोटी-छोटी गलतियां
17 फरवरी 2019
15 फरवरी 2019
बेबी ऑयल का नाम सुनते ही दिमाग में एक कोमल शिशु की छवि उभरकर सामने आ जाती है। चूंकि बच्चों की त्वचा बेहद नाजुक होती है, इसलिए उनका ख्याल रखने के लिए अलग से मिलने वाले बेबी प्राॅडक्ट का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। बेबी ऑयल भी ऐसा ही एक बेबी प्राॅडक्ट है जो शिशु
15 फरवरी 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x