महिला दिवस क्यों मनाते है ? || Why Celebrate Women's Day

07 मार्च 2019   |  दीपक पांडेय   (166 बार पढ़ा जा चुका है)

महिला दिवस क्यों मनाते है ? || Why Celebrate Women's Day

महिला दिवस क्यों मनाते है?

प्रत्येक वर्ष के 8 मार्च को विश्व महिला दिवस में मनाया जाता है। यह दिन महिलाओं को सम्मान देने के उद्देश्य से उत्साहपूर्वक मनाया जाता है, और इससे महिला सशक्तिकरण का संदेश भी पूरी दुनिया तक पहुंचाया जाता है। इसके अलावा इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य लैंगिक असमानता की दूरी खाई को भी भरना है। विश्वभर के लोग विश्व महिला दिवस को लोग अलग-अलग अंदाज में मनाते हैं।


महिला दिवस की शुरुआत

आपको बता दे कि सर्वप्रथम महिला दिवस संयुक्त राज्य अमेरिका में मनाया गया था। इस दिन को मनाने के पीछे महिलाओं से वोट मांगने का अधिकार को हासिल करना था। क्योंकि उस समय अन्य देशों की महिलाओं को भी वोट देने का अधिकार नहीं था।


महिला दिवस 2019 की थीम


विश्व महिला दिवस को मनाने के लिए प्रत्येक वर्ष एक थीम निर्धारित की जाती है। इस बार की थीम है- बैलेंस फॉर बेटर (Balance for better)। जिसकी घोषणा को सुनकर सोशल मीडिया पर लोगों के अंदर उत्साह और जोश भरपूर दिखाई दे रहा है। 2019 के महिला दिवस की थीम महिलाओं को अपने अधिकार की लड़ाई लड़ने के लिए प्रोत्साहित करती है। इस थीम जानकारी को सुनकर महिलाओं के चेहरे पर खुशी झलक उठी है।


इसी कड़ी में आज हम आपके लिए महिलाओं से जुड़े कुछ खास शायरी लाए है, जिसे पढ़कर आप भी महिला सशक्तिकरण के बारें में जान सकेगें-


#1

औरत का इस दुनिया और उस दुनिया में मान है।

औरत एक बहन है, एक बेटी है एक पत्नी है।

औरत के बिना ये जहां कुछ भी नहीं है।।

#2

जिसने बस त्याग ही त्याग किए,

जो बस दूसरों के लिए जिए,

फिर क्यों उसको धिक्कार दो,

उसे जीने का अधिकार दो,

महिला दिवस की शुभकामनाएं ||

#3

क्यों त्याग करे नारी केवल

क्यों नर दिखलाए झूठा बल

नारी जो जिद्द पर आ जाए

अबला से चण्डी बन जाए

उस पर न करो कोई अत्याचार

तो सुखी रहेगा घर-परिवार

महिला दिवस की हार्दिक बधाई ||

#4


“मुस्कुराकर दर्द भूलकर

रिश्तों में बंद थी दुनिया सारी

हर पग को रोशन करने वाली

वो शक्ति है एक नारी

महिला दिवस की शुभकामनाएं” ||

#5

नारी सीता नारी काली

नारी ही प्रेम करने वाली

नारी कोमल नारी कठोर

नारी बिन नर का कहां छोर ||

Happy Womens Day

#6

बेटी-बहु कभी माँ बनकर

सबके ही सुख-दुख को सहकर

अपने सब फर्ज़ निभाती है

तभी तो नारी कहलाती है

Happy Womens Day

#7


पोछकर आंसू अपने, सहा हर अपमान,

हर घर में बनी वो प्यार की मूरत,

लक्ष्मी, दुर्गा, सरस्वती के रुप में,

जन्मी इस संसार में, बनकर एक औरत ||

Ponch kar aansu apne, saha har apmaan,.

Har ghar me bani wo pyaar ki murat..

Laxmi, durga, saraswati ke rup me,.

Janmi is sansaar me, ban kar ek aurat..

#8

नारी दिवस बस एक दिवस

क्यों नारी के नाम मनाना है

हर दिन हर पल नारी उत्तम

मानो यह नया जमाना है

महिला दिवस की बधाई||

#9

आंचल में ममता लिए हुए

नैनों से आंसु पिए हुए

सौंप दे जो पूरा जीवन

फिर क्यों आहत हो उसका मन

महिला दिवस की हार्दिक बधाई||

#10

समझ नहीं आता है मुझको

अक्सर क्यों देते ताना मुझको

जब से आई हूं इस दुनिया में

लड़की हुई है दुनिया बोली ||

Samajh Nahi Hai Aata Mujhko

Aksar Kyon Dete Tana Mujhko

Jab Se Aayi Hoon Is Duniya Mein

Ladki Hui Hai Duniya Boli

#11

अर्ध सत्य तुम, अर्ध स्वप्न तुम, अर्ध निराशा आशा,

अर्ध अजित जित, अर्ध तृप्ति तुम, अर्ध अतृप्ति पिपासा,

आधी काया आग तुम्हारी, आधी काया पानी,

अर्धांगिनी नारी ! तुम जीवन की आधी परिभाषा !

आज अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं।


अगला लेख: क्या आप जानते है उपभोक्ता के अधिकार?बहुत महत्वपू्र्ण हैं पांचो अधिकार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x