कई समस्याओं को जड़ से खत्म करता है धनिया

11 मई 2019   |  मिताली जैन   (22 बार पढ़ा जा चुका है)

कई समस्याओं को जड़ से खत्म करता है धनिया

धनिए का प्रयोग हर भारतीय रसोई में वर्षभर किया जाता है। कभी इसके पत्तों की मदद से भोजन का रंग-रूप निखारा जाता है तो कभी इसकी मदद से चटनी तैयार की जाती है। इस प्रकार कई रूपों में यह किचन में प्रयोग किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह महज स्वाद या भोजन को सुंदर बनाने के लिए ही नहीं है। इसके पौधे में औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो शरीर को कई तरह से लाभ पहुंचाते हैं। साथ ही जब आप इसका सेवन करते हैं तो आप बहुत सी बीमारियों को बेहद आसानी से खत्म कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-


मिलते हैं पोषक तत्व


धनिए की हरी पत्तियों में कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसके सेवन से सिर्फ प्रोटीन, वसा, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, मिनरल ही नहीं मिलते, बल्कि इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, कैरोटीन, थियामीन, पोटोशियम भी पाया जाता हैं।


बेहतर पाचनतंत्र


गर्मी के मौसम में व्यक्ति का पाचनतंत्र काफी कमजोर हो जाता है। तपते भरे इस मौसम में अगर कुछ भी गलत खा लिया जाए तो पेट में दर्द, गैस, अपच जैसी समस्या हो जाती है, लेकिन हरा धनिया आपकी पाचनशक्ति को बेहतर बनाकर इन सभी समस्याओं को दूर करता है। इसके लिए आप अपनी डेली डाइट में हरे धनिए को शामिल करें। साथ ही अपच या पेट दर्द होने पर हरा धनिया, हरी मिर्च, कसा हुआ नारियल और अदरक मिलाकर चटनी बनाएं और उसका सेवन करें। इससे यकीनन आपको आराम मिलेगा।


मधुमेह में लाभकारी


आज भारत की एक बड़ी जनसंख्या मधुमेह ग्रस्त है। ऐसे में अगर वह लोग धनिए का सेवन करें तो अपनी स्थिति पर काफी हद तक नियंत्रण कर सकते हैं। मधुमेह पीड़ितों के लिए यह किसी रामबाण से कम नहीं है। हरा धनिए रक्त में इंसुलिन की मात्रा को नियंत्रित करता है।


मजबूत प्रतिरक्षा तंत्र


कुछ लोग मौसम बदलने के साथ ही बीमार पड़ने लगते हैं क्योंकि उनका इम्युन सिस्टम काफी कमजोर होता है। ऐसे लोगों को भी धनिए का सेवन करने की सलाह दी जाती है। दरअसल, हरे धनिए में विटामिन ए और विटामिन सी पाया जाता है जो इम्युन सिस्टम को मजबूती प्रदान करता है। जो लोग धनिए का सेवन करते हैं, उनके आसपास बीमारियां नहीं फटकतीं।


अगर है किडनी में समस्या


अगर आप अपनी किडनी को लंबे समय तक स्वस्थ रखना चाहते हैं तो भी धनिए को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं। धनिए में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो किडनी की समस्या को दूर करने में कारगर होते हैं।


आयरन से भरपूर


एनीमिक लोगों को भी धनिए का सेवन करना चाहिए। दरअसल, धनिए में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाता है। साथ ही इसमें एंटी-आॅक्सीडेंट व कई तरह के विटामिन और मिनरल्स भी पाए जाते हैं जो गंभीर बीमारियों से शरीर की रक्षा करते हैं।


जोड़ों के दर्द में राहत


बढ़ती उम्र में जोड़ों में दर्द होना बेहद आम बात है लेकिन अगर आप धनिए का प्रयोग करते हैं तो इस समस्या से काफी हद तक छुटकारा पा सकते हैं। धनिए की हरी पत्तियों में एंटी टयुमेटिक और एंटी अर्थराइटिस गुण पाए जाते हैं। जो जोड़ों के दर्द व सूजन से व्यक्ति को आराम दिलाते हैं।


गर्मी में लाभदायक


वैसे तो धनिए का सेवन हर मौसम में किया जाता है, लेकिन गर्मी के मौसम में इसका प्रयोग विशेष रूप से लाभकारी माना गया है। इस मौसम में जब व्यक्ति को भीषण गर्मी का अहसास होता है और लू लगने की संभावना भी रहती है तो आप धनिए और जीरे की मदद से शरबत बनाकर पीएं। इस पेय पदार्थ का सेवन करने से शरीर की गर्मी शांत होती है।


तंदरूस्त आंखें


आज के समय में जब कम उम्र में ही बच्चे अपना अधिकतर समय स्क्रीन के सामने बिताने लगते हैं तो इसका बुरा प्रभाव उनकी आंखों पर पड़ता है। ऐसे बहुत से बच्चे हैं, जिन्हें कम उम्र में ही चश्मा लग जाता है या फिर लोगों की नजर कमजोर होने लगती है। इस स्थिति से बचने का सबसे बेहतर उपाय है हरा धनिया। हरे धनिए में पाया जाने वाला विटामिन ए आंखों को लंबे समय तक स्वस्थ बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।


स्किन का ख्याल


हरा धनिया आपकी सेहत के साथ-साथ सौंदर्य का भी उतना ही अच्छे से ख्याल रखता है। अगर इसका सही तरह से उपयोग किया जाए तो चेहरे पर होने वाले कील-मुंहासे, ब्लैकहेड्स, झुर्रियों, दाग-धब्बों व मस्सों आदि से छुटकारा पाया जा सकता है। मुंहासे दूर करने के लिए आप धनिए को पीसकर उसमें हल्दी मिलाकर चेहरे पर लगाएं। वहीं मस्से हटाने के लिए महज पिसा हुए धनिया ही प्रभावित स्थान पर लगाना सही रहेगा।


अगला लेख: सिरदर्द को दूर करने के लिए दवाई नहीं, करें यह योगासन



basant singh
14 मई 2019

जानकारी अच्छी थी

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
09 मई 2019
पारा इन दिनों पूरे चरम पर है। मौसम में तपिश को आसानी से महसूस किया जा सकता है। ऐसे में जरूरत होती है शरीर को भीतर से ठंडा रखने की। इसमें आपका खानपान एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं, जो गर्मी को मात देने के साथ-साथ आपको ठंडा रखते है
09 मई 2019
26 अप्रैल 2019
गर्मी के मौसम में खानपान को लेकर बेहद सतर्कता बरतनी पड़ती है। अगर इस तपिश भरे मौसम में खानपान में लापरवाही हो तो पेट में गैस की समस्या शुरू हो जाती है। यह गैस की समस्या व्यक्ति को काफी बैचेन कर देती है। इसके कारण गैस के चलते पेट में भारीपन व दर्द, आंखों में जलन, उल्टी आने का अहसास होना और सिर में दर्
26 अप्रैल 2019
03 मई 2019
अमूमन देखने में आता है कि जो लोग अपना वजन कम करने की फिराक में रहते हैं, वह अधिकतर रात का खाना स्किप कर देते हैं। ऐसे लोगों का मानना होता है कि ऐसा करने से कैलोरी काउंट कंट्रोल में रहता है और जिससे वजन नहीं बढ़ता। वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो देर रात तक काम करते हैं और फिर बिना खाना खाए ही सो जाते
03 मई 2019
06 मई 2019
आज के समय में देर तक एक ही पोजिशन में बैठना या गलत तरीके से बैठना-सोना, खानपान पर सही तरह से ध्यान न देने, बढ़ता मोटापा और गलत फुटवियर के चयन के कारण अक्सर लोगों को कमरदर्द की शिकायत शुरू हो जाती है। आलम यह है कि आज सिर्फ वृद्ध व्यक्ति ही नहीं, बल्कि युवा व्यक्ति भी इस परेशानी से जूझते नजर आ रहे हैं।
06 मई 2019
03 मई 2019
मनुष्य के शरीर को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए कई तरह के पोषक तत्वों जैसे प्रोटीन, फाइबर, मिनरल्स और विटामिन की जरूरत होती है। इन सभी के काॅम्बिनेशन से ही व्यक्ति स्वस्थ रह सकता है। लेकिन जब कभी आप अपने आहार पर लंबे समय तक ध्यान नहीं देते तो शरीर में कई तरह के पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। वैसे
03 मई 2019
26 अप्रैल 2019
गर्मी के मौसम में खानपान को लेकर बेहद सतर्कता बरतनी पड़ती है। अगर इस तपिश भरे मौसम में खानपान में लापरवाही हो तो पेट में गैस की समस्या शुरू हो जाती है। यह गैस की समस्या व्यक्ति को काफी बैचेन कर देती है। इसके कारण गैस के चलते पेट में भारीपन व दर्द, आंखों में जलन, उल्टी आने का अहसास होना और सिर में दर्
26 अप्रैल 2019
18 मई 2019
Hara Dhaniya ke waise to achuk fayde hai jise sabjiyon mein upyog kiya jata hai. हरा धनिया लगभग हर घरों में उपयोग में लाया जाता है और यह भोजन में स्वाद बढ़ाने के कारण इसे पूरी दुनिया में जाना जाता है | इसके अलवा धनिया अपने कई गुणों और फायदे के बारे से जाना जाता है |
18 मई 2019
28 अप्रैल 2019
गर्मी के मौसम में सूरज की हानिकारक किरणें कई तरह की समस्या पैदा करती हैं। इन्हीं में से एक है टैनिंग। यूं तो सूरज की किरणों से बचने के लिए लोग सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन कुछ ही देर में इसका असर खत्म हो जाता है और त्वचा के खुले हिस्सों में टैनिंग होती है। अगर आप भी अनइवन स्किन के कार
28 अप्रैल 2019
03 मई 2019
मनुष्य के शरीर को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए कई तरह के पोषक तत्वों जैसे प्रोटीन, फाइबर, मिनरल्स और विटामिन की जरूरत होती है। इन सभी के काॅम्बिनेशन से ही व्यक्ति स्वस्थ रह सकता है। लेकिन जब कभी आप अपने आहार पर लंबे समय तक ध्यान नहीं देते तो शरीर में कई तरह के पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। वैसे
03 मई 2019
07 मई 2019
मासिक धर्म में हर स्त्री के शरीर में हार्मोनल बदलाव होते हैं, जिसके कारण उसे कई तरह के कष्ट सहने पड़ते हैं। कुछ महिलाओं को तो अनियमित माहवारी की ही समस्या रहती है। कुछ महिलाओं को अत्यधिक दर्द तो कुछ को हैवी ब्लीडिंग, वहीं कुछ महिलाएं बेहद कमजोरी महसूस करती हैं। वैसे तो यह समस्या तीन-चार दिन में स्वतः
07 मई 2019
04 मई 2019
हर माता-पिता की यह इच्छा होती है कि उनका बच्चा स्वस्थ हो और उसका समग्र विकास हो। लेकिन जंक फूड के इस दौर में अधिकतर बच्चे मोटापे या फिर अन्य कई समस्याओं से ग्रस्त होते हैं और इसके पीछे की वजह होती है उनका आहार। आज के समय में बच्चे संतुलित आहार को छोड़कर बाहर के खाने व जंक फूड की तरफ अधिकतर आकर्षित हो
04 मई 2019
22 मई 2019
यह तो हम सभी जानते हैं कि स्वस्थ रहने के लिए मौसमी फल व सब्जियों का सेवन करना चाहिए। लेकिन ऐसे भी कुछ फल होते हैं जो बारह महीने आसानी से मिलते हैं और इसलिए लोग उन पर अधिक ध्यान नहीं देते। इन्हीं में से एक है चीकू। स्वाद में बेहतरीन चीकू सेहत के लिए भी बेहद लाभकारी माना गया है। तो चलिए जानते हैं चीकू
22 मई 2019
26 अप्रैल 2019
क्या आपको पता है कि गेहूं की रोटी जहर के समान है? शायद नहीं तो चलिए आज हम इस लेख के माध्यम से आपको गेहूं में मौजूद ग्लूटेन प्रोटीन के बारें में बताएंगे जो शरीर में किसी जहर के समान ही कार्य करता है। अब आपको लग रहा होगा कि हमारे पूर्वजों से ही हम गेहूं की रोटी का सेवन
26 अप्रैल 2019
29 अप्रैल 2019
आज के समय में लोग कई तरह की बीमारियों से ग्रस्त हैं। उच्च रक्तचाप की समस्या इन्हीं में से एक है। इसे एक साइलेंट किलर कहा जाता है। ब्लडप्रेशर की समस्या आज के समय में बेहद आम होती जा रही है। धूम्रपान, मोटापा, शारीरिक गतिविधियों में कमी, भोजन में अत्यधिक नमक, बढ़ती उम्र, अनुवांशिकता, शराब, तनाव, नींद सं
29 अप्रैल 2019
26 अप्रैल 2019
आजकल के भागदौड़ भरी जिदंगी में मनुष्य अपने काम में इतना व्यस्त हो गया है कि उसे अपने स्वास्थ्य का परवाह ही नहीं रहा है। शरीर के अंगों में सबसे महत्वपूर्ण भाग आंख है जिसके द्वारा हम पूरी दुनिया को देख सकते
26 अप्रैल 2019
06 मई 2019
शहद एक ऐसी चीज है, जिसका प्रयोग किचन से लेकर काॅस्मेटिक्स तक किया जाता है। कुछ लोग तो सुबह की शुरूआत ही नींबू व शहद के पानी से करते हैं। वहीं स्किन को बेहतर बनाने के लिए भी शहद का प्रयोग किया जाता है। शहद के गुणों के बारे में जितना भी कहा जाए, कम ही है। यह एक प्राकृतिक और सेहत के लिए लाभकारी स्वीटनर
06 मई 2019
10 मई 2019
गर्मी के मौसम में जब तापमान बढ़ने लगता है तो उसका असर स्वास्थ्य पर भी पड़ता है। इस मौसम में सिरदर्द की समस्या होना एक आम बात है। वहीं माइग्रेन पीड़ित व्यक्ति को तो इस मौसम में काफी कष्ट झेलना पड़ता है। अक्सर देखने में आता है कि सिरदर्द की समस्या होने पर व्यक्ति दवाई का सेवन करता है। लेकिन अगर आप चाहें त
10 मई 2019
01 मई 2019
गर्भावस्था के नाजुक दौर में हर स्त्री को अपना अतिरिक्त ध्यान रखना पड़ता है। खासतौर से, उसके द्वारा खाई गई हर चीज का असर उसके गर्भस्थ शिशु पर पड़ता है। ऐसे में यह जरूरी है कि एक गर्भवती स्त्री डाॅक्टर के परामर्श के अनुसार ही खाद्य पदार्थों का चयन करे। यूं तो इस अवस्था में बहुत सी चीजों को खाने की मनाही
01 मई 2019
19 मई 2019
आलू एक ऐसी सब्जी है, जो हर घर की किचन में आसानी से मिल जाती है। कभी परांठे बनाने से लेकर चिप्स, फ्रेंच फ्राइस, सब्जी व अन्य कई तरह के पकवान इसकी मदद से बनाए जाते हैं। आलू का सेवन तो आप कई रूपों में करते होंगे, लेकिन इसके छिलकों का आप क्या करते हैं? शायद कुछ भी नहीं, अमूमन घरों में इन छिलकों को बेकार
19 मई 2019
01 मई 2019
गर्भावस्था के नाजुक दौर में हर स्त्री को अपना अतिरिक्त ध्यान रखना पड़ता है। खासतौर से, उसके द्वारा खाई गई हर चीज का असर उसके गर्भस्थ शिशु पर पड़ता है। ऐसे में यह जरूरी है कि एक गर्भवती स्त्री डाॅक्टर के परामर्श के अनुसार ही खाद्य पदार्थों का चयन करे। यूं तो इस अवस्था में बहुत सी चीजों को खाने की मनाही
01 मई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x