1983 वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम को मिलते थे इतने रुपये, सामने आया सबूत

16 जुलाई 2019   |  स्नेहा दुबे   (119 बार पढ़ा जा चुका है)

आज के समय में दो क्षेत्रों में खूब पैसा है, एक फिल्म नगरी और दूसरा क्रिकेट। अगर हम बात सिर्फ क्रिकेट की करें तो इंडिया में क्रिकेट सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला खेल है जिसमें बेशुमार पैसा है। इसमें तगड़ी फीस, आकर्षक डेली अलाउंस और कई बड़े कॉन्ट्रैक्ट देखने को मिलते हैं। मगर क्या आप जानते हैं कभी इन खिलाड़ियों को एक लिमिटेड पैसा मिलता था और साल 1983 की भारतीय क्रिकेट टीम को मैच फीस मिली और उनके डेली अलाउंस के आंकड़े हैं।


1983 में क्रिकेटर्स की फीस


1983 world cup


क्या आप जानते हैं मैच की फीस उस समय कितनी थी ? सिर्फ 1500 रुपये और डेली अलाउंस 200 रुपये प्रति दिन रहता था। राजदीप सरदेसाई ने जिस डॉक्यूमेंट की तस्वीर शेयर की है उसमें टीम के सभी खिलाड़ियों और मैनेजर का नाम शामिल है। सबके नाम के आगे डेली अनाउंस और मैच फीस लिखी है और सबके साइन भी हैं। इसे देखकर ऐसा लग रहा है कि ये एक कम्बाइन वाउचर है जिसमें ऊपर तारीख 21 सितंबर, 1983 लिखी है। इसके मुताबिक कप्तान, उपकप्तान और मैनेजर सहित सबको एक जितनी रकम मिली थी वो सिर्फ 2100 रुपये ही थी। जिसमें 1500 रुपये तो मैच फीस थी और 200 रुपये पर डे के हिसाब से तीन दिन के 600 रुपये डेली अनाउंस के खते में मिले थे। उस कागज पर सभ के सिग्नेचर भी है। इसमें कपिल देव, सुनील गावस्कर, वेंगसरकर सहित 14 खिलाड़ियों के नाम और मैनेजर बिशन बेदी का नाम भी लिखा है।


आपको बता दें कि आजकल खिलाड़ियों को क्या मिल रहा है ? एक टेस्ट मैच खेलने पर खिलाड़ियों को 15 लाख रुपये फीस दी जाती है और वन डे के लिए 6 लाख तो टी-20 के लिए 3 लाख रुपये फीस दी जाती है। इसके अलावा उनके डेली अनाउंस बहुत अलग हैं। इसके अलावा इंडिविजुअल परफॉर्मेंस के लिए उन्हें बोनस के तौर पर भी कुछ राशि मिल जाती है। जैसे सेंचुरी मारने या पांच विकेट लेने पर भी उन्हें खास रकम मिल जाती है। इसका मतलब उस दौर के खिलाड़ियों के मुकाबले आज के खिलाड़ियों के बैंक अकाउंट्स ज्यादा भारी हैं। अगर आप सोच रहे हैं कि 36 साल का गैप है लेकिन फिर भी इंडियन क्रिकेटर्स के लिए इसकी रफ्तार आम लोगों में बढ़ती ही जा रही है।

1983 वर्ल्ड कप जीतने के बाद टीम को मिलते थे इतने रुपये, सामने आया सबूत

अगला लेख: हॉलीवुड एक्ट्रेस ने बताया Bikini पहनने के लिए Bikini नहीं, इस चीज की होनी चाहिए जरूरत



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
22 जुलाई 2019
एक मध्यवर्गीय परिवार का बिजली का बिल कितना आ सकता है, क्या इसका अंदाजा आपको है ? गर्मियों में एक मध्यवर्गिय परिवार का बिजली का बिल ज्यादा से ज्यादा 4 से 5 हजार ही आता होगा। वो भी तब अगर आप दिनभर AC चला रहे हों। मगर उत्तर प्रदेश के हापुर में एक मध्यवर्गीय परिवार को इतन
22 जुलाई 2019
08 जुलाई 2019
आजकल के समय लोग अपनी फिटनेस पर ज्यादा ध्यान दे ने लगे हैं। लड़के हों या लड़कियां सभी को अपने फिगर की चिंता रहती है। जहां एक ओर लड़के रफ एंड टफ फिगर बना रहे हैं वहीं लड़कियां ज़ीरो फिगर के साथ अपनी इमेज निखारने में लगी हैं। ऐसा सिर्फ फिल्मों की एक्ट्रेसेस ही नहीं बल्कि आम लड़कियां भी करने लगी हैं। Bi
08 जुलाई 2019
17 जुलाई 2019
17 जुलाई से सावन का महीना शुरु हो गया है और सभी शिवजी की पूजा अराधना में लग गए हैं। सभी शिवालयों में शिवभक्तों ने रौनक जमानी शुरु कर दी है और भारत में जितने भी बड़े शिव मंदिर हैं वहां पर भक्तों ने अपनी-अपनी अर्जी लगाना शुरु कर दिया है। ऐसा ही एक मंदिर है वैद्यनाथ धाम (baidyanath dham) जो एक प्राचीन
17 जुलाई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x