नेत्रहीन पिता ने की आत्महत्या -सरकार का धार्मिक मुखौटा !

16 अगस्त 2019   |   भरत का भारत   (425 बार पढ़ा जा चुका है)

नेत्रहीन पिता ने की आत्महत्या -सरकार का धार्मिक मुखौटा !

राजस्थान के हरीश जाटव मॉब लिचिंग मामले में हरीश के पिता रत्तीराम जाटव ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली है. परिजनों का आरोप है कि मामले में न्याय नहीं मिलने के कारण रत्तीराम जाटव ने ये कदम उठाया. दरअसल राजस्थान के अलवर के भिवाड़ी के झिवाना गांव निवासी हरीश जाटव की मॉब लीचिंग में मौत हो गई थी. घटना 17 जुलाई की थी. परिजनों का आरोप है कि इस घटना के बाद भी पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया और आरोपी लगातार हरीश जाटव के परिवार को धमकी देते रहे. हरीश जाटव के अंधे गरीब दलित पिता लगातार न्याय की गुहार लगाते रहे लेकिन पुलिस ने कोई सुनवाई नहीं की. उधर आरोपी भी लगातार बेखौफ होकर घूम रहे थे जिससे परेशान होकर पिता ने आत्महत्या कर ली

मृतक रत्तीराम के बेटे दिनेश जाटव ने बताया कि उसके भाई को फालसा गांव में एक महिला से बाइक की टक्कर से मौत के बाद पीट- पीट कर घायल कर दिया गया था. इसके बाद उसकी दिल्ली के अस्पताल में ईलाज के दौरान मौत हो गई. अलवर पुलिस इस मामले को एक्सीडेंट का रूप देने में जुटी हुई थी. इसका विरोध होने पर आईजी के निर्देश पर 302 में हत्या का मामला दर्ज हुआ था और पुलिस की सिफारिश पर जिला प्रशासन ने मृतक के परिजनों को 4 लाख 12 हजार की सहायता राशि दी थी. यानी पुलिस ने अप्रत्यक्ष रूप से इसे मॉब लिंचिंग का मामला मान लिया था.

इसके बाद भी पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की ओर आरोपी पक्ष धमकी देकर रत्तीराम पर मुकदमा वापिस लेने का दबाव बनाता रहा . इसकी पुलिस से शिकायत भी की गई लेकिन पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की. इतना ही वो पीड़ित पक्ष को धमका पर भगा भी देती थी. मृतक रत्तीराम के पुत्र दिनेश जाटव ने कहा कि पुलिस उंसके भाई हरीश जाटव के हत्यारों के खिलाफ कार्यवाही करती तो आज उंसके पिता जिंदा होते.


अगला लेख: हिंदी लेखन का विस्तार ?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
03 अगस्त 2019
बीतें कुछ महीनों में देश की समरसिता व गंगा-जमुना तहज़ीव में कुछ चक्रवात उपस्तिथ हुए हैं । ये चक्रवात भिन्न-भिन्न छेत्र के महान धर्मनिर्पेक्ष-सेक्युलर-संविधानिक ब्रिटिश-इंडो इण्डियन द्वारा संचालित व प्रसारित कियें गये हैं। वर्तमान मीडिया संस्थानो ने इन चक्रवातों का नाम
03 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
समस्या ये है supreme court रामचरितमानस या अनन्य रामायणों के साक्ष्यों को प्रमाण नहीं मानती वही supreme कोर्ट २०१५ में जब बकरा-ईद की सुनवायी में कहती है कि ये रीति है जो हज़ार साल से चली आ रही है !जहाँ रामसेतु को congress सरकार ने ख़ुद court में कहा ऐसी कोई चीज़ है ही नहीं सेक्युलर लिबरल गैंग ने भी क
13 अगस्त 2019
03 अगस्त 2019
बीतें कुछ महीनों में देश की समरसिता व गंगा-जमुना तहज़ीव में कुछ चक्रवात उपस्तिथ हुए हैं । ये चक्रवात भिन्न-भिन्न छेत्र के महान धर्मनिर्पेक्ष-सेक्युलर-संविधानिक ब्रिटिश-इंडो इण्डियन द्वारा संचालित व प्रसारित कियें गये हैं। वर्तमान मीडिया संस्थानो ने इन चक्रवातों का नाम
03 अगस्त 2019
06 अगस्त 2019
शब्दों की कमी भाव को समझ जाइए । जय हिंद आत्मन: शांति भवति: भारत माँ की गोद में ॐ शांति शांति शांति !
06 अगस्त 2019
17 अगस्त 2019
15 अगस्त 1946 में मुस्लिम लीग के द्वारा ‘डायरेक्ट एक्शन डे’ की घोषणा कर दी गई. मुस्लिम लीग के इस एलान ने 16 अगस्त 1946 को कलकत्ता में भीषण दंगे का रूप ले लिया. हर तरफ खून की होली खेली जाने लगी. देखते ही देखते कलकत्ता का सांप्रदायिक दंगा बंगाल और बिहार की सीमा पर भी शुरू हो गया.इस सांप्रदायिक दंगे को
17 अगस्त 2019
18 अगस्त 2019
आज अगर कोई कहे कि घर में पूजा है, तो ये माना जा सकता है कि “सत्यनारायण कथा” होने वाली है। ऐसा हमेशा से नहीं था। दो सौ साल पहले के दौर में घरों में होने वाली पूजा में सत्यनारायण कथा सुनाया जाना उतना आम नहीं था। हरि विनायक ने कभी 1890 के आस-पास स्कन्द पुराण में मौजूद इस संस्कृत कहानी का जिस रूप में अन
18 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x