आभासी प्यार

12 जुलाई 2019   |  bhavna Thaker   (9 बार पढ़ा जा चुका है)

आभासी प्यार

मोबाइल की दुनिया में आभासी प्यार का रकास ☺️

तलाशती है अब नज़रे तुम्हें सिर्फ़ हरे बिंदु की उम्र में,
जब तक इस छोटी-सी मशीन में तुम्हारी प्रोफाइल पर ये हरा बिंदु दिखता है
हम तुम्हें अपने करीब महसूस करते है
जब की जानता है दिल की तुम मिलों दूर हो
तुम्हारे अहसास में भी हम नहीं..!

पर इस पागल दिल का कोई इलाज भी तो नहीं..

तुम्हारी एक हाइ हैलो सुनने हम 18 घंटे अंगूठा घुमाया करते है,
तुम्हें क्यूँ इस बात का इल्म तक नहीं,
इश्क की परिभाषा अंगूठे के स्पर्श तक सिमटकर रह गई है..!

न देखा न भाला न जाना न पहचाना मोहाँध से सौंप दिया समुचा खुद को
ये मायावी दुनिया के आभासी अहसास को हमने पिरो लिए है अपनी रूह के स्पंदनों की माला में..!

तुम छलते रहे अपनी कला की कारीगरी से
हाय हैलो से शुरू हुआ रिश्ता मोहब्बत की चरम को छूकर हाय हैलो की कगार पे लड़खड़ाता एक तरफ़ा चाहत निभाता उम्मीद की आस लिए पड़ा है..!

तुम्हारी तरफ़ से टूट ही चुका है पर हम आज भी उस लम्हें को ढूँढने बार-बार अंगूठे को तकलीफ़ देते है,
की शायद मेरी प्रोफाइल का हरा बिंदु तुम्हारी नज़रों को छू जाए, तुम्हें वो गुज़रे लम्हें याद आए, ओर काश ये रिश्ता फिर से हरा हो जाए..!

काश तुम्हें कोई तुमसा मिले हरे बिंदु की उम्र संग कटे इंतज़ार में तुम्हारे लम्हें, तुम भी तरसो हरे बिंदु के दीदार की प्यास लिए, तुम्हें भी कोई तुमसा नज़रअंदाज़ करे..!

पर तुम्हारे साथ एसा कहाँ होगा दिल्लगी कहाँ तड़पती है दिल की लगी ही दम तोड़ती है..!

ना करना कोई इश्क आभासी दुनिया के रकीबो से, उनसे प्यार, इश्क, मुहब्बत ख़ुदा खैर करे।।
भावु।

अगला लेख: मेरे अंतरंगी खयाल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x