होठों को गुलाबी व चमकदार बनाने के सरल घरेलू नुस्खे, एक बार जरूर जान लें

06 मार्च 2019   |  सतीश कालरा   (23 बार पढ़ा जा चुका है)

Third party image reference


आजकल की भागदौड़ की जिंदगी में होंठो का काला पड़ना एक आम समस्या हो गई है, अच्छा सुंदर व्यक्ति भी होठ काले होने के कारण अपनी सुन्दरता को खो देता है । इस लेख में हम आपको होठों के काले होने से बचाव व इसके घरेलू नुस्खे के बारे में बताने जा रहे हैं । जिससे आप लोग इनकी देखभाल कर उन्हें गुलाबी बनाएं रखें ।


होठों के काला होने से बचाव


होठों अगर काले हो जाएं तो व्यक्ति के चेहरे की सुंदरता काम हो जाती है, ऐसे कई कारण हैं जिनके कारण होठ काले हो जाते है । अत्यधिक धूम्रपान करना, अत्यधिक धूम्रपान न करें । होठों पर बार-बार जीभ फेरने और एलर्जी होने पर भी यह डार्क पड़ जाते हैं । लिपस्टिक लगाने से पहले होठो पर कंसीलर लगाएं । यह अच्छी तरह लगेगी और होठों का कालापन भी छुप जाएगा । ऐसी लिपस्टिक जिसकी एक्सपेयरी डेट निकाल चुकी हो, का प्रयोग करने से भी होठ जल्दी काले पड़ते हैं ।


Third party image reference


होंठों का गुलाबीपन बनाए रखने के घरेलू नुस्खे


  • सुबह टूथ ब्रश करने के बाद उसी भीगे ब्रश से हल्के-हल्के होंठों पर जमे मृत कोशिकाओं को हटाये । नई त्वचा निकाल आएगी और होंठ गुलाबी दिखेंगे ।

  • निंबू के एक टुकड़े पर चीनी डाल कर होठों पर रगड़ें । इससे होठों की मृत कोशिकाएं हट जाएंगी और नई त्वचा निकाल आएगी और होंठ गुलाबी दिखेंगे ।

  • गाजर के जूस में रुई डुबोकर होंठों पर लगाएं और गाजर का रस भी पिए । चुकंदर, स्ट्रॉबेरी, टमाटर आदि सेवन करें । होंठ प्राकृतिक गुलाबी रंगत पा जायेगे ।

  • संतरे के छिलके का पल्प बनाकर होंठों पर लगाएं या छिलके सुखाकर पाउडर बनाकर दूध में मिलाकर होटों पर लगाएं । 5 मिनट बाद होठ धो लें, इससे होठ गुलाबी बने रहेगें ।

  • इन चार चीजो रसभरी, गुलाब की पत्तियां, एलोवेरा का जूस और शहद का पेस्ट बनाकर होठों पर लगाएं । 5 मिनट बाद धो लें । इससे होठो के लिए जरुरी विटामिन और मिनरल्स मिलेंगे जिससे होठ गुलाबी कोमल नजर आने लगेंगे ।

  • होठों पर विटामिन ई का कैप्सूल तोड़कर, उसका सीरम होंठों पर लगाएं । इससे होठो का सूखापन दूर होकर होठ गुलाबी हो जायेगें ।

  • रोज रात को होठों पर ग्लिसरीन, निंबू का रस लगाकर सोए या सोते समय दूध की मलाई में शहद मिलाकर लगाए । ऐसा करने से सुबह होंठ कोमल व गुलाबी नजर आएंगे ।

Third party image reference


  • दूध में हल्दी मिलाकर इसका पेस्ट बना लें । इसे होठों पर लगाएं और सूखने के बाद धो लें, होंठों की चमक और गुलाबीपन आपके होठों को निखार देगा ।

  • बदाम का तेल, शहद और चीनी मिलाकर फैट लें और फिर इसे होठों पर लगाकर 10 मिनट तक मसाज करने से फायदा होगा । होठों पर नारियल का तेल रोज लगाएं व मुलायम बने रहेंगे ।

  • दूध में लाल गुलाब की पत्तियां भिगोकर आधे घंटे रखे । उसके बाद पत्तियां बाहर निकाले ।उनमें कुछ बूंदे शहद और ग्लिसरीन की डाल कर पेस्ट बना लें । यह पेस्ट होठों पर लगाएं ।

यह भी पढ़े:- तुलसी (holy basil) के बुखार,सर्दी,जुकाम,खांसी में प्रयोग एवं फायदे

दोस्तों आपको यह जानकारी कैसी लगी ? कृपया हमें कमेंट करकेबताएं । न्यूज़ अच्छी लगी हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर करें । अच्छे अच्छे हेल्थ जानकारी के बारे में पढ़ने के लिए हमें अवश्य फोलो करें ।

धन्यवाद

अगला लेख: जाड़े के दिनों में होंठ फटने लगें तो करें यह उपाय



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
24 फरवरी 2019
होंठ बहुत ही संवेदनशील होते हैं, हर मौसम का इस पर प्रभाव पड़ता है । मौसम के प्रभाव से ही होंठ फटते हैं, जाड़े के दिनों में कुछ ज्यादा ही प्रभाव पड़ता है । हॉट फटने से हसने बोलने में परेशानी तो होती है, पर देखने में भी अच्छा नहीं लगता है । होंठो के फटने का कारण ठंडा मौसम, विटामिन ए तथा विटामिन बी की
24 फरवरी 2019
24 फरवरी 2019
होंठ बहुत ही संवेदनशील होते हैं, हर मौसम का इस पर प्रभाव पड़ता है । मौसम के प्रभाव से ही होंठ फटते हैं, जाड़े के दिनों में कुछ ज्यादा ही प्रभाव पड़ता है । हॉट फटने से हसने बोलने में परेशानी तो होती है, पर देखने में भी अच्छा नहीं लगता है । होंठो के फटने का कारण ठंडा मौसम, विटामिन ए तथा विटामिन बी की
24 फरवरी 2019
21 फरवरी 2019
आँमला उच्चकोटी का रसायन है। इसके बहुत से फायदे हैं, आँवले का उपयोग बुढ़ापा दूर रखने व जवानी बनाए रखने मे सहायक है । यह रक्त से विषैले व हानिकारक पदार्थो को निकालने मे सक्षम है । आंवलो के मौसम मे रोज सुबह व्यायाम या भ्रमण के पश्चात दो पके हुए पुष्ट आँवलों को चाबा कर खाये। अगर कछ आँवला ना खा सके तो आँ
21 फरवरी 2019
17 मार्च 2019
Third party image referenceबढती उम्र में व्यक्ति की काम करने की छमता कम हो जाती है, और व्यक्ति कमजोर भी होने लगता है, उसका डाइजेशन भी कमजोर होने लगता है । जब व्यक्ति की 30 वर्ष की उम्र को पार कर लेता है, तो व्यक्ति के शारीर में कैल्शियम को पूरी तरह से अवशोषण करने की क
17 मार्च 2019
19 फरवरी 2019
भारत में चंदन को बहुत ही स्वच्छ व पवित्र माना जाता है, इसकी लकड़ी पीले रंग की और भारी होती है, जो वर्षों से अपनी खुशबू के लिए पहचानी जाती है । चन्दन के पेड़ बहत ही कीमती होते हैं और संसार में कीमत के मामले में यह दूसरे नंबर की महंगी लकड
19 फरवरी 2019
19 फरवरी 2019
सामान्यता गिलोय का क्वाथ बुखार एवं अनेक रोगों मे किया जाता है। गिलोय को अमृता, अर्थात कभी ना सूखने वाली बेल कहते है । अंग्रेजी मे इसे tinospora कहते है। गिलोय को अलग अलग भाषा मे गडूची, अमृवल्ली, गूलवेल, मधुपर्णी, कुन्डलिनी आदि नमो से जाना जाता है। गिलोय की बेल जिस पेड़ पर चढ़ती है उस पेड़ के गुण अपन
19 फरवरी 2019
25 फरवरी 2019
हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों के प्रभाव को हटाने के लिए हमारे शरीर में एक जन्म जात अंग है लीवर । हमारे शरीर की सफाई व स्वतस्थ बनाए रखने के लिए किसी भी बाहरी चीज की आवश्यकता नहीं होती है । लीवर चाहे शरीर के अंदर ही होता है, पर उसके खराब होने का असर शरीर के सभी हिस्सों पर पड़ता है इस लिए लीवर का ख़ास
25 फरवरी 2019
04 मार्च 2019
Third party image referenceसर्दियों के दिनों में ठंड से बचने के लिए हर कोई प्रयास करता है । ठंड से बचाव के लिए लोग गर्म कपड़े और गर्म खाने का अधिक उपयोग करते है, लेकिन ठंड नही मिटती । लेकिन क्या आपने कभी ऐसी बूटी देखी है, जो आपको सर्दी में भी गर्मी का अहसास कराती हो । और साथ ही कई प्रकार के रोगों को
04 मार्च 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x