मदर्स डे

12 मई 2019   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (28 बार पढ़ा जा चुका है)

मदर्स डे - शब्द (shabd.in)

आज “मात्तृ दिवस” है… सभी माताओं और उनकी सन्तानों को हार्दिक शुभकामनाएँ… मेरी अपनी माँ के साथ साथ संसार की हर माँ को कोटि कोटि नमन के साथ समर्पित कुछ पंक्तियाँ... केवल “मदर्स डे” के औपचारिक अवसर पर ही नहीं, हर दिन… हर पल…

सताती है तुम्हारी याद हर पल – प्रतिपल

काश एक बार फिर तुम्हारी गोदी में सर रखकर सो पाती

बालों में फिराती तुम अपनी खुरदुरी अँगुलियों में प्यार की स्निग्धता भर…

न जाने कितने आँसू छिपाए अपने दामन में

पर बना लेती उन्हीं आँसू की बूँदों को अमृत रस धारा…

मेरी हर आवश्यकता पूर्ण होती थी तुम्हीं से

क्योंकि तुम ही थीं मेरे जीवन का सत्य,

मैं तो मात्र तुम्हारी छाया हूँ

बिना तुम्हारे होता क्या अस्तित्व मेरा...

घोर निराशा जो मन को उद्विग्न बनाती

तुम आशा दीप जलाए सदा सम्मुख होतीं...

मेरी हर धड़कन की लय में तुम गीत बनीं घुल मिल जातीं...

मेरे दुःख में, मेरे सुख में, तुम सदा साथ मेरे रहतीं…

स्नेह त्याग और एकनिष्ठता की साक्षात प्रतिमूर्ति तुम

राह भटक जाने पर स्नेहिल बाँहों में थाम

प्रयासरत रहतीं मुझे सही मार्ग दिखाने को

बन जातीं खुद दीपक / करने को प्रकाशित करतीं मेरी राहें…

मैं कभी अगर बैठ जाती थक कर

तब साथ चलतीं तुम साहस बनी

भर लेतीं मेरे मग के हर कंटक को आँचल में अपने…

तुमने ही तो सौन्दर्य दिया मिट्टी की इस काया को

सींच कर अपनी ममता से…

नहीं चुका सकती क़र्ज़ तुम्हारा / क्योंकि जानती हूँ

अभी भी नहलाती हो तुम अपने आशीषों से

दूर गगन में बैठी / झाँकती हुई तारों के मध्य से…

साथ न होते हुए भी कराती हो अहसास

स्नेहमयी उपस्थिति का अपनी

क्योंकि समाई हुई हो तुम मुझमें ही…

जीवन के मधुर पलों की पुनरावृत्ति तुम

अपरिमित नेह सुगन्ध लिए निज आँचल में

प्रवाहित करती रहती हर पल अपनी ममता की अमृत धरा

लुटाती रहती हो शक्ति और करुणा हर पल

बिना किसी प्रतिदान की अपेक्षा के / बिना माप तौल किये

बस बरसाती जाती हो स्नेह जल

कोटि कोटि नमन है माँ तुम्हें… सदा सर्वदा नमन तुम्हें है…

अगला लेख: २० से २६ मई का साप्ताहिक राशिफल



basant singh
14 मई 2019

सभी माँ के लिए बहुत सूंदर रचना है

सुन्दर तसवीरें , और इस कविता के माध्यम से आपने अपनी भावनाओं को बहुत सुन्दर व्यक्त किया है .

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 मई 2019
सूर्यका वृषभ में गोचर 2019कल, यानी बुधवार 15 मई 2019 को प्रातःग्यारह बजकर एक मिनट के लगभग आत्मा के कारक भगवान भास्कर ने अपने मित्र मंगल कीराशि मेष से निकल कर अपने शत्रु ग्रह शुक्र की राशि वृषभ में प्रस्थान करेंगे | यद्यपि कल सूर्योदय के समय वैशाख शुक्ल एकादशी है,किन्तु सूर्य के वृषभ राशि में प्रस्था
14 मई 2019
15 मई 2019
नक्षत्रोंकी संज्ञा के अनुसार कर्तव्य कर्म पिछले लेखों में बात कर रहे थे कि 27 नक्षत्रों में प्रत्येकनक्षत्र में कितने तारे (Stars) होते हैं, प्रत्येक नक्षत्र के देवता (Deity) तथा स्वामी अथवा अधिपति ग्रह (Lordship)कौन हैं, प्रत्येक नक्षत्र को क्या संज्ञा दी गई है| नक्षत्रों की संज्ञा से उनकी प्रकृति
15 मई 2019
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x