अचानक पेड़ पर साईं बाबा की ऊभरी आकृति, देखने के लिए लगी भीड़, फिर सामने आया सच

26 जुलाई 2019   |  सौरभ श्रीवास्तव   (24 बार पढ़ा जा चुका है)

अचानक पेड़ पर साईं बाबा की ऊभरी आकृति, देखने के लिए लगी भीड़, फिर सामने आया सच

भारत में धर्म व आस्था के प्रति हिन्दुओं की संवेदनशीलता:-

हमारे भारत देश के लोगों की भावनाएं भक्ति व धर्म के प्रति काफी संवेदनशील होती हैं। विशेष करके जब कभी धर्म की बात आती है तो भगवान के प्रति आस्था को लेकर काफी संवेदनशीलता देखने को मिलती है। अक्सर आप भक्ति, धर्म और भगवान से संबंधित किसी प्रकार के चमत्कार होने की खबर सुनते होंगे। वैसे ही आज कल इन दिनों सोशल मीडिया Social Media पर एक खबर वायरल हो रही है कि पेड़ के ऊपर साईं भगवान की तस्वीर लजर आयी है। जिसे देखने के लिए भारी संख्या मे लोगों की भीड़ इकट्ठा हो रही है। ऐसे में यह सवाल हर किसी के मन में उठता है कि आखिर किस हद तक इस बात में सच्चाई है और क्या सच में इस प्रकार का चमत्कार हुआ है? जानन के लिए नीचे पढ़ें-


साईं बाबा

मामला कुछ इस प्रकार है कि हरियाणा के अंबाला नामक क्षेत्र में वार्ड नं 8 रेलवे कालोनी में एक काफी पुराना जंगल जलेबी का पेड़ है। जिसमें साई बाबा का चेहरा बाहर की तरफ ऊभरा हुआ दिखाई दे रहा है। पहले तो यह एक बच्चे द्वारा देखा गया तो बच्चे ने यह खबर अपने घर वालों को बताई। बस इसके बाद यह बात आग की तरह पूरे ईलाके में फैल गयी और जैसे जैसे यह खबर फैलती गयी, वैसे वैसे लोगों की भीड़ इकट्ठा होने लगी। दूर-दूर से लोग साईं भगवान के दर्शन के लिए पहुंचने लगे और वहां भव्य तरीके से भजन कीर्तन होने लगा। इस चमत्कार को देखकर लोग अपनी अपनी स्वेच्छानुसार चढ़ावा चढ़ाने लगे तो कोई पूजा पाठ करने लगा।

यह तो सच है कि मामला भारत के लोगों की श्रद्धा के जुड़ा हुआ है इसलिए लोगों ने अब इस पेड़ की सुरक्षा के लिए रेलवे विभाग से कह कर पेड़ को घेर दिया गया है। यही नहीं बल्कि आरपीएफ कर्मियों (Railway Protection Force) को तैनात कर दिया गया है ताकि कोई भी इसके साथ छेड़-छाड़ न कर सके।


क्या यह चमत्कार सच है?


आज कल के जमाने में ऐसे बहुत ही कम लोग हैं जो इस प्रकार की बातों में विश्वास रखते हैं। यहां तक कि ऐसी घटना पर सवाल उठना भी शुरू हो गये हैं। दरअसल एक रामदीन नाम के व्यक्ति ने बताया है कि इस पुराने पेड़ के पास हर रोज एक आदमी आता था और पेड़ में हुए खोखले स्थान पर कुछ हरकतें करता था। ऐसे में शायद यह बी हो सकता है कि शायद उसी ने यह तस्वीर बनायी हो। दरअसल इस पेड़ के पास एक रेलवे पुल बन रहा था और उसी के निर्माण कार्य में वह लेबर का काम कर रहा था।

अंबाला के DRM दिनेश चंद्र शर्मा जी का कहना है कि आज कल इस 21वीं सदीं में ऐसी घटनाओं का होना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन भी है। इस पुराने पेड़ के पास पिछले डेढ़ महिने से कुछ काम हो रहा था। काम करने वालों को तब एस पेड़ पर ऐसा कुछ भी नहीं दिखाई दिया। कोई भी इंसान रेलवे की संपत्ति पर अतिक्रमण नहीं कर सकता है और यदि हमें आवश्.कता पड़ी तो पुरात्तव विभाग से इसकी पूरी जांच करवा लेंगे।

अगला लेख: "Mission Mangal Film 2019 " पर बन रहे जोक्स के चर्चे...



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
30 जुलाई 2019
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी Wilderness Survival T.V Programme में Bear Grylls के साथ:-इस प्रोग्राम के लिए एक ट्रेलर Man vs Wild जो कि 12 अगस्त को भारत में प्रसारित किया जायेगा। इस प्रोग्राम में यह दिखाया जायेगा कि दो लोग यानि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और Bear Grylls जंगलों में जंगली जानवरो
30 जुलाई 2019
19 जुलाई 2019
HISTORY OF PORUS AND SIKANDER IN HINDI- हमारे भारत देश में अनेकों प्रकार के आक्रमण व युद्ध हुए, जिनके बारे में जानकारी आपको किताबों से मिलती है। अगर हम भारत के इतिहास के संदर्भ में युद्धों के बारे में बात करें तो हम देखते हैं कि सिकंदर और पोरस जैसे ताकतवर राजाओं के युद्ध के बारे में सुनने को मिलता
19 जुलाई 2019
24 जुलाई 2019
करीब 32 साल बाद कैसे दिखते हैं, ये किरदार? रामानंद सागर जी को आप चाहे Pruducer या Director कह लिजिए वैसे तो इनको विशेष रूप से रामायण फिल्म के लिए जाना जाता है। सन् 1986- 1988 के बीच एक धारावाहिक का काफी तेज प्रचलन था और इस Ramayana Ser
24 जुलाई 2019
25 जुलाई 2019
हरिद्वार में कांवड़ियों का बड़ा सैलाब:-हर साल की तरह इस बार भी श्रावण महिने में भगवान शिव शंकर, महादेव के नाम पर हर-हर महादेव, बोल बम, बम-बम और जय शिव शंकर के जयकारों से पूरे देश में शिव जी की भक्ति का मस्त माहौल बना हुआ है। इस महिने श्
25 जुलाई 2019
25 जुलाई 2019
काव्य रचनाओं में निपुण महान रचनाकार श्री महादेवी वर्मा जी |Mahadevi Verma:-काव्यों रचनाओं में निपुण महान श्री महादेवी वर्मा जी का जन्म सन् 26 मार्च 1907 को उत्तरप्रदेश के फ़र्रुख़ाबाद नामक क्षेत्र में हुआ था। वर्मा जी के जन्म के संबंध में सबसे विशेष बात यह थी कि
25 जुलाई 2019
24 जुलाई 2019
कारगिल युद्ध के पीछे का इतिहास का है सारा मामला- कारगिल युद्ध का विजय दिवस प्रतिवर्ष 26 जुलाई को मनाया जाता है। कारगिल का युद्ध भारत और पाकिस्तान के बीच सन् 1999 में हुआ था। यह कारगिल का युद्ध करीब 3 महीनों तक चला जिसे Operation Vijay के नाम से आज भी लोग जानते हैं। इस युद्ध में भारतीय सेनाओं के
24 जुलाई 2019
23 जुलाई 2019
श्री शंकर दयाल शर्मा जी की जीवनी (Shankar Dayal Sharma Biography):- श्री शंकर दयालशर्मा जी भारतवर्ष के 9वे राष्ट्रपति थे, जिन्होंने 1992 से 1997के बीच कर कार्यबार संभाला। भारत के राष्ट्रपति पद के पहले शंकर दयाल शर्मा जीहमारे देश के 8वे उप राष्ट्रपति थे। सन् 1
23 जुलाई 2019
05 अगस्त 2019
नरेंद्र मोदी सरकार ने कश्मीर को लेकर ऐतिहासिक फैसला लिया है। सरकार ने आज राज्यसभा में कश्मीर आरक्षण संशोधन बिल पेश कर दिया है, जिसके तहत धारा 370 का खात्मा किया जाएगा। गौरतलब है कि दशकों बाद पहली बार घाटी के गांव गांव में तिरंगा झंडा फहराए जाने की संभावना है। एक और देशभर की नजरें आज संसद पर टिकी हैं
05 अगस्त 2019
26 जुलाई 2019
साल 1999 में भारत और पाकिस्तान के बीच एक जंग हुई जिसे कारगिल युद्ध का नाम दिया गया और फिर भारत ने पाकिस्तान पर जीत हासिल की। इसी के जश्न में 26 जुलाई को कारहिल युद्ध की जीत की खुशी में विजय दिवस मनाया जाता है। इस जंग में एक नहीं बल्कि कई जवान शहीद हुए थे। एक मीडिया रि
26 जुलाई 2019
29 जुलाई 2019
वर्तमान भारतीय शिक्षा व्यबस्था जो की ब्रिटिश हुक़ूमत के समयानुसार भारतीय मूल्यों व् सभ्यता-संस्कृति को सामान्य भारतीय जन-मानस के मन-मष्तिस्क में स्वयं का ही परिहास कराकर पच्छिमी भौतिक वैज्ञानिक शिक्षा को ही सर्वमान्य परपेछित कर आज के भारतीय युवा-वर्ग को सीमित बौद्धिक छमताओ में किसी श्रापबंध से बांध
29 जुलाई 2019
26 जुलाई 2019
बाबा रामदेव के साथ देश में आंदोलन-: राजीव दीक्षित का जन्म उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ जिले में सन् 1967 में 30 नवंबर को हुआ था। राधेश्याम दीक्षित इनके पिता का नाम था और इनकी मां का नाम मिथिलेश कुमारी था। माता पिता के द्वारा ही इनका नाम राजीव रखा गया। अपने प्रारम्भिक शिक्षा की शुरुआत वैसे ही की जैसे कि
26 जुलाई 2019
23 जुलाई 2019
भगवान श्री शिवशंकर की अराधना में महामृत्युंजय जाप एककाफी पवित्र मंत्र माना जाता है जिसे हमारे बुजुर्गों द्वारा प्राण रक्षक मंत्रकहा जाता है। इस मंत्र की उत्पत्ति सबसे पहले महाऋषि मार्कंडय जी ने की। Mahmrityunjay Mantra का जाप करनेसे शिव जी को प्रसन्न करने की शक्ति मिलती है। Mahamrityunjay Mantra in
23 जुलाई 2019
23 जुलाई 2019
भगवान श्री शिवशंकर की अराधना में महामृत्युंजय जाप एककाफी पवित्र मंत्र माना जाता है जिसे हमारे बुजुर्गों द्वारा प्राण रक्षक मंत्रकहा जाता है। इस मंत्र की उत्पत्ति सबसे पहले महाऋषि मार्कंडय जी ने की। Mahmrityunjay Mantra का जाप करनेसे शिव जी को प्रसन्न करने की शक्ति मिलती है। Mahamrityunjay Mantra in
23 जुलाई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x