15 August: भारत के अलावा ये 4 देश भी मनाते हैं आजादी का जश्न

12 अगस्त 2019   |  स्नेहा दुबे   (477 बार पढ़ा जा चुका है)

15 August: भारत के अलावा ये 4 देश भी मनाते हैं आजादी का जश्न

आजादी कौन नहीं चाहता....एक पक्षी भी पिंजड़े में फड़फड़ाता है क्योंकि उसे आजादी चाहिए होती है। जब बकरे को काटने के लिए ले जाते हैं तब भी आजादी की चाहत लिए बकरा चिल्लाता रहता है क्योंकि हम सभी जानते हैं कि आजादी है तो जीवन है वरना इंसान घुटने लगता है। मगर आज से करीब 73 साल पहले भारत देश गुलाम था अंग्रेजों का और उन्होंने करीब 200 सालों तक भारत पर राज किया। मगर जब हमारे देश में क्रांतिकारी आए और और धीर-धीरे इसका सैलाब आया फिर देश आजादी की ओर चल पड़ा। साल 1947 को ब्रिटिश ने मूल रूप से भारत को उसका देश वापस किया और वे इंग्लैंड लौट गए। उसके बाद से हर साल 15 अगस्त के दिन देश आजादी मनाता है और इस साल भारत अपनी आजादी के 72 साल पूरे लेगा। इस दिन को सभी धूमधाम से मनाते हैं लेकिन छुट्टी के रूप में और हो भी क्यों ना आखिर आजादी का मामला है। मगर क्या आप जानते हैं कि हमारा देश आजाद हुआ इसके साथ ही 4 और देश भी आजाद हुए थे।


भारत के अलावा 4 देश भी हुए आजाद


15 अगस्त

15 अगस्त का दिन भारत के लिए ऐतिहासिक है सिर्फ इसलिए नहीं कि हमारा देश आजाद हुआ था बल्कि इसलिए भी कि कुछ और भी देश हैं जो हमारे साथ जश्न मनाते हैं। 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस जिसे हर कोई अपनी-अपनी तरह से मनाने के लिए स्वतंत्र होते है मगर इसी में आपको ये भी जानना चाहिए कि आखिर वे कौन से देश हैं जो भारत के साथ ये जश्न मनाते हैं। हर देश के झंडेे अलग बने और हर कोई अपनी आजादी से खुश हुआ, हालांकि उस दौरान बहुत सी पॉलिटिकल पार्टीज

1. कॉन्गो- 15 अगस्त 1960 को फ्रांस से कॉन्गो आजाद हुआ था।

2. बहरीन- 15 अगस्त 1971 को बहरीन यूनाटेड किंगडम से आजाद हुआ था।

3. साउथ कोरिया- 15 अगस्त 1945 को जापान का पहला हिस्सा सुबह के समय साउथ कोरिया के रूप में हुआ था।

4. नॉर्थ कोरिया- 15 अगस्त 1945 को शाम के समय जापान से नॉर्थ कोरिया अलग हुआ था।


आजादी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें


15 अगस्त

1.भारत के स्वाधीनता आंदोलन का नेतृत्व करने में व्यस्त महात्मा गांधी आजादी के जश्न में शामिल नहीं हुए थे।

2.महात्मा गांधी आजादी वाले दिन दिल्ली से हजारों किलोमीटर दूर बंगाल के नोआखली में मौजूद थे। वहां वे हिंदुओं और मुस्लिों के बीच होने वाली सांप्रदायिक हिंसा को रोकने के लिए अनशन पर बैठे थे।

3. जब तय हुआ कि 15 अगस्त को आजादी मिलनी है तब नेहरू और सरदार वल्लभ भाई पटेल ने गांधी जी को पत्र लिखा। उसमें उन्होंने लिखा, 15 अगस्त हमारा पहला स्वाधीनता दिवस होने वाला है और राष्ट्रपिता होने के नाते आपको जश्न में आशीर्वाद देने के लिए आना होगा।'

4. गांधीजी ने इस पत्र के जवाब में लिखा था, ''जब कलकत्ता में हिंदु-मुस्लिम एक दूसरे की जान ले रहे हैं, ऐसे में मै जश्न मनाने के लिए कैसे आऊं, मैं दंगा रोकने के लिए अपनी जान दे दूंगा।''

5. जवाहर लाल नेहरू ने ऐतिहासिक भाषण ट्रिस्ट विद डेस्टनी 14 अगस्त की मध्यरात्रि को वायसराय लॉज से दिया था।

6. 15 अगस्त, 1947 को लॉर्ड माउंटबेटन ने अपने कार्यालय में काम किया और दोपहर के समय नेहरू ने अपने मंत्रिमंडल की लिस्ट उन्हें दी। इसके बाद इंडिया गेट के पास प्रिसेंज गार्डन ने एक सभा संबोधित की।

7. 15 अगस्त तक भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा रेखा निर्धारित नहीं हुई थी। इसका फैसला 17 अगस्त को रेडक्लिफ लाइन की घोषणा से हुआ था जो भारत और पाक की सीमाओं को निर्धारित करती थी।


15 अगस्त

8. 15 अगस्त को देश आजाद हो गया था लेकिन इसका अपना कोई राष्ट्रगान नहीं था। रवींद्रनाथ टैगोर ने 'जन-गण-मन' साल 1911 में लिख लिया था लेकिन इसे राष्ट्रगान साल 1950 में बनाया गया।

9. 15 अगस्त 1772 को ईस्ट इंडिया कंपनी ने अलग-अलग जिलों में अलग सिविल और आपराधिक अदालतों के गठन का फैसला लिया था।

10. 15 अगस्त, 1854 को ईस्ट इंडिया रेलवे ने कलकत्ता से हुगली तक पहली यात्री ट्रेन चलाई थी, हालांकि आधिकारिक तौर पर इसका संचालन साल 1855 को शुरु हुआ।

अगला लेख: राहुल गांधी को अपने नाम की वजह से ना सिम मिला ना लोन !



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 अगस्त 2019
जब कोई नई सरकार आती है तो जनता को उम्मीद हो जाती है कि ये सरकार उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेगी। उनके लिए सबसे भारी महंगाई को कुछ तो कम करेगी लेकिन जब ऐसा नहीं होता है तब जनता भड़क जाती है और यही सरकार को गिराने का असरदार काम करती है। अब मे
01 अगस्त 2019
01 अगस्त 2019
भोलेनाथ को प्रसन्न करने और उनकी पूजा करने के लिए श्रावण मास यानी सावन का महीना सबसे पावन माना जाता है। पूरे देश में 17 जुलाई से सावन का महीना मनाया जा रहा है और सभी भोलेनाथ के प्रति अपनी श्रद्धा भक्ति दिखाई है। 15 अगस्त को सावन का महीना खत्म होने वाला है और इसके पहले
01 अगस्त 2019
01 अगस्त 2019
भोलेनाथ को प्रसन्न करने और उनकी पूजा करने के लिए श्रावण मास यानी सावन का महीना सबसे पावन माना जाता है। पूरे देश में 17 जुलाई से सावन का महीना मनाया जा रहा है और सभी भोलेनाथ के प्रति अपनी श्रद्धा भक्ति दिखाई है। 15 अगस्त को सावन का महीना खत्म होने वाला है और इसके पहले
01 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
15 अगस्त, 1947 को भारत आजाद हुआ था जो पिछले 200 सालों से ब्रिटिश रूल का गुलाम बना बैठा था। ये लड़ाई साल 1857 से शुरु हुई और साल दर साल क्रांतिकारी पैदा होते चले गए। एक के बाद लोगों ने देश के नाम खुद को शहीद कर दिया लेकिन फिर भी आजादी हाथ नहीं आई। समय के साथ कई क्रांति
13 अगस्त 2019
18 अगस्त 2019
अखंडभारत की परिकल्पना हिंदुत्ववादी संघठन हर वक्त करते है तो सबसे पहले यह जानना ज़रूरी है कि अखंडभारत क्या है? अखंडभारत से मतलब है पाकिस्तान और बंगला देश ? नहीं इनकी सोच इससे भी आगे जाती है. अफगानिस्तान, पाकिस्तान, भारत, नेपाल, तिब्बत,
18 अगस्त 2019
07 अगस्त 2019
आज देश अपनी दमदार लीडर को खोने का गम मना रहा है और उनका नाम सुषमा स्वराज है जिनका निधन 7 अगस्त की शाम को दिल्ली के AIIMS अस्पताल में हो गया था। सुषमा स्वराज का नाम राजनीति में स्वर्णिम अक्षरों से लिखा जाएगा और भारतीय राजनीति के इतिहास में उनका योगदार अहम रहा है। सुषमा स्वराज हमेशा लोगों की मदद के लि
07 अगस्त 2019
05 अगस्त 2019
बहुत दिनों से जम्मू कश्मीर में हलचल थी और 10 हजार से ज्यादा लोगों को वहां पर तैनात कर दिया गया था क्योंकि हालात कभी भी बिगड़ सकते थे। कुछ भी हो सकता था और लोगों में एक डर का माहौल था लेकिन अब वो बातें खत्म हो चुकी हैं। केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को एक एतिहासिक फैसला लिया है और जिसमें जम्मू एंड कश्मीर स
05 अगस्त 2019
31 जुलाई 2019
Pratlipi एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां खुले विचारों से आप कुछ भी लिख सकते हैं। ये एक ऑनलाइन वेबसाइट है जहां पर आप किसी भी विषय पर लिखकर खुद पब्लिश कर सकते हैं। इसका मुख्यालय बैंगलुरू में है और इस वेबसाइट पर आ
31 जुलाई 2019
14 अगस्त 2019
15 अगस्त यानी भारत के आजाद होने का दिन, जब पूरा देश एक हो जाता है। हर किसी की देशभक्ति दिखती है और हर कोई आजादी के जश्न में डूब जाता है। इस साल आजादी और रक्षाबंधन का जश्न देश एक साथ ही मना रहा है। रक्षाबंधन का त्यौहार देश के लिए अहम है और इसे हर धर्म के लोग मनाने लगे हैं क्योकि धर्म चाहे जो भी हो ले
14 अगस्त 2019
14 अगस्त 2019
इस साल भारत अपनी आजादी के 73वें साल में कदम रखेगा और इसके साथ ही पूरे देश में लोगों ने 15 अगस्त की तैयारियां भी अपने स्कूल, दफ्तर और घरों में शुरु कर दी है। इस साल 15 अगस्त को ही रक्षा बंधन का पर्व पड़ने वाला है और ये वजह भी है जब पूरा देश इस दिन को धूमधाम से मनाने वाला है। हर कोई आजादी के जश्न में
14 अगस्त 2019
29 जुलाई 2019
विजय सोपा नाही
29 जुलाई 2019
01 अगस्त 2019
जब कोई नई सरकार आती है तो जनता को उम्मीद हो जाती है कि ये सरकार उनकी उम्मीदों पर खरा उतरेगी। उनके लिए सबसे भारी महंगाई को कुछ तो कम करेगी लेकिन जब ऐसा नहीं होता है तब जनता भड़क जाती है और यही सरकार को गिराने का असरदार काम करती है। अब मे
01 अगस्त 2019
31 जुलाई 2019
Pratlipi एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां खुले विचारों से आप कुछ भी लिख सकते हैं। ये एक ऑनलाइन वेबसाइट है जहां पर आप किसी भी विषय पर लिखकर खुद पब्लिश कर सकते हैं। इसका मुख्यालय बैंगलुरू में है और इस वेबसाइट पर आ
31 जुलाई 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x