महाशिवरात्रि

03 मार्च 2019   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (16 बार पढ़ा जा चुका है)

महाशिवरात्रि 2019

कल फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी – महाशिवरात्रि पर्व | वर्ष में प्रत्येक मास की कृष्ण पक्ष की शिवरात्रि मास शिवरात्रि कहलाती है | इनमें दो शिवरात्रि विशेष महत्त्व की मानी जाती हैं – फाल्गुन माह की शिवरात्रि जिसे महाशिवरात्रि भी कहा जाता है और इसे शिव-पार्वती के विवाह का प्रतीक माना जाता है | और दूसरी श्रावण माह की मास शिवरात्रि | शिवरात्रि को साधक पूरा दिन उपवास रखकर रात्रि को शिवलिंग का अभिषेक करते हैं | रात्रि में चार अभिषेक करने की प्रथा है | किन्तु जो लोग इतना कठिन नियम पालन नहीं कर सकते वे लोग इन में उपवास रखकर भगवान शंकर और उनके परिवार का अभिषेक करते हैं | अर्थात सारा ही दिन भगवान शिव की आराधना में लीन रहते हैं | पौष्टिक बने रहने के लिए गौ दुग्ध और गौ घृत, भौतिक सुख सुविधाओं की उपलब्धि के लिए तथा समस्त प्रकार के तनावों से मुक्ति के लिए चन्दनादि से सुगन्धित गंगाजल, अच्छे स्वास्थ्य तथा जीवन साथी की मंगल कामना के लिए मधु तथा सांसारिक तापों से मुक्ति की कामना से बिल्वपत्र और धतूरे से शिवलिंग का अभिषेक किया जाता है |

किन्तु हमारी स्वयं की मान्यता है कि केवल जल तथा बिल्व पत्र के साथ श्रद्धा, भक्ति और पूर्ण आस्था तथा विश्वास का गंगाजल एक साथ मिलाकर उस जल से यदि शिवलिंग को अभिषिक्त किया जाए तो भोले शंकर को उससे बढ़कर और कुछ प्रिय हो ही नहीं हो सकता |

इस वर्ष आज द्वादशी-त्रयोदशी में प्रदोष व्रत है, क्योंकि आज अपराह्न काल में त्रयोदशी का आगमन हो रहा है, और कल यानी सोमवार को सायं चार बजकर अट्ठाईस मिनट पर वणिज करण और शिव योग में चतुर्दशी तिथि का आगमन हो जाएगा | इस समय चन्द्रमा चन्द्रमा धनिष्ठा और सूर्य शतभिषज नक्षत्रों पर रहेंगे | मंगलवार को रात्रि सात बजकर सात मिनट के लगभग अमावस्या तिथि आ जाएगी | अतः महाशिवरात्रि का पर्व तथा शिवाभिषेक कल सोमवार को ही सम्पन्न किया जाएगा |

जो लोग रात्रि में अभिषेक करते हैं उनके लिए Astrologers और पण्डितों के अनुसार प्रथम प्रहर के अभिषेक का समय 18:19 से 21:26 तक, द्वितीय प्रहर में 21:26 से 24:33 तक, तृतीय प्रहर में 24:33 यानी 12:33 से 27:39 यानी अर्द्धरात्र्योत्तर 3:39 तक और अन्तिम प्रहर के अभिषेक का समय 27:39 से 30:46 यानी 3:39 से मंगलवार को सूर्योदय से कुछ पूर्व 6:46 तक बताया गया है | तथा व्रत के पारायण का समय मंगलवार को प्रातः 6:46 के बाद का नियत किया गया है | दिन के समय जो लोग उपवास और अभिषेक आदि करते हैं उनके सोमवार को पूरा इन शिवार्चन का दिन है |

शं करोतीति शंकर: - सबको शान्ति प्रदान करने वाले, सबका कल्याण करने वाले भगवान शिव की कृपा दृष्टि सभी पर बनी रहे, इसी कामना के साथ सभी को महाशिवरात्रि के इस पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ…

https://www.astrologerdrpurnimasharma.com/2019/03/03/mahashivratri-2019/

अगला लेख: वक्री बुध मीन राशि में



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
04 मार्च 2019
4 से 10 मार्च 2019 तक का साप्ताहिक राशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आ
04 मार्च 2019
13 मार्च 2019
(मेरी अपनी एक सखी के जीवन की सत्य घटना पर आधारित कथा –अन्त में थोड़े से परिवर्तन के साथ)वो काटा“मेम आठ मार्च में दो महीनेसे भी कम का समय बचा है,हमें अपनी रिहर्सल वगैरा शुरू कर देनी चाहिए…” डॉ सुजाता International Women’sDay के प्रोग्राम की बात कर रही थीं |‘जी डॉ, आप फ़िक्र मत कीजिए,आराम से हो जाएगा… आ
13 मार्च 2019
04 मार्च 2019
"भगवान शिव का कोई माता-पिता नहीं हैं ! उन्हें अनादि माना गया है! मतलब, जो हमेशा से था, जिसके जन्म की कोई तिथि नही!" कथक, भरतनाट्यम करते वक्त भगवान शिव की जो मूर्ति रखी जाती है, उसे "नटराज" कहते है!" किसी भी देवी-देवता की टूटी हुई मूर्ति की पूजा नही होती! लेकिन शिवलिंग चाहे कितना भी टूट जाए फिर भी पू
04 मार्च 2019
13 मार्च 2019
अष्टाह्निक पर्वआजसे जैन समुदाय का फाल्गुन मास का अष्टाह्निक पर्व आरम्भ हो गया है | अष्टाह्निकपर्व वर्ष में तीन बार आते हैं – आषाढ़ मास में, कार्तिक मास में और फाल्गुन मासमें | इन तीनों महीनों की शुक्ल पक्ष की अष्टमी से आरम्भ होकर पूर्णिमा तक आठ दिनोंतक यह पर्व चलता है | क्योंकि फाल्गुन शुक्ल अष्टमी क
13 मार्च 2019
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x