वैक्सिंग के बाद त्वचा पर हो गए हैं दाने, अपनाएं यह घरेलू उपाय

30 अप्रैल 2019   |  मिताली जैन   (34 बार पढ़ा जा चुका है)

वैक्सिंग के बाद त्वचा पर हो गए हैं दाने, अपनाएं यह घरेलू उपाय - शब्द (shabd.in)

अमूमन महिलाएं अपनी स्किन के अनचाहे बालों से छुटकारा पाने के लिए वैक्सिंग का सहारा लेती हैं। इससे बाल जड़ से निकल जाते हैं और स्किन भी एकदम स्मूद दिखती है। लेकिन कुछ महिलाओं को वैक्सिंग करवाने के कुछ समय बाद स्किन पर दाने नजर आते हैं। जिसके कारण वह परेशान हो जाती हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा ही कुछ हो रहा है तो आप इन आसान टिप्स को अपनाकर इन दनों से निजात पा सकती हैं-


जानिए कारण


कुछ महिलाएं सोचती है कि प्राॅडक्ट के खराब होने के कारण त्वचा पर दाने निकले हैं। लेकिन हर बार ऐसा नहीं होता। दरअसल, बाल त्वचा के रोमछिद्रों में होते हैं और जब वैक्सिंग के जरिए उन्हें खींचकर बाहर निकाला जाता है, तो त्वचा पर दबाव पड़ता है। कई बार त्वचा पर सूजन आने लगती है। यह सूजन एक या दो दिन में कम हो जाती है और कई बार स्किन पर दानों की समस्या भी शुरू होती है।


करें एलोवेरा का इस्तेमाल


एलोवेरा की सूदिंग प्राॅपर्टीज से हर कोई वाकिफ है। जब इसका प्रयोग किया जाता है तो स्किन को ठंडक भी मिलती है और स्किन पर दबाव भी कम होता है। एलोवेरा सूजन को कम कर वैक्सिंग के बाद होने वाली खुजली से राहत दिलाता है। यह वैक्सिंग के बाद त्वचा के रूखेपन को दूर कर हाइड्रेट करता है। इसके इस्तेमाल के लिए एलोवेरा का एक पत्ता लेकर उसे बीच में से तोड़ लें और फिर उसका जेल निकाल लें। अब इस जेल को वैक्सिंग कराने के बाद अपनी त्वचा पर लगाएं और रात भर के लिए यूं ही छोड़ दें। अगली सुबह स्किन साफ करें।


टी-ट्री ऑयल का कमाल


अगर आपके पास टी-ट्री ऑयल है तो आप उसकी मदद से भी वैक्सिंग के बाद स्किन पर हुए दानों से छुटकारा पा सकते हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीवायरल गुण होते हैं, जो संक्रमण से बचाते हैं। यह त्वचा को जल्दी ठीक करने में भी मदद करते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए टी-ट्री ऑयल की दो से तीन बूंदें लेकर उसमें एक चम्मच ऑलिव ऑयल डालकर अच्छी तरह मिक्स करें। अब आप इस तेल को प्रभावित स्थान पर लगाएं और हल्के हाथों से स्किन की मसाज करें। ऐसा करने से तेल स्किन के भीतर तक चला जाएगा। बेहतर होगा कि आप रात को सोने से पहले इस आॅयल का प्रयोग करें।


विनेगर भी है काम का


सेब के सिरके का प्रयोग किचन से लेकर कई सौंदर्य समस्याओं के उपचार के लिए किया जाता है। अगर आपको वैक्सिंग के बाद स्किन पर दाने हो गए हैं तो विनेगर का प्रयोग एक अच्छा आप्शन हो सकता है। इसके एस्ट्रिंजेंट और एंटीसेप्टिक गुण वैक्सिंग के बाद दानों से राहत दिलाने में मदद करते हैं। इसके अलावा, यह त्वचा का पीएच स्तर संतुलित करता है और सूजन दूर करता है। इसके इस्तेमाल के लिए सेब के सिरके में बराबर मात्रा में पानी मिलाएं। अब रूई की मदद से इसे त्वचा पर अप्लाई करें। करीबन दस मिनट के लिए इसे लगाकर छोड़ दें और फिर स्किन को पानी की मदद से धो लें।


नारियल का तेल


नारियल के तेल के लाभों के बारे में जितना भी कहा जाए, कम ही है। कभी यह मेकअप रिमूवर के रूप में काम करता है तो कभी स्किन को हाइडेट करता है। इतना ही नहीं, स्किन पर हुए दानों को भी दूर करने में यह कारगर है। यह सूजन को दूर कर लाल हुई त्वचा को राहत पहुंचाता है। यह आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज भी करता है। इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण वैक्सिंग के बाद त्वचा को ठीक करने में मदद करते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए वैक्सिंग के बाद पहले अपनी स्किन को साफ करंे और फिर नारियल तेल लगाएं। आप वैक्सिंग के बाद तो नारियल तेल का प्रयोग करें ही, साथ ही हर बार नहाने से पहले भी अपनी त्वचा पर नारियल तेल लगाएं। इससे आपकी त्वचा की प्राकृतिक नमी बनी रहेगी।


इसका भी रखें ध्यान


इन घरेलू उपायों के अतिरिक्त भी आप कुछ बातों का ख्याल रखकर अपनी स्किन का ध्यान रख सकते हैं। सबसे पहले तो वैक्सिंग से पहले घर पर ही स्किन को एक्सफोलिएट करें। अगर आप स्किन को एक्सफोलिएट नहीं कर सकते तो कम से कम वैक्सिंग से पहले क्लींजर की मदद से अतिरिक्त तेल व धूल आदि साफ कर लें। तेल व धूल आपके रोमछिद्र को बंद कर सकते हैं, जिससे बाद में समस्या होने लगती है। वैसे इसके अतिरिक्त वैक्सिंग से पहले हल्के गुनगुने पानी से नहाना भी अच्दा विचार है।

आजकल मार्केट में कई तरह की वैक्सिंग मौजूद है, इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आप अपनी स्किन के अनुरूप सही वैक्स का चयन करें। इसके लिए किसी ब्यूटी एक्सपर्ट की मदद लें।


महिलाओं को पीरियड्स के दौरान वैक्सिंग करवाने से बचना चाहिए। इस दौरान स्किन काफी सेंसेटिव हो जाती है, जिससे दर्द व दाने होने की संभावना अधिक होती है। वैसे इस दौरान थ्रेडिंग आदि भी नहीं करवाना चाहिए।

अगला लेख: यह संकेत बताते हैं कि आपके शरीर को जरूरत है विटामिन सी की



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
12 मई 2019
गर्मी का मौसम आते ही स्किन भी अतिरिक्त केयर की मांग करने लगता है। अमूमन महिलाएं स्किन केयर के लिए कई तरह के ब्यूटी प्राॅडक्ट्स का सहारा लेती हैं लेकिन इसमें मौजूद केमिकल्स वास्तव में स्किन को नुकसान ही पहुंचाते हैं। इतना ही नहीं, गर्मी के मौसम में अगर ब्यूटी प्राॅडक्ट्स का प्रयोग किया जाए तो चिपचिपे
12 मई 2019
25 अप्रैल 2019
नारियल का तेल कई तरह के गुणों से युक्त है। देश के विभिन्न हिस्सों में नारियल तेल की मदद से भोजन पकाया जाता है तो कई जगहों पर इसका इस्तेमाल विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं में किया जाता है। लेकिन इससे अलग भी नारियल तेल के अपने फायदे हैं। खासतौर से, सौंदर्य निखारने और सौंदर्य समस्याएं दूर करने में इसका कोई
25 अप्रैल 2019
29 अप्रैल 2019
आज के समय में लोग कई तरह की बीमारियों से ग्रस्त हैं। उच्च रक्तचाप की समस्या इन्हीं में से एक है। इसे एक साइलेंट किलर कहा जाता है। ब्लडप्रेशर की समस्या आज के समय में बेहद आम होती जा रही है। धूम्रपान, मोटापा, शारीरिक गतिविधियों में कमी, भोजन में अत्यधिक नमक, बढ़ती उम्र, अनुवांशिकता, शराब, तनाव, नींद सं
29 अप्रैल 2019
23 अप्रैल 2019
गर्मी का मौसम आते ही लोग दही का उपयोग अधिक मात्रा में करने लगते हैं। चूंकि इसकी तासीर ठंडी होती है और यह शरीर के तापमान को बनाए रखती है, इसलिए कभी लोग इसे रायता तो कभी लस्सी तो कभी शेक के रूप में इस्तेमाल करते हैं। वैसे तो आपने भी दही का स्वाद कई रूपों में चखा होगा, लेकिन यह सिर्फ भीतरी तौर पर ही आप
23 अप्रैल 2019
24 अप्रैल 2019
भारत देश में टीबी रोग एक महारोग के रुप में फैल चुका है टीबी के कारण वर्षभर में लाखों लोगों की मौत हो जाती है इसका एक प्रमुख कारण यह भी इस रोग के बारें में लोगों में जानकारी का अभाव है। टीबी मानव शरीर में माइकोइक्टीरियम ट्युबरक्लोसिस बैक
24 अप्रैल 2019
03 मई 2019
अमूमन देखने में आता है कि जो लोग अपना वजन कम करने की फिराक में रहते हैं, वह अधिकतर रात का खाना स्किप कर देते हैं। ऐसे लोगों का मानना होता है कि ऐसा करने से कैलोरी काउंट कंट्रोल में रहता है और जिससे वजन नहीं बढ़ता। वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो देर रात तक काम करते हैं और फिर बिना खाना खाए ही सो जाते
03 मई 2019
23 अप्रैल 2019
गर्मी का मौसम आते ही लोग दही का उपयोग अधिक मात्रा में करने लगते हैं। चूंकि इसकी तासीर ठंडी होती है और यह शरीर के तापमान को बनाए रखती है, इसलिए कभी लोग इसे रायता तो कभी लस्सी तो कभी शेक के रूप में इस्तेमाल करते हैं। वैसे तो आपने भी दही का स्वाद कई रूपों में चखा होगा, लेकिन यह सिर्फ भीतरी तौर पर ही आप
23 अप्रैल 2019
03 मई 2019
मनुष्य के शरीर को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए कई तरह के पोषक तत्वों जैसे प्रोटीन, फाइबर, मिनरल्स और विटामिन की जरूरत होती है। इन सभी के काॅम्बिनेशन से ही व्यक्ति स्वस्थ रह सकता है। लेकिन जब कभी आप अपने आहार पर लंबे समय तक ध्यान नहीं देते तो शरीर में कई तरह के पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। वैसे
03 मई 2019
26 अप्रैल 2019
आजकल हर व्यक्ति बालों के झड़ने के कारण परेशान है। वर्तमान में, तनावपूर्ण जीवन, गलत खानपान, अत्यधिक केमिकल युक्त हेयर प्राॅडक्ट का इस्तेमाल, हार्मोन में बदलाव, डैंड्रफ, प्रोटीन और अन्य कई कारणों के चलते बालों के झड़ने की समस्या शुरू हो जाती है। यूं तो हेयरफाॅल को रोकने के लिए मार्केट में कई तरह के प्रा
26 अप्रैल 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x