Webdunia- हिंदी खबरों का एक बेहतरीन मंच

01 अगस्त 2019   |  स्नेहा दुबे   (449 बार पढ़ा जा चुका है)

Webdunia- हिंदी खबरों का एक बेहतरीन मंच

Webdunia- देश में बहुत सारे हिंदी वेब पोर्टल न्यूज वेबसाइट हैं लेकिन कुछ ही ऐसी वेबसाइट्स हैं जो हमें सही और बेहतर तरीके की खबरें प्रोवाइड करवाती हैं। वेबदुनिया उन्हीं में से एक वेबसाइट है जो कई भाषाओं में खबरें पब्लिश करती हैं और रीडर्स को सही जानकारी देती है। वेबदुनिया हिंदी भाषा पर ही सबसे ज्यादा फोकस करती है और यहां हर विषय पर लेख उपलब्ध है। वेबदुनिया में मुख्य रूप से समाचार, मनोरंजन, लाइफ स्टाइल, धर्म-संसार, खेल और सामयिक नाम की कैटेगरी हैं और इन सभी में अलग-अलग विषयों पर कैटेगरी है और इन सभी के ऊपर हर दिन खबरें लिखी जाती हैं। जो वेबदुनिया के चयनित लेखक लिखते हैं और उनकी कोशिश होती है कि आपको हिंदी में हर खबर सटीक जानकारी के साथ दें। मगर कॉम्पटीशन के इस दौर में इस वेबसाइट की भी कुछ प्रतियोगी वेबसाइट है। वेबदुनिया वेबसाइट हिंदी को प्राथमिकता देती है और इसी तरह शब्दनगरी वेबसाइट भी हिंदी भाषा के लिए बेहतरीन प्लेटफॉर्म है।


वेबदुनिया क्यों हैं हिंदी भाषा के लिए खास?


वेबदुनिया

वेबदुनिया साल 1999 में बनी एक आईटी कंपनी रही है जिसका वेबपोर्टल न्यूज साइट बनी और फिर अब ये हिंदी के अलावा अंग्रेजी, वेबदुनिया तमिल, मलयालम और तेलुगू भाषाओं में उपलब्ध है। यहां पर लघु कहानी, दीर्ध कहानी, गानों के लिरिक्स, गजल के लिरिक्स सब लिख सकते हैं। अगर आपको अंग्रेजी भाषा में महारत हासिल है तो आपको ये वेबसाइट पसंद आएगी। मगर वेबदुनिया आपको सटीक जानकारी देने के लिए बिल्कुल सही वेबसाइट है। वैसे तो हिंदी की कई वेबसाइट इंटरनेट पर मौजूद है लेकिन वेबदुनिया की बात ही कुछ और है। अगर बात इस वेबसाइट की कॉम्पटीटर की करें तो इसे Shabd.in वेबसाइट टक्कर देती है जिसे लोग शब्दनगरी नाम से भी जानते हैं।


शब्दनगरी कैसे है वेबदुनिया की प्रतियोगी ?


वेबदुनिया

साल 2016 में स्थापित हुई हिंदी वेबसाइट शब्दनगरी के फाउंडर अमितेष मिश्रा का मुख्य उपदेश ये था कि भारत के लोगों को अपनी भाषा से रुबरु होना चाहिए। बहुत से लोग लिखना चाहते हैं लेकिन उन्हें ब्लॉग बनाना पड़ता है फिर यूट्यूब पर जाकर उसके बारे में जानना होता है। मगर शब्दनगरी एक ऐसी ओपन वेबसाइट है जिसमें आप अपनी आईडी बनाकर अपने सभी थॉट्स लिख सकते हैं। शब्दनगरी के बारे में इसके फाउंडर ने साल 2007 से सोचना शुरु कर दिया था और फिर अमर उजाला को दिए अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि यूपी, बिहार, राजस्थान, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, झारखंड, मध्य प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली सहित देश के कई राज्यों में लगभग 65 करोड़ लोग हिंदी भाषी हैं। इसके बावजूद हिंदी की कोई सोशल साइट नहीं है और जो सोशल साइट्स हैं, उनके की-बोर्ड अंग्रेजी में बने हैं। अंग्रेजी में टाइपिंग पर हिंदी लिख दिया जाता है और हिंदी भाषी क्षेत्रों के पांच फीसदी लोग ही इसका सही इस्तेमाल करते हैं। बाकी लोगों को अपनी टूटी-फूटी अंग्रेजी में काम चलाना पड़ता है। ‘शब्द नगरी’ पूरी तरह से हिंदी में बनी वेबसाइट है और इसका इस्तेमाल हिंदी भाषी आसानी से कर सकेंगे। हिंदी के ऑन स्क्रीन की-बोर्ड बने हैं जिस तरह से गूगल पर अंग्रेजी लिखने पर शब्द या नाम का हिंदी वर्जन आ जाता है, उसी तरह शब्द नगरी पर भी आ जाएगा। इसका इस्तेमाल किसी भी सोशल साइट की तरह किया जा सकता है और शब्द नगरी की मदद से हिंदी के ब्लाग, वेबसाइट, पेज और एकाउंट बनाए भी आसानी से बनाए जा सकते है।


कितनी अलग है वेबदुनिया से शब्दनगरी ?


शब्दनगरी-हिंदी की प्रथम ब्लॉगिंग और सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट है।

वेबदुनिया-ये नहीं है।

शब्दनगरी-यहां आप अऩ्य ब्लॉगर से जुड़कर मित्र बना सकते हैं और टिप्पणी दे सकते है।

वेबदुनिया-ये नहीं है।

शब्दनगरी-ये वेबसाइट भारत की प्रमुख भाषाओं में उपलब्ध है।

वेबदुनिया- ये नहीं है।

शब्दनगरी-इस साइट पर यूजर किसी भी टॉपिक पर अपने विचार प्रस्तुत कर सकते हैं।

वेबदुनिया-इसमें ऐसा नहीं होता है।

शब्दनगरी-इसमें हिंदी के टाइपिंग के लिए ऑनलाइन की-बोर्ड उपलब्ध है।

वेबदुनिया-इस वेबसाइट पर इनपुट टूल या फिर मंगल फॉन्ट के द्वारा ही लिखा जाता है।

अगला लेख: शिवजी का ऐसा मंदिर जहां कैदी बनाते हैं बाबा के लिए नाग मुकुट, जानिए ये अद्भुत परपंरा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
08 अगस्त 2019
भारत में हर तरह की बातें होती हैं लेकिन महिलाओं को लेकर सुरक्षा का मामला बिल्कुल सीरियसली नहीं लिया जाता। यहां पर मां-बहन की गालियां देकर लोग इसमें अपनी वाहवाही समझते हैं जबकि वो लोग नहीं जानते हैं वे अपने ही घरवालों का समाज में मजाक बनवा रहे हैं। भारत की महिलाएं सुरक
08 अगस्त 2019
12 अगस्त 2019
साल 2014 में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद देश के लोगों ने इसके नेतृत्व करने वाले नरेंद्र मोदी को मान लिया था। इसके 5 सालों के बाद लोकसभा चुनाव-2019 में भी उससे ज्यादा वोट्स से जीत हासिल करने के बाद लोगों को लग गया कि अब कुछ भी हो जाए लेकिन नरेंद्र मोदी में कुछ बात तो है जिससे जनता इनसे आसानी से कनेक्ट
12 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8 बजे देश की जनता को संबोधित करने जा रहे हैं। ये जानकारी पीएमओ ने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से दी है। ऐसा माना जा रहा है कि पीएम मोदी का संबोधन जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को खत्म करने के फैसले को लेकर केंद्रित रहेगा। संसद ने जम्मू-
08 अगस्त 2019
01 अगस्त 2019
भोलेनाथ को प्रसन्न करने और उनकी पूजा करने के लिए श्रावण मास यानी सावन का महीना सबसे पावन माना जाता है। पूरे देश में 17 जुलाई से सावन का महीना मनाया जा रहा है और सभी भोलेनाथ के प्रति अपनी श्रद्धा भक्ति दिखाई है। 15 अगस्त को सावन का महीना खत्म होने वाला है और इसके पहले
01 अगस्त 2019
29 जुलाई 2019
विजय सोपा नाही
29 जुलाई 2019
02 अगस्त 2019
बॉलीवुड में पार्टी, शराब और शबाब का दौर पुराने समय से ही चलता आ रहा है। यहां पर फिल्मों में आप अपने सितारों को जितना अच्छा मानते हैं लेकिन हर सितारा असल जिंदगी में अच्छा हो ये जरूरी नहीं होता। आज की युवा अपने फेवरेट स्टार को देखकर ही सीख रही है और अगर वे अपने फेवरेट स
02 अगस्त 2019
02 अगस्त 2019
अक्सर सेलिब्रिटीज होते हैं जो देश के प्रति कुछ काम करते हैं तो कुछ दूसरों को दिखाने के लिए करते हैं तो कुछ को दिल से देश के प्रति लगाव होता है। उन्हीं में से एक हैं भारतीय क्रिकेट टीम के दमदार प्लेयर महेंद्र सिंह धोनी जिन्होंने साल 2011 में वर्ल्ड कप अपने कप्तानी के नेतृत्व में दिलवाया था। इस बार भ
02 अगस्त 2019
20 जुलाई 2019
दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री Sheila Dikshit का 81 साल की उम्र में निधन हो गया है। लंबे अरसे से बीमार चल रही शीला का एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था और 20 जुलाई को अचानक उनके दिल की धड़कन रुक गई और उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। शीला दीक्षित का अंतिम दर्शन रविव
20 जुलाई 2019
22 जुलाई 2019
एक मध्यवर्गीय परिवार का बिजली का बिल कितना आ सकता है, क्या इसका अंदाजा आपको है ? गर्मियों में एक मध्यवर्गिय परिवार का बिजली का बिल ज्यादा से ज्यादा 4 से 5 हजार ही आता होगा। वो भी तब अगर आप दिनभर AC चला रहे हों। मगर उत्तर प्रदेश के हापुर में एक मध्यवर्गीय परिवार को इतन
22 जुलाई 2019
17 जुलाई 2019
17 जुलाई से सावन का महीना शुरु हो गया है और सभी शिवजी की पूजा अराधना में लग गए हैं। सभी शिवालयों में शिवभक्तों ने रौनक जमानी शुरु कर दी है और भारत में जितने भी बड़े शिव मंदिर हैं वहां पर भक्तों ने अपनी-अपनी अर्जी लगाना शुरु कर दिया है। ऐसा ही एक मंदिर है वैद्यनाथ धाम (baidyanath dham) जो एक प्राचीन
17 जुलाई 2019
05 अगस्त 2019
बहुत दिनों से जम्मू कश्मीर में हलचल थी और 10 हजार से ज्यादा लोगों को वहां पर तैनात कर दिया गया था क्योंकि हालात कभी भी बिगड़ सकते थे। कुछ भी हो सकता था और लोगों में एक डर का माहौल था लेकिन अब वो बातें खत्म हो चुकी हैं। केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को एक एतिहासिक फैसला लिया है और जिसमें जम्मू एंड कश्मीर स
05 अगस्त 2019
26 जुलाई 2019
बैंकों का राष्ट्रीयकरण 19 जुलाई 1969 को हुआ जो उस वक़्त की एक धमाकेदार खबर थी. बैंक धन्ना सेठों के थे और सेठ लोग राजनैतिक पार्टियों को चंदा देते थे. अब भी देते हैं. ऐसी स्थिति में सरमायेदारों से पंगा लेना आसान नहीं था. फिर भी तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गाँधी ने साहसी कद
26 जुलाई 2019
18 जुलाई 2019
ज्
19,20 एवम 21 जुलाई 2019 (शुक्रवार से रविवार) तक मेरी परामर्श सेवाएं ...नई दिल्ली में उपलब्ध रहेंगी।आज से दिल्ली प्रवास/विश्राम..22 जुलाई 2019 शाम तक।👍👍💐💐💐कमरा नम्बर - 104.होटल पूनम इंटरनेशनल,3169/70, Sangatrashan,बाँके बिहारी मन्दिर के निकट,पहाड़गंज, नई दिल्ली-110055..फोन नम्बर -(011) 41519884👍
18 जुलाई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
रि
19 जुलाई 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x