जब 'भक्तों' ने दी थीं सुषमा स्वराज को गालियां, वीजा माता कहा, बीमारी का मज़ाक उड़ाया...

07 अगस्त 2019   |  अभय शंकर   (501 बार पढ़ा जा चुका है)

जब 'भक्तों' ने दी थीं सुषमा स्वराज को गालियां, वीजा माता कहा, बीमारी का मज़ाक उड़ाया...

सुषमा स्वराज नहीं रहीं. 6 अगस्त को उनका निधन हो गया. अब लोग उन्हें याद कर रहे हैं. बताया जा रहा है कैसे वो ट्विटर पर सबकी मदद करती थीं. एक ट्वीट पर हज़ारों मील दूर बैठे इंसान तक मदद पहुंचा देती थीं. कहानियां चल रही हैं कि किसी ने कहा मैं मंगल पर फंस गया हूं, मेरी मदद करें. सुषमा जी ने जवाब दिया कि अगर आप मंगल पर हैं तो इंडियन एंबेसी वहां भी आपकी मदद करेगी.

लोग दुखी हैं, सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि के संदेशों की बाढ़ आई है. आनी भी चाहिए, वो कौन ही होगा, जिसे आज दु:ख न हो रहा हो. पर इन्हीं में से कई लोग हैं, जो एक मौके पर सुषमा स्वराज के लिए इतने भले नहीं थे. उन पर मीम बना रहे थे. भद्दे-भद्दे कमेन्ट कर रहे थे. उनकी तस्वीरें फोटोशॉप की गईं, उन्हें हिंदू धर्म से द्रोह रखने वाला बताया. उन्हें वीजा माता कहा गया, वीजा अप्पी कहा गया. उनके फेसबुक पेज की रेटिंग गिराई गई.

सुषमा स्वराज को गालियां दी गई. बीजेपी की जड़ काटने वाला बताया गया.

इस स्तर तक परेशान किया कि उन्हें फेसबुक पेज पर रेटिंग का ऑप्शन बंद करना पड़ गया. (अब उनका फेसबुक पेज बंद है!) मज़ाक उड़ाने वालों ने उनकी उम्र की परवाह नहीं की, उनकी बीमारी का मज़ाक उड़ाया. वो महिला जिसने दिन-रात नहीं देखा, देश-परदेस नहीं देखा, पक्ष-विपक्ष नहीं देखा. उन्हें इतना भला-बुरा कहा गया कि किसी भले आदमी का भलाई से भरोसा हट जाए.

फेसबुक पर रेटिंग गिराने के लिए संगठित होकर पूरा कैम्पेन चलाया गया.

क्या था मामला

मामले में वही तत्व थे, जो सोशल मीडिया के ट्रोल्स की गालियों के लिए पेट्रोल का काम करते हैं. हिंदू और मुसलमान. बात 2018 की है. मोहम्मद अनस सिद्दीकी और उनकी पत्नी तन्वी सेठ ने लखनऊ में 19 जून को पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था. मोहम्मद अनस के पासपोर्ट का रिन्यूअल होना था, जबकि तन्वी सेठ का नया पासपोर्ट बनना था. तन्वी ने आरोप लगाये कि पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा ने पति और पत्नी के धर्म अलग-अलग होने का हवाला देकर पासपोर्ट जारी करने से मना कर दिया. उनसे ऊंची आवाज में बात की. कहा कि दोनों धर्म बदलकर शादी कर लें, तो पासपोर्ट जारी हो जाएगा.

अनस और तन्वी जिन्होंने दावा किया कि उनके साथ बदसलूकी हुई और बाद में उन्हें पासपोर्ट जारी कर दिया गया.

इसी के बाद से विवाद शुरू हो गया था. अनस और तन्वी ने धर्म की वजह से पासपोर्ट न बनाए जाने वाली बात को ट्विटर पर लिखा, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को टैग कर दिया. इसके बाद ही तन्वी सेठ का पासपोर्ट जारी कर दिया गया. पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए उनका तबादला गोरखपुर के लिए कर दिया गया है. हालांकि बाद में विवाद बढ़ा तो विकास मिश्रा का तबादला रोक दिया गया था.

सुषमा स्वराज को ट्विटर पर टैग करने के एक दिन के बाद ही तन्वी सेठ को उनका नया पासपोर्ट मिल गया. इस बात पर सोशल मीडिया के लोग भड़क गए. आरोप लगे कि ट्विटर की वजह से तन्वी का पासपोर्ट बन गया है, जबकि उनके कागजात की जांच नहीं की गई. कहा गया कि तन्वी और उनके पति नोएडा में रहते हैं, लेकिन उन्होंने पासपोर्ट लखनऊ के पते पर बनवा लिया है, जो गलत है. बाद में पासपोर्ट ऑफिस की तरफ से मोहम्मद अनस और तन्वी सेठ के पते की जांच का काम लखनऊ पुलिस को सौंप दिया गया. इस पूरी ख़बर में बाद में भी कई अपडेट्स आए. लेकिन लोगों को उन अपडेट्स से कोई लेना-देना नहीं था. उन्हें सुषमा स्वराज के तौर पर एक निशाना मिल चुका था.

उन्हें वीजा माता कहते हुए ऐसी फोटोशॉप तस्वीरें इस्तेमाल की गईं.

ट्रोल्स का गुस्सा उन पर फूटा. पहले तो सोशल मीडिया पर #IstandwithVikashMishra नाम से हैशटैग शुरू किया. फिर सब बातों के लिए सीधे सुषमा स्वराज को जिम्मेदार ठहराते हुए उनके लिए खूब भला-बुरा कहा गया. इस भले-बुरे का स्तर इतना गिरा हुआ था. जिसकी कल्पना नहीं की जा सकती.

भारत में जब ये सब हो रहा था, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज देश के बाहर थीं. वो 17 जून से 23 जून 2018 तक तक इटली, फ्रांस, लग्जमबर्ग, बेल्जियम और यूरोपियन यूनियन के दौरे पर थीं. 24 जून को जब वो भारत लौटीं, उन्होंने एक ट्वीट कर लिखा-

‘मुझे नहीं पता है कि उनके देश में न रहने के दौरान क्या-क्या हुआ. हालांकि, मैं कुछ ट्वीट्स से सम्मानित महसूस कर रही हूं. मैं उन ट्वीट्स को आप सभी के साथ साझा कर रही हूं, इसलिए मैंने उन्हें लाइक किया है.’

ऐसा कहकर सुषमा स्वराज ने अपने खिलाफ किए गए 60 ट्वीटस् को लाइक किया और कुछ को रिट्वीट भी किया था.

सुषमा स्वराज के लिए ऐसी अभद्र बातों का इस्तेमाल किया गया

और आपको पता है, उन्हें ऐसा कहने वाले कौन लोग थे? ये वो लोग थे जिन्हें मोदी सरकार के तब के मंत्री और नेता खुद फॉलो करते थे. डीटेल्स जानने के लिए आप ये स्टोरी पढ़ सकते हैं.

इन कथित ‘भक्तों’ ने सुषमा स्वराज को अपनी ही पार्टी में गुटबाजी का आरोप लगाया. अभद्र बातें कहीं. जिस काम के लिए वो दुनिया में सराही गईं, उनका मज़ाक बनाया. सुषमा स्वराज वो नेता थीं, जिन्होंने सरकार पर भरोसे को लोगों के हाथों तक पहुंचा दिया था. जिन लोगों ने उन्हें गालियां बकीं, उनका खुद का अस्तित्व नहीं था. इस देश के लिए उन्होंने ट्विटर पर अकाउंट बना लेने से ज़्यादा कभी कुछ नहीं किया. तन्वी सेठ के मुद्दे पर सच-झूठ हो सकते थे. अपनी समझ से लोगों के सही ग़लत हो सकते थे. लेकिन जिस तरह से सुषमा स्वराज को टार्गेट किया गया. ये याद रखा जाना चाहिए. याद ये भी रखा जाना चाहिए कि सोशल मीडिया के ट्रोल्स किसी के सगे नहीं होते. ये कोई नहीं होते जो दिलों में सबने वाले नेताओं को सही-ग़लत बताएं.

https://www.thelallantop.com/jhamajham/when-sushma-swaraj-was-trolled-by-bjp-supporters-after-she-helped-tanvi-seth-get-a-passport/

अगला लेख: आरती के दौरान स्वतः ही बदल गए माता रानी के चेहरे के हाव-भाव, देखे अद्भुत Video...



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
05 अगस्त 2019
नयी दिल्ली/श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 और 35A हटते ही रॉबर्ट वाड्रा एक्टिव मोड में आ गये हैं। इधर गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में ये एलान किया और उधर वाड्रा ने अपने ख़ास बंदों को ज़मीन देखने के लिए कश्मीर रवाना कर दिया और पीछे-पीछे ख़ुद भी निकल पड़े| कश्मीर में
05 अगस्त 2019
05 अगस्त 2019
लोकसभा के बाद अब गैर-कानूनी गतिविधि निवारण संशोधन (यूएपीए) विधेयक राज्यसभा में भी पारित हो गया है, जिसकी मदद से अब किसी भी व्यक्ति को आतंकी घोषित किया जा सकता है। इस बिल के पारित होने के समय जब संसद में अमित शाह अपनी बात रख रहे थे, तभी दिग्विजय सिंह ने इसका विरोध किया और
05 अगस्त 2019
07 अगस्त 2019
hindiwebhindiwebपृथ्वी पर तमाम ऐसे आश्चर्य मौजूद है ठीक ऐसा ही एक आश्चर्य कृष्णा की बटर बाल नाम की एक चट्टान भी है | यह पत्थर चेन्नई के महाबलीपुरम में स्थित है | यह विशालकाय चट्टान 45 डिग्री कोण पर बड़ी मजबूती से टिकी हुई है | हैरानी की बात यह है कि ढलान पर होने के बाद यह
07 अगस्त 2019
05 अगस्त 2019
लोकसभा के बाद अब गैर-कानूनी गतिविधि निवारण संशोधन (यूएपीए) विधेयक राज्यसभा में भी पारित हो गया है, जिसकी मदद से अब किसी भी व्यक्ति को आतंकी घोषित किया जा सकता है। इस बिल के पारित होने के समय जब संसद में अमित शाह अपनी बात रख रहे थे, तभी दिग्विजय सिंह ने इसका विरोध किया और
05 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
हम उनकी पॉलिटिक्स से सहमत या असहमत हो सकते हैं. मगर मौत को लेकर असंवेदनशील कैसे हो सकते हैं?पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की नेता सुषमा स्वराज का 6 अगस्त की रात दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. घबराहट होने की शिकायत के बाद उन्हें रात 9.26 बजे एम्स लाया गया. ले
08 अगस्त 2019
31 जुलाई 2019
जिम कॉर्बेट पार्क. डिस्कवरी चैनल के लोकप्रिय कार्यक्रम ‘Man vs Wild’ में प्रधानमंत्री मोदी, बेयर ग्रिल्स के साथ नज़र आने वाले हैं। वैसे तो इस एपिसोड का प्रसारण 12 अगस्त को किया जाएगा लेकिन फ़ेकिंग न्यूज़ को कुछ
31 जुलाई 2019
07 अगस्त 2019
जून 1975, इंदिरा गांधी इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के बाद बतौर सांसद अयोग्य ठहरा दी गई थीं. जयप्रकाश नारायण सम्पूर्ण क्रांति का नारा दे रहे थे. लेकिन किसी ने नहीं सोचा था कि घिरी हुई सरकार आपातकाल जैसा कदम उठा लेगी. 25 जून की रात उस समय विपक्ष का चेहरा रहे चंद्रशेखर नेपाल
07 अगस्त 2019
02 अगस्त 2019
दुनिया में बहुत सी अजीबोंगरीब चीजें होती हैं और इन चीजों में कभी कुछ फनी बातें हो जाती हैं तो कभी हजम ना करने वाली बात हो जाती है। मगर ऐसी ही हटके दिखने और सुनने वाली बातों की ही खबर बन जाती है। कुछ ऐसा ही हुआ पिछले दिनों झारखंड के धनबाद में जब वहां के एक मेडिकल कॉलेज
02 अगस्त 2019
05 अगस्त 2019
भारत देश में आपको जितने मंदिर देखने को मिलेंगे उतने शायद ही किसी दूसरी जगह होंगे. यहाँ भगवान को लेकर लोगो की आस्था काफी बड़ी हैं. दिलचस्प बात ये हैं कि जितने भी मंदिर बने हैं उन सभी की अपनी एक खासियत होती हैं. उनके पीछे कोई ना कोई चमत्कार या कहानी होती हैं. समय के साथ साथ
05 अगस्त 2019
07 अगस्त 2019
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अब हमारे बीच नहीं हैं. 67 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली. 6 अगस्त की रात उन्हें दिल का दौरा पड़ा, जिसके बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया. लाख कोशिश की गई, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. रात 9 बजे उन्होंने दम तोड़ दिया. पूरा देश
07 अगस्त 2019
06 अगस्त 2019
Senior BJP leader and former foreign minister Sushma Swaraj passed away a while ago at AIIMS on Tuesday. The BJP veteran, who suffered a massive heart attack, died at the age of 67. Her last Twitter post was about thanking Prime Minister Narendra Modi about the government’s move on Kashmir stating t
06 अगस्त 2019
07 अगस्त 2019
आज देश अपनी दमदार लीडर को खोने का गम मना रहा है और उनका नाम सुषमा स्वराज है जिनका निधन 7 अगस्त की शाम को दिल्ली के AIIMS अस्पताल में हो गया था। सुषमा स्वराज का नाम राजनीति में स्वर्णिम अक्षरों से लिखा जाएगा और भारतीय राजनीति के इतिहास में उनका योगदार अहम रहा है। सुषमा स्वराज हमेशा लोगों की मदद के लि
07 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x