मेरे देश का किसान

12 मार्च 2019   |  सौरभ शर्मा   (126 बार पढ़ा जा चुका है)

किसी ने उसे हिंदु बताया,

किसी ने कहा वो मुसलमान था,

खुद को मौत की सजा सुनाई जिसने,

वो मेरे देश का किसान था।


जिसकी उम्मीदाें से कहीं नीचा आसमान था,

मुरझाकर भी उसका हौंसला बलवान था,

जब वक्त ने भी हिम्मत और आस छोड़ दी,

उस वक्त भी वो अपने हालातों का सुल्तान था।


किस्मत उसकी हारी हुई बाजी का फरमान था,

बिना मांस की देह वाला वो जवान था,

खुशी उसकी समा गई थी धरती की दरारों में,

घर उसका बस भूख का रेगिस्तान था।


दुनिया के मेले में वो बस दुःखों का धनवान था,

दाना चुगने वाले पंछियों से उसका खेत विरान था,

नजरों से पानी को टटोलता वो बादल में,

जाने किस धुन में मस्त वो भगवान था।


खुशहाल भविष्य की आस लगाकर,

उसके आंगन में खेलता हर बच्चा नादान था,

वो बचपन नहीं समझता था बाप की मजबूरी,

परतों तलें दबी आग से वो मासूम अंजान था।


अगला लेख: जिंदगी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 मार्च 2019
दोस्तों हम आपके लिए बेस्ट लाइन फॉर लाइफ इन हिंदी (best line for life in hindi) में लाए है और ये उम्मीद करते है कि ये कोट्स आपके जीवन में किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए प्रेरक के तौर पर काम करेगा। अक्सर कई
06 मार्च 2019
01 मार्च 2019
वीर अभिनन्दन ! हार्दिक अभिनन्दन ! तुम्हारे शौर्य को कोटि वन्दन ! पुलकित , गर्वित माँ भारती - तुम्हारे निर्भीक पराक्रम से , मृत्यु - भय से हुए ना विचलित - ना चूके संयम से ;सिंह पुत्र तुम जननी के सहमा शत्रु नराधम !! श
01 मार्च 2019
10 मार्च 2019
या
शाम को ऑफिस से घर जा रहा था कि तभी चिलचिलाती गर्मी के दरवाजे पर मानसून ने दस्तक दी। बारिश होने लगी और सड़क पर चलते लोग बचने के लिए आड़ ढूंढने लगे। मगर मुझे कुछ अलग महसूस हुआ ऐसा लगा कि जैसे इस पल को मैं पहले जी चुका हूं। फिर कुछ पल याद आए जो आज फिर से जीवंत होते लगने लगे। दोस्तों के साथ बिताए पल
10 मार्च 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x