आपकी मानसिकता ही आपकी असफलताओं का कारण है

20 जून 2019   |  जोगिंदर पोसवाल   (25 बार पढ़ा जा चुका है)

आपकी मानसिकता ही आपकी असफलताओं का कारण है

“A man cannot directly choose his circumstances, but he can choose his thoughts, and so indirectly, yet surely, shape his circumstances.”
― James Allen

अगर आप अपने चारों तरफ देखें तो हर कोई जिंदगी में कुछ न कुछ पाने के लिए कठोर परिश्रम कर रहा है। परन्तु कुछ लोग कामयाब हो जाते है कुछ नहीं। अगर हम कामयाब ना होने के कारणों में भाग्य (luck) की बात न करें तो एक कारण ओर है जिसकी वजह से आप हार जाते है। और वो है आपका दिमाग, आपकी सोच(Thinking), आपकी मानसिकता(Mindset)। आज मैं आपको कुछ बातें बताऊंगा जिनकी वजह से लोग जल्दी से हार मान जाते है और आपने लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाते है।

  1. जल्दी से सफल होने की चाह- ये एक सबसे बड़ी कमी है जिसके चलते लोग सफल नहीं हो पाते है। कोई भी काम चाहे वो कोई व्यापार हो या नौकरी हो या कुछ भी आपके करियर के लिए हो उसमें आप का सफल होना इस बात पर भी निर्भर है कि आप उसके लिए कितना समय दे रहें है। कुछ लोगो को लगता है कि उन्हें जल्दी से इसका फायदा मिलना चाहिए। जब उनको सफल होने में समय लगने लगता है तो वो हार मान जाते है क्योकि उन्होंने तो बहुत कम समय में सफल होने का सोचा हुआ था। हर कार्य को सफल होने में समय लगता है और वो समय कितना होगा इसका कोई फार्मूला नहीं है। हमारे यहाँ एक बात कही जाती है कि अगर एक बनिया का लड़का और एक किसान का लड़का अपनी-अपनी दूकान शुरू करते है और अगर शुरू में दूकान नहीं चल पाती है तो किसान का लड़का कुछ समय बाद ही हार कर काम छोड़ देगा किन्तु बनिया का लड़का लगा रहेगा और एक दिन उसकी दूकान चल ही जाएगी क्योकि उनको सिखाया जाता है कि धंधा, व्यापार सब्र से चलते है इनमें समय लगता है बस आपको लगे रहना है और आप जरूर कामयाब हो जायेंगे।
  2. भविष्य की चिन्ता करना- आप आज कुछ काम कर रहे है और उस काम पर पूरा ध्यान देने के बजाय आपका ध्यान उस काम से आपके भविष्य में आपको फायदा होंगे या नहीं होगा इस बात पर ज्यादा है तो आप कभी भी अपने काम में सफल नहीं हो पाएंगे और जल्दी ही हार मान जायेंगे। आप को अगर सफल होना है तो अपने दिल और दिमाग पूरी तरह से अपने काम में रखो। भविष्य की चिंता अभी करके आप अपना आज भी ख़राब कर रहे हो।
  3. बदलाब से डरना- जैसे-जैसे समय आगे बढ़ता है हमें अपनी सोच और अपने आपको उसके अनुसार बदलना चाहिए। जो इंसान समय के साथ नहीं बदलता वो कभी कामयाब नहीं हो सकता है और वही लोग जल्दी से हार मान लेतें है। अब ये बदलाव आपकी सोच का हो सकता है ये बदलाव आपकी कौशल (skills) का हो सकता है ये बदलाव आपके व्यापार करने के तरीकों का हो सकता है ये बदलाव आपकी संगति आपके यार-दोस्तों का हो सकता है। जैसी समय की जरुरत हो आपको उसके अनुसार बदलना आना चाहिए। “Every next level of your life will demand a different you.” — Leonardo DiCaprio
  4. ज्यादा काम करना- जल्दी कामयाबी पाने के चक्कर में लोग अपने काम में इतना उलझा लेते है कि वो काम को सही से कर ही नहीं पाते है। कुछ लोगो तो कई कामों को एक साथ शुरू कर देते है और सोचते है कि ज्यादा काम होंगे तो कामयाब होने की संभावना भी ज्यादा होगी। जबकि ऐसा होता नहीं है बल्कि अधिक काम और कई काम होने से आप की काम करने की क्षमता कम हो जाती है और आप सही से काम नहीं कर पाते है ओऱ निराश हो कर हार मान लेते है। एक बार में एक काम पर पूरा ध्यान देना चाहिए और अपने पर ज्यादा काम का दबाव भी नहीं डालना चाहिए।
  5. असफलता को रुकावट समझना- किसी भी काम में असफलता का मतलब आगे बढ़ने से रुकना नहीं है बल्कि उससे सीख लेकर नए जोश और नए प्लान के साथ आगे बढ़ना है। लोग एक बार किसी काम में असफल हो जाते है तो आगे बढ़ने से रुक जाते है और हार मान लेते है किंतु वो ये नहीं जानते कि जितने में लोग आज अपने जीवन में सफलता की चरम सीमा पर पहुंचे है उन्होंने से हर किसी ने कभी ना कभी एक बार या कई बार असफलता का सामना किया है। अपनी असफलतो से लड़ कर, सीख कर आज वे कामयाब हो पाए है।

ये सब कुछ कारण है जिनके चलते हम जल्दी से हार मान जाते है। हमें सफल होने के लिए अपनी सोच में ये सब बदलाब करने है इन सब बातो का ध्यान रखना है और कोशिश करते रहना है।
एक मशहूर कवि ने लिखा भी है – “लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की हार नहीं होती”

अगर आपको हमारा ये लेख – “क्या आपकी मानसिकता आपकी असफलताओं का कारण है?(is your mindset is the reason for your failures?)” पसंद आया हो तो अपनी प्रतिक्रिया(comments) जरूर लिखें।


This post was originally published at gyaanlok.



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x