नियमित रूप से करें कपालभांति, मिलेंगे यह जबरदस्त लाभ

22 अप्रैल 2019   |  मिताली जैन   (13 बार पढ़ा जा चुका है)

नियमित रूप से करें कपालभांति, मिलेंगे यह जबरदस्त लाभ - शब्द (shabd.in)

पिछले कुछ समय से योग के महत्व को पूरी दुनिया ने माना है और यही कारण है कि आज के समय में लोग अपनी स्वास्थ्य समस्याओं के लिए दवाईयों से अधिक योगाभ्यास करना ज्यादा उचित समझते हैं। वैसे तो योग में कई तरह के योगासनों को शामिल किया गया है, लेकिन कपालभांति एक ऐसा प्रणायाम है, जिसे करने में न तो ज्यादा समय लगता है और अगर महज दस मिनट भी प्रतिदिन कपालभांति का अभ्यास किया जाए तो इससे मोटापे से लेकर तनाव आदि सभी तरह की समस्याओं को दूर किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं कपालभांति करने के तरीके और इससे होने वाले लाभों के बारे में-


ऐसे करें कपालभांति


कपालभाति दो शब्दों कपाल और भाति से मिलकर बना हुआ है। जहां कपाल का मतलब माथा या सिर और भाति का मतलब प्रकाश या चमक से है। यह ऐसा प्राणायाम है जिसमें व्यक्ति को सांस खींचने और सांस को छोड़ने की प्रक्रिया के बीच समन्वय बिठाना पड़ता है। कपालभांति का अभ्यास करने के लिए आप सिद्धासन, पद्मासन, वज्रासन या ध्यान मुद्रा मंे बैठें। अब शरीर को ढीला छोडे़ं और सांसों को बाहर की तरफ छोडे़। इस अवस्था में आपका पेट अंदर की तरफ जाएगा। ध्यान रखें कि कपालभांति में सांस को अंदर नहीं खींचा जाता, बस बाहर की ओर धकेला जाता है। आप इस अभ्यास को लगातार 30 से चालीस बार करने की कोशिश करें। इसके बाद धीरे-धीरे इसकी गिनती व समय बढ़ाएं। हालांकि यह आसन सभी उम्र के व्यक्ति कर सकते हैं, लेकिन अगर आपको श्वसन संबंधी कोई समस्या है तो इस आसन को करने से पूर्व एक बार चिकित्सक की सलाह अवश्य लें और किसी योग विशेषज्ञ की देखरेख में ही योगासन व प्रणायाम का अभ्यास करंे।


कम करे वजन


जो लोग अपने बढ़ते वजन के कारण परेशान है और जिम आदि में समय, पैसा व पसीना नहीं बहाना चाहते, उन्हे नियमित रूप से कपालभांति का अभ्यास करना चाहिए। जब आप इस प्रणायाम का नियमित रूप से अभ्यास करते हैं तो इससे न सिर्फ आपका मेटाबाॅलिज्म बेहतर होता है, बल्कि पाचन क्रिया भी अच्छी तरह से काम करने लगती है, जिससे वजन कम करने में किसी तरह की परेशानी नहीं होती। साथ ही इसके अभ्यास से काफी कैलोरी बर्न होती हैं। महज एक माह में ही आपको अंतर नजर आने लगता है। हालांकि यह बेहद जरूरी है कि आप कपालभांति करते हुए अपने खानपान पर भी संयम बरतें।


मजबूत पाचनतंत्र


जैसा कि पहले भी बताया है कि कपालभांति का अभ्यास करने से पाचनतंत्र बेहतर तरीके से काम करने लगता है। अगर किसी व्यक्ति को अपच, कब्ज, गैस या एसिडिटी की शिकायत अक्सर रहती है, उसे इस प्रणायाम का अभ्यास अवश्य ही करना चाहिए। इसके अतिरिक्त मधुमेह पीड़ित रोगियों के लिए भी इसे एक लाभदायी प्रणायाम माना गया है।


श्वास संबंधी समस्याएं


श्वास संबंधी समस्याएं दूर करने में कपालभांति किसी रामबाण से कम नहीं है। अगर चिकित्सक की सलाह के बाद आप कपालभांति का अभ्यास करते हैं तो इससे अस्थमा को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है। इतना ही नहीं, इससे श्वसन मार्ग के सभी अवरोध दूर होते हैं और व्यक्ति को बलगम जमा नहीं होता। यह साइनस की समस्या को दूर करने में भी प्रभावी है।


मानसिक शांति


आज के समय में हर व्यक्ति किसी न किसी तरह की चिंता व तनाव से ग्रस्त है। लेकिन अगर आप तनाव को खुद पर हावी नहीं होने देना चाहते तो कपालभांति का नियमित रूप से अभ्यास करें। यह प्रणायाम व्यक्ति के तन-मन को शंात करता है, जिससे उसे भीतर से काफी अच्छा लगता है। इतना ही नहीं, डिप्रेशन से जूझ रहे लोगों को बाहर आने में भी यह प्रणायाम काफी हद तक मदद करता है। साथ ही अनिद्रा जैसी समस्याओं को भी दूर करता है।


बढ़ाए खूबसूरती


आपको शायद जानकर हैरानी हो लेकिन कपालभांति प्रणायाम आपके स्वास्थ्य के साथ-साथ सौंदर्य का भी ख्याल रखता है। इसके नियमित अभ्यास से चेहरे पर निखार आता है और डार्क सर्कल्स जैसी समस्याएं दूर होती हैं।


हर अंग के लिए लाभदायी


कपालभांति करने का एक सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसके नियमित अभ्यास से शरीर के हर अंग को लाभ मिलता है। दरअसल, जब आप इसका अभ्यास करते हैं तो शरीर में रक्त प्रवाह बेहतर तरीके से होता है। जिससे सभी अंगों में सकारात्मक परिणाम देखने को मिलता है। इसके अतिरिक्त जब आप इसका अभ्यास करते हैं तो इससे शरीर में पहले से ही जमा सभी तरह के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं।


अगला लेख: माइग्रेन पीड़ित लोगों के लिए जहर समान हैं यह चीजें



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 अप्रैल 2019
स्किन की खूबसूरती निखारने के लिए हर महिला कई तरह के उपाय करती हैं। ब्लीच भी इन्हीं में से एक है। इसके प्रयोग से स्किन में तुरंत निखार आता है। लेकिन ब्लीच में कई तरह के केमिकल्स का प्रयोग किया जाता है जो कहीं न कहीं स्किन को नुकसान पहुंचाते हैं। आज के समय में जब पूरा दिन स्किन धूल-मिट्टी, धूप व प्रदू
11 अप्रैल 2019
20 अप्रैल 2019
करेले स्वाद में भले ही कड़वा हो लेकिन इसके लाभ अनगिनत हैं। कुछ लोग महज इसके कड़वे स्वाद के चलते करेले को डाइट में शामिल नहीं करते। लेकिन अगर आप इसकी सब्जी या जूस का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो बहुत सी बीमारियों को अपने पास फटकने से भी रोक सकते हैं। तो चलिए जानते हैं करेले के सेवन से स्वास्थ्य को हो
20 अप्रैल 2019
17 अप्रैल 2019
लौंग का उपयोग भारतीय रसोई मंे मसाले के रूप में वर्षों से होता आ रहा है। कभी भोजन का स्वाद बढ़ाने तो कभी किसी स्वास्थ्य समस्या को दूर करने में इसका उपयोग किया जाता है। लौंग में कई तरह के पोषक तत्व जैसे विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, सोडियम व फॉस्फोरस आदि की प्रचुर मात्रा पाई जाती है।
17 अप्रैल 2019
10 अप्रैल 2019
महिला दंपति अपने लिए संतान की चाह रखते है ऐसे में कई बार महिलाओं को गर्भवती होने में काफी समय बीत जाता है आज हम आपको इस लेख जरिए ओवुलेशन टेस्ट किट (Ovulation Test Kit In Hindi) के बारें में बताएंगे जो महिलाओं को शीघ्र गर्भवती होने में सहायता प्रदान करता है। गर्भवती होने की इच्छुक महिलाएं इस किट के
10 अप्रैल 2019
12 अप्रैल 2019
गर्मी का सीजन ऑयली स्किन के लिए काफी परेशानीभरा होता है। इस मौसम में गर्मी व पसीने के कारण चेहरे से अतिरिक्त तेल का स्त्राव होता है। जिसके कारण स्किन हमेशा चिपचिपी तो रहती है ही, साथ ही संक्रमण के कारण कील-मुंहासे व अन्य कई तरह की समस्याएं पैदा हो जाती हैं। ऐसे में जरूरत होती है स्किन की अतिरिक्त द
12 अप्रैल 2019
26 अप्रैल 2019
आजकल हर व्यक्ति बालों के झड़ने के कारण परेशान है। वर्तमान में, तनावपूर्ण जीवन, गलत खानपान, अत्यधिक केमिकल युक्त हेयर प्राॅडक्ट का इस्तेमाल, हार्मोन में बदलाव, डैंड्रफ, प्रोटीन और अन्य कई कारणों के चलते बालों के झड़ने की समस्या शुरू हो जाती है। यूं तो हेयरफाॅल को रोकने के लिए मार्केट में कई तरह के प्रा
26 अप्रैल 2019
10 अप्रैल 2019
अलिनोल टैबलेट का प्रयोग यूरिक एसिड संबंधी रोग व उसके लक्षण व गठिया रोग के उपचार में उपयोग में लाया जाता है यह कैल्शियम के कारण गुर्दे की पथरी होने पर उसके इलाज में उपयोग में लाया जाता है। यह जेन्थिन ऑक्साइड इंहिबिटर दवाओं के वर्ग के श्रेणी से आता है। यह दवा कैंसर के रोगियों में कीमोथेरेपी करा रहे लो
10 अप्रैल 2019
17 अप्रैल 2019
लौंग का उपयोग भारतीय रसोई मंे मसाले के रूप में वर्षों से होता आ रहा है। कभी भोजन का स्वाद बढ़ाने तो कभी किसी स्वास्थ्य समस्या को दूर करने में इसका उपयोग किया जाता है। लौंग में कई तरह के पोषक तत्व जैसे विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, सोडियम व फॉस्फोरस आदि की प्रचुर मात्रा पाई जाती है।
17 अप्रैल 2019
25 अप्रैल 2019
नारियल का तेल कई तरह के गुणों से युक्त है। देश के विभिन्न हिस्सों में नारियल तेल की मदद से भोजन पकाया जाता है तो कई जगहों पर इसका इस्तेमाल विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं में किया जाता है। लेकिन इससे अलग भी नारियल तेल के अपने फायदे हैं। खासतौर से, सौंदर्य निखारने और सौंदर्य समस्याएं दूर करने में इसका कोई
25 अप्रैल 2019
16 अप्रैल 2019
गर्मी का मौसम अपने साथ कई समस्याएं लेकर आता है, पसीना भी इन्हीं में से एक है। जब धूप की तपिश बढ़ने लगती है तो व्यक्ति को अक्सर पसीना आता है। इस पसीने के कारण अमूमन व्यक्ति असहज महसूस करता है। कई बार तो पसीने के कारण दुर्गंध व खुजली भी होती है। कुछ लोग इस पसीने की दुर्गंध को दूर करने के लिए खुशबूदार प
16 अप्रैल 2019
10 अप्रैल 2019
गर्मी का मौसम आते ही आईसक्रीम खाने का मन कर ही जाता है। यह खाने में काफी अच्छी लगती है, लेकिन अक्सर सुनने में आता है कि आईसक्रीम का सेवन करने से सेहत को नुकसान होते हैं। पर यह पूरी तरह सच नहीं है। आपको शायद पता न हो लेकिन आईसक्रीम का सेवन करने से सेहत को बेहद लाभ भी प्राप्त होते हैं। तो चलिए जानते ह
10 अप्रैल 2019
10 अप्रैल 2019
गर्मी का मौसम आते ही आईसक्रीम खाने का मन कर ही जाता है। यह खाने में काफी अच्छी लगती है, लेकिन अक्सर सुनने में आता है कि आईसक्रीम का सेवन करने से सेहत को नुकसान होते हैं। पर यह पूरी तरह सच नहीं है। आपको शायद पता न हो लेकिन आईसक्रीम का सेवन करने से सेहत को बेहद लाभ भी प्राप्त होते हैं। तो चलिए जानते ह
10 अप्रैल 2019
08 अप्रैल 2019
आज के समय में हर व्यक्ति के जीवन में जिस तरह तनाव और काम का बोझ पसरा हुआ है, उसके कारण कभी न कभी व्यक्ति को सिर में दर्द का अहसास होता है। हालांकि कुछ हद तक सिर में दर्द होना सामान्य है और पर्याप्त मात्रा में नींद लेने या चाय आदि पीने से यह दर्द ठीक भी हो जाता है। लेकिन आधे सिर का दर्द जिसे माइग्रेन
08 अप्रैल 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x