#भाप_की_चोरी

26 जुलाई 2019   |  अश्मीरा अंसारी   (31 बार पढ़ा जा चुका है)

"बहुत भूक लगी है कल से कुछ खाया नहीं,"

"ख़ुदा का शुक्र है बस स्टैंड के पियाऊ में ठंडा पानी मिल जाता है , अब जीने के लिए खाना ना सही पानी पर गुज़ारा हो जाता है।" अनाथ 11 वर्षीय राजू छोटे छोटे अपने ही जैसे अनाथ दोस्तों के बिच बैठ बहुत उदास लहजे में कह रहा था।

"अब तो कोई होटल में भी काम नहीं देता , जब से चोरी में पकडे गए।"

"चोरी, कैसी चोरी?" बच्चों के पीछे बैठे रामु काका ने पूछा।

"हाँ काका, चोरी!! राजू ने सर झुकाते हुए कहा।

"सतपाल काका जी की होटल में काम करते थे, बहुत ही स्वादिष्ट पकवान बनाए जाते है वहाँ, पिछले हफ्ते की ही बात है काम करते करते हम बहुत थक गए थे और ज़ोरदार भूक लगी थी और लज़ीज़ खाने की ख़ुश्बू ने हमारी और भूक बढ़ा दी, हम सब होटल के रसोई घर तक पहूच गए , हमने किसी भी चीज़ को हाथ ना लगाया बस वही खड़े खड़े थोड़ी देर स्वादिष्ट पकवानों से निकलती हुई बाप की ख़ुश्बू से ही अपना पेट भर लिया था, उतने में ही सतपाल काका ने हमें वहाँ देख लिया और हम पर बरस पड़े और चोरी के इलज़ाम में हमे काम से निकाल दिया।"

"रामु काका यही चोरी की थी हमने भाप की चोरी" ।राजू की आवाज़ ये कहते कहते धीमी हो गई।

अश्मीरा अंसारी 28/06/2019 01:30 pm

अगला लेख: रिश्ते



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
19 जुलाई 2019
नीरजा और उसकी फॅमिली को आज पुरे आठ दिन हुआ था इस फ्लैट में आये, तक़रीबन सभी पड़ोसियों से बातचीत होने लगी थी।बस अब तक सामने वाले ग्राउंड एरिया के दामोदर जी और उनकी पत्नी से परिचय नहीं हुआ था,उनके घर अब तक किसी पड़ोसी को ना आते-जाते देखा ना बात करते बस हर रोज़ खिड़की से कभी
19 जुलाई 2019
05 अगस्त 2019
इं
मैं नन्ही सी जां थी लेकिन फिर भी तरस ना उसको आया अपनी भूक मिटाने क्यों उसने बचपन को खाया चंचल सा जीवन मेरा क्यों उसने पलभर में बलि चढ़ाया घबराती हूँ देख कर अब मैं ये बदसूरत दुनिया की मोह माया कितनी सांसें टूट गई है #इंसाफ़ किसी ने अब तक कहाँ है पाया हर दम सच का गला घोंट कर दरिंदों ने दुनिया का दिल दहल
05 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x