UGC NET क्या है सॉलिड जानकारी

15 मई 2019   |  Yogendra Singh   (32 बार पढ़ा जा चुका है)

UGC NET क्या है सॉलिड जानकारी

यहां यूजीसी नेट के बारे में स्टेप बाई स्टेप बताया गया है। ये जानकारी सभी को होनी चाहिए।

Ugc net क्या है ? इसके बारे में बहुत ही कम लोगो को जानकारी होगी। जानकारी के लिए जान लीजिए कि ugc net exam पोस्ट ग्रेजुएशन किये हुए स्टूडेंट के लिए राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा है। इसका निर्माण विश्वविद्यालयों में शिक्षा की देखरेख और शिक्षा को सुचारू रूप से रखने के लिए किया गया है। विश्वविद्यालयों को मान्यता भी यूजीसी के द्वारा ही मिलती है।

इसको इस तरह से भी कह सकते है कि 12वीं करने के बाद आगे की पढ़ाई की जिम्मेदारी यूनिवर्सिटी की होती है और इसके ऊपर यूजीसी होती है। ये एक सरकारी विभाग है। इस पर शिक्षा संबंधी सारी जिम्मेदारी होती हैं।

Ugc net क्या है ? सॉलिड जानकारी


Ugc का निर्माण

देश आजाद होने के बाद 1948 में डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने इसकी नींव रखी थी। इसके बाद शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद ने 28 दिसंबर 1953 में इसका सम्पूर्ण तरीके से निर्माण किया। इसी के साथ धीरे - धीरे 1956 में ugc का गठन हुआ। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है तथा क्षेत्रीय कार्यालय कलकत्ता, हैदराबाद, पुणे, बंगलुरू, भोपाल और गुवाहाटी में स्थित हैं। इसके अध्यक्ष की नियुक्ति केंद्र सरकार के द्वारा की जाती है। वर्तमान समय में प्रो. धीरेंद्र पाल सिंह इसके अध्यक्ष हैं।

Ugc net की फुल फॉर्म

सबसे पहले UGC का पूरा नाम जान लेते हैं। इसका पूरा नाम University Grants Commission है। इसे हिंदी में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग कहते हैं। NET का मतलब National Eligibility Test होता है। जिसे राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा कहा जाता है।

Ugc net exam

यूजीसी नेट एग्जाम हर साल आयोजित किया जाता है। यह टेस्ट साल में दो बार आयोजित होता है। सबसे पहले यह गर्मी के दिनों में जून में तथा फिर सर्दी के मौसम में दिसंबर में करवाया जाता है। इसकी एप्लीकेशन व परीक्षा की डेट सब पहले ही नोटिफिकेशन के द्वारा जारी कर दी जाती है।

Read Also :

Railway Engineering में करियर कैसे बनायें

SSC MTS में नौकरी पाने का सुनहरा अवसर जल्दी apply करे

Ugc net qualification

इसमें वही स्टूडेंट apply कर सकता है जिसने पोस्ट ग्रेजुएशन 55 प्रतिशत अंको के साथ पास की हो।
यदि कोई स्टूडेंट पोस्ट ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में पढ़ रहा हो तो वह भी इस एग्जाम के लिए आवेदन कर सकता है।

करियर

इसे क्वालीफाई करने के बाद करियर के कई विकल्प खुल जाते है। जहां आप नौकरी के लिए आसानी से आवेदन कर सकते हैं।

जूनियर रिसर्च फेलोशिप (JRF)

इस परीक्षा को पास करने के बाद जूनियर रिसर्च फेलोशिप में नौकरी का मौका मिलना शुरू हो जाता है। ये एक बहुत ही अच्छा करियर फील्ड है। इसे पास करने से करियर के कई विकल्प बन जाते हैं।

प्रोफेसर

यूनिवर्सिटी या किसी डिग्री कॉलेज में प्रोफेसर बनने के लिए यूजीसी नेट का एग्जाम पास होना आवश्यक है। इसे करके इस पद पर एक अच्छी सरकारी नौकरी पायी जा सकती है। जिससे भविष्य में बुलंदियों को छुआ जा सकता है।

सहायक प्रोफेसर

इसे क्वालीफाई करने से सहायक प्रोफेसर के पद पर अप्लाई किया जा सकता है। ये भी professor के बराबर का अधिकार रखते हैं। इनकी भी डिग्री कॉलेज व यूनिवर्सिटी में आवश्यकता पड़ती रहती है। इसलिए इनकी वेकैंसी समय - समय पर निकलती रहती हैं।

Ugc net exam pattern

इसमें पहले तीन पेपर होते थे, लेकिन अब बदले हुए नियम के अनुसार दो paper की व्यवस्था की गई है। दोनों पेपर में पास होना आवश्यक है।

Paper - 1

पहले एग्जाम में उम्मीदवार से 50 प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक question दो अंक का होगा। गलत उत्तर देने पर नेगेटिव मार्किंग की व्यवस्था की गई है। पूरा पेपर हल करने के लिए एक घंटे का समय दिया जाता है।

इसमे सामान्य ज्ञान, रिजनिंग, पर्यावरण अध्ययन, बौध्दिक क्षमता, मूल्यांकन, विश्लेषण, तर्क क्षमता का मूल्यांकन तथा निगमन-आगमन तर्क को समझने के लिए इनसे संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

Read Also :

जल्दी करोड़पति कैसे बने

Agriculture Course में हैं हजारों करियर ऑप्शन जरूर पढ़ें

Paper - 2

दूसरा एग्जाम आपके परास्नातक के विषय पर आधारित होगा। इसमे 100 विकल्पीय प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक question का एक अंक निर्धारित किया गया है। गलत उत्तर देने पर नेगेटिव मार्किंग से नंबर काटने का प्रावधान है। इसे करने के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है।

ऊपर दी गई जानकारी को पा कर अब आप इसके लिए जरूर अप्लाई करेंगे। यहां नौकरी के बहुत विकल्प मौजूद हैं। यहां की जॉब बहुत ही ठाट वाली मानी जाती है। परास्नातक करने के बाद ugc net का टेस्ट देकर आप अपने लिए अच्छी - अच्छी और नई नौकरियों के लिए दरवाजा खोल सकते हैं। ये test अलग - अलग सब्जेक्ट के अनुसार होता है। जो जिस विषय से पोस्ट ग्रेजुएशन करते हैं, वह उसी सब्जेक्ट का net test देता है। ये एक ऊंचे स्तर की राष्ट्रीय परीक्षा है। जो आपके भाग्य का निर्माण करती है। अगर मौका हाथ से निकल गया हो तो चिंता करने की कोई बात नहीं है। ugc net साल में दो बार आयोजित होती है। अगली बार जरूर अप्लाई करें।

आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी। हमें उम्मीद है कि आपको ये पोस्ट जरूर पसंद आयी होगी। यदि करियर से सम्बंधित कोई समस्या या problem हो तो आप हमें comment के द्वारा पूछ सकते हैं। यदि आप हमें करियर से संबंधित कोई जानकारी देना चाहते हैं या कोई गेस्ट पोस्ट भेजना चाहते हैं तो आप हमें safaladda@gmail. com पर भेज सकते हैं।

SAFAL ADDA: Ugc net क्या है सॉलिड जानकारी

http://www.safaladda.com/2019/05/ugc-net-kya-hai-solid-jankari.html?m=1

UGC NET क्या है सॉलिड जानकारी

अगला लेख: Railway Engineering में करियर कैसे बनायें



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x