एक्ने से छुटकारा दिलाते हैं यह होममेड पैक्स

14 मार्च 2019   |  मिताली जैन   (24 बार पढ़ा जा चुका है)

एक्ने से छुटकारा दिलाते हैं यह होममेड पैक्स - शब्द (shabd.in)

जिन महिलाओं की स्किन एक्ने प्रोन होती है, वह मुंहासों को छिपाने के लिए तरह-तरह के उपाय अपनाती हैं। यह उपाय भले ही कुछ देर के लिए इन मुंहासों को छिपा दें लेकिन इस तरह इनसे निजात नहीं मिलती। अगर आपकी स्किन भी ऐसी ही है तो अब आपको इन्हें छिपाने की जरूरत नहीं है। बल्कि जरूरत है कि आप इन्हें जड़ से ही मिटा दें। इसके लिए आप कुछ होममेड पैक्स की मदद ले सकती हैं। तो चलिए जानते हैं इन होममेड पैक्स के बारे में-


शहद व नींबू


इस फेसमास्क को बनाने के लिए एक बाउल में एक टेबलस्पून शहद में आधा नींबू मिक्स करें। अब इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाकर करीबन 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। अब पानी की मदद से स्किन को साफ करें और टाॅवल की मदद से हल्के हाथों से पोंछें। आप इस फेस मास्क को प्रतिदिन अप्लाई कर सकती हैं। शहद एक एंटी-बैक्टीरियल और प्राकृतिक एंटी-आॅक्सीडेंट है। यह बैक्टीरिया को खत्म करने के साथ-साथ त्वचा को माॅइश्चराइज और पोषित करता है। वहीं नींबू त्वचा को एक्सफोलिएट करता है और ब्लैकहेड्स को भी साफ करता है।


एलोवेरा व हल्दी


एक बाउल में एक टेबलस्पून एलोवेरा जेल लेकर उसमें थोड़ी सी हल्दी मिलाएं। अब इस पैक को चेहरे पर लगाकर 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें। अंत में साफ पानी से स्किन को क्लीन करंे। आप सप्ताह में दो से तीन बार इस पैक को अप्लाई कर सकते हैं। जहां एलोवेरा त्वचा को पोषित करने के साथ-साथ उसे विषाक्त पदार्थों से बचाता है, वहीं हल्दी में भी एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफलेमेटरी प्राॅपर्टीज पाई जाती हैं। जो स्किन को भीतर से साफ करने में मदद करती हैं।


नीम व गुलाब जल


एक बाउल में एक टेबलस्पून नीम पाउडर लेकर उसमें दो टेबलस्पून गुलाब जल मिक्स करें। अब इस पैक को अपने चेहरे व गर्दन पर लगाएं। करीबन बीस मिनट बाद साफ पानी से स्किन की सफाई करें। आप एक दिन छोड़कर इस पैक का इस्तेमाल कर सकती हैं। यह पैक कील-मुंहासों से छुटकारा दिलाने में बेहद प्रभावी है। दरअसल, नीम मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करता है, जिससे स्किन एक्ने फ्री हो जाती है।


मुल्तानी मिट्टी व नींबू


इस पैक को बनाने के लिए सबसे पहले एक बाउल में एक टेबलस्पून मुल्तानी मिट्टी में आधा नींबू मिक्स करें। अब इस मिश्रण को चेहरे पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें। अंत में पानी से साफ करें। आप सप्ताह में एक बार इस पैक का इस्तेमाल कर सकती हैं। मुल्तानी मिट्टी त्वचा के अतिरिक्त तेल को सोख लेता है। स्किन का अतिरिक्त आॅयल भी मुंहासों का एक कारण होता है। इसके अतिरिक्त मुल्तानी मिट्टी मैग्नीशियम क्लोराइड का भी एक बेहतरीन स्त्रोत है, जिसके कारण यह मुंहासों को रोकने में मददगार है।


खीरा व टमाटर


खीरा व टमाटर को तो आप अक्सर सलाद के रूप में खाते होंगे लेकिन अब इसकी मदद से मुंहासों को दूर करें। इसके लिए एक बाउल में दो टेबलस्पून टमाटर का पल्प लेकर उसमें एक टेबलस्पून खीरे का पल्प मिक्स करें। अब इस मिश्रण को चेहरे पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें। करीबन आधे घंटे बाद चेहरे को साफ करें। आप एक दिन छोड़कर इस पैक का इस्तेमाल कर सकते हैं। खीरा मंुहासे के निशानों को हल्का करता है। साथ ही यह स्किन के डेड सेल्स और अशुद्धियों को दूर करता है। वहीं टमाटर में विटामिन ए पाया जाता है, जो स्किन को नरिश और रिजुविनेट करता है।


तुलसी व पुदीना


एक मिक्सी के जार में दस तुलसी की पत्तियां और दस पुदीने की पत्तियां डालकर उसमंे थोड़ा सा पानी मिक्स करके एक पेस्ट बनाएं। अब इस पेस्ट को चेहरे व गर्दन पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें। इसके बाद पानी की मदद से स्किन साफ करें। आप सप्ताह में दो से तीन बार इसका प्रयोग करें। तुलसी एक एंटी-बैक्टीरियल है जो पिंपल्स पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करती है। वहीं पुदीने में सैलिसिलिक एसिड होता है, जो मुंहासों को ठीक करता है।


दालचीनी व नींबू


इस फेस पैक को बनाने के लिए एक टेबलस्पून दालचीनी पाउडर में दो टेबलस्पून नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बनाएं। अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाकर बीस मिनट के लिए छोड़ दें। उसके बाद पानी की मदद से स्किन को साफ करें। आप इस पैक का इस्तेमाल सप्ताह में दो बार कर सकती हैं। दालचीनी में एंटी-माइक्रोबियल प्रापर्टीज पाई जाती हैं, जो एक्ने को कम करने में मददगार है।


अगला लेख: खाना खाने के बाद यह गलतियां पड़ जाती हैं सेहत पर भारी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 मार्च 2019
विटामिन सी युक्त नींबू देखने में भले ही छोटा सा हो लेकिन यह बड़े-बड़े काम करने का माद्दा रखता है। जहां एक ओर यह कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करता है तो वहीं दूसरी ओर इसकी मदद से घर की कई छोटी-बड़ी परेशानियों को दूर किया जा सकता है। इतना ही नहीं, यह आपके सौंदर्य का भी उतनी ही बेहतरीन तरीके से ख्य
05 मार्च 2019
28 फरवरी 2019
इस बात में कोई दोराय नहीं है कि विवाह एक प्रेमभरे रिश्ते को मजबूती देता है, लेकिन इसका तात्पर्य यह नहीं है कि महज विवाह कर लेना ही रिश्ते को सुरक्षित रखने का तरीका है। वर्तमान समय में, भारत में तलाक के बढ़ते मामले यह साफतौर पर जाहिर करते हैं कि वैवाहिक रिश्तों को सहेजने के लिए अतिरिक्त प्रयासों की आव
28 फरवरी 2019
01 मार्च 2019
दिन की शुरूआत हो और गरमागरम चाय की चुस्कियां मिल जाए तो कहना ही क्या। आज के समय में देखने में आता है कि लोग चाय बनाने के लिए टी-बैग्स को प्राथमिकता देते हैं क्योंकि इससे चाय बनाना भी आसान होता है और लोग इसे कहीं पर भी आसानी से कैरी करते हैं। लेकिन अमूमन एक बार प्रयोग के बाद इन्हें फेंक दिया जाता है,
01 मार्च 2019
15 मार्च 2019
यह तो हम सभी जानते हैं कि स्वस्थ रहने के लिए हेल्दी फूड का सेवन करना बेहद जरूरी है। कई बार आपने फूड काॅम्बिनेशन के बारे में भी सुना होगा। अमूमन देखने में आता है कि लोग खाने में तो हेल्दी चीजों का तो सेवन करते हैं, लेकिन फिर भी उन्हें कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं। इसके पीछे मुख्य कारण होता ह
15 मार्च 2019
08 मार्च 2019
स्त्री, कहने को भले ही एक छोटा सा नाम लेकिन मानो उसमें पूरा संसार समाया है। वह एक बेटी है, एक पत्नी, एक बहू और एक मां और न जाने कितने ही रूपों में वह अपने कत्र्तव्यों का निर्वहन चुपचाप करती है। फिर चाहे स्त्री गृहिणी हो या कामकाजी, वह दुनिया की एक ऐसी इंसान है, जिसके नसीब में कभी छुट्टी नहीं लिखी हो
08 मार्च 2019
25 मार्च 2019
सुंदर दिखने के लिए स्किन का अतिरिक्त ख्याल रखना बेहद आवश्यक है। लेकिन किसी भी उपाय का वास्तविक लाभ तभी होता है, जब व्यक्ति अपनी स्किन को ध्यान में रखकर ऐसा करें। अब जैसे मौसम में गर्मी बढ़ रही है, आॅयली स्किन के लोगों की परेशानी बढ़ने लगी है। दरअसल, मौसम गर्म होने के कारण उनकी स्किन पर तेल का स्त्राव
25 मार्च 2019
06 मार्च 2019
मेंहदी और महिला का एक अजीब सा नाता है। लड़की चाहे विवाहित हो या अविवाहित, बड़े शौक से मेंहदी को अपने हाथों पर लगाती है। इतना ही नहीं, इसे शुभ शगुन के रूप में भी देखा जाता है। यहां तक कि मेंहदी को स्त्री के सोलह श्रृंगार में स्थान दिया गया है। यही कारण है कि चाहे विवाह हो या करवाचैथ या फिर अन्य कोई तीज
06 मार्च 2019
10 मार्च 2019
आज के समय में अधिकतर माता-पिता की यही शिकायत होती है कि बच्चे उनकी बात ही नहीं सुनते। वह हमेशा अपने मन की ही करते हैं या फिर छोटी-छोटी बातों पर जिद करते हैं। जिसके कारण माता-पिता को काफी परेशानी होती है। इस स्थिति से निपटने के लिए या तो
10 मार्च 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x