प्रियंका गांधी ने कांग्रेस की बैठक में कहा, 'पार्टी के हत्यारे इसी कमरे में बैठे हैं'

20 अगस्त 2019   |  अखिलेश ठाकुर   (3426 बार पढ़ा जा चुका है)

प्रियंका गांधी ने कांग्रेस की बैठक में कहा, 'पार्टी के हत्यारे इसी कमरे में बैठे हैं'

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद कांग्रेस में मंथन का दौर चालू है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपना इस्तीफ़ा कांग्रेस वर्किंग कमिटी यानी CWC को सौंप चुके हैं. कभी खबर आती है कि राहुल गांधी इस्तीफा वापस नहीं लेने पर अड़े हुए हैं. कभी खबर आती है कि वह इस पर नरम पड़ रहे हैं.

25 मई को हुई CWC की बैठक में प्रियंका गांधी के तेवर तल्ख़ रहे. समाचार एजेंसी यूनीवार्ता के मुताबिक प्रियंका गांधी ने बैठक में मौजूद कई नेताओं की तरफ इशारा करते हुए कहा कि पार्टी के हत्यारे इसी कमरे में बैठे हुए हैं.

priyanka

लोकसभा चुनाव में हुई कांग्रेस की हार के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की कार्यशैली पर सवाल खड़े हो रहे हैं. पार्टी के नेता बताते हैं कि प्रियंका गांधी का हत्यारे संबंधी बयान भी उन्हीं वरिष्ठ नेताओं को संबोधित था. इस बैठक में राहुल गांधी ने भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं द्वारा खुद के बेटों के लिए टिकट मांगने पर नाराजगी ज़ाहिर की थी.

राहुल गांधी इस बात से नाराज थे कि कुछ वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने अपने बेटों को लोकसभा चुनाव का टिकट देने के लिए पार्टी पर ज़रूरत से ज्यादा दबाव बनाया. टिकट दिए भी गए. बैठक में राहुल गांधी और प्रियंका की नाराज़गी का कारण वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं का यही व्यवहार रहा. राहुल गांधी ने कहा था कि इन नेताओं ने अपने हितों को पार्टी से ऊपर रखा.

पूरी बैठक के दौरान सोनिया गांधी चुपचाप बैठी रहीं. सूत्र बताते हैं कि वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ज़रूरी सहयोग और समर्थन नहीं दिया, इसके लिए भी गांधी परिवार ने बैठक में नाराज़गी ज़ाहिर की.

नतीजे आते ही राहुल गांधी की उम्मीदें धूमिल हो गईं.
चुनाव नतीजों के बाद राहुल गांधी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर संगठन फिर से बनाना चाहते हैं.

लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल गांधी ने खुद के इस्तीफे को लेकर कड़ा रुख अपनाया है. वे अध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा वापिस लेने को राज़ी नहीं हैं. CWC की बैठक में प्रियंका गांधी ने कहा कि राहुल को अपने इस्तीफे पर विचार के लिए एक महीने का समय दिया जाए.

सूत्र बताते हैं कि 28 मई को अशोक गहलोत, सचिन पायलट, रणदीप सुरजेवाला और ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी के महासचिव केसी वेणुगोपाल और अन्य कुछ वरिष्ठ कांग्रेसी नेता राहुल गांधी से मिलने उनके आवास पर पहुंचे. राहुल गांधी ने मिलने से मना कर दिया. पार्टी के कुछ नेता बताते हैं कि खुद बात करने के बजाय राहुल ने प्रियंका को बात करने के लिए भेज दिया.

कानपुर एयरपोर्ट पर राहुल और प्रियंका गांधी.
प्रियंका और राहुल गांधी

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक़ राहुल गांधी अपनी इस मांग पर अड़े हुए हैं कि कांग्रेस का अगला राष्ट्रीय अध्यक्ष गांधी परिवार से बाहर का सदस्य होना चाहिए. पार्टी के एक नेता बताते हैं कि राहुल गांधी ने बैठक में बाकायदा पुराना इतिहास गिनाया, जब कांग्रेस का अध्यक्ष नेहरू-गांधी परिवार के बाहर का होता था. राहुल गांधी नया पार्टी अध्यक्ष जल्द से जल्द चुनने पर जोर दे रहे हैं.

नया अध्यक्ष ढूंढने के लिए राहुल गांधी ने CWC को एक महीने का वक़्त दिया है, तब तक राहुल गांधी अध्यक्ष पद की जिम्मेदारियां पूरी करते रहेंगे. हालांकि कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेता राहुल गांधी को अध्यक्ष पद न छोड़ने के लिए मनाने में जुटे हुए हैं. राजद के नेता लालू यादव और डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन ने भी राहुल से इस्तीफा न देने की मांग की है.

समाचार एजेंसी यूएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में पी. चिदंबरम और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत चुपचाप बैठे हुए थे. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम ने तमिलनाडु की शिवगंगा सीट से जीत दर्ज की है. अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत जोधपुर सीट से चुनाव हार गए हैं. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ CWC की बैठक में शामिल नहीं हुए. उनके बेटे नकुलनाथ ने मध्य प्रदेश की छिंदवाड़ा सीट से जीत दर्ज की है.


https://www.thelallantop.com/news/cwc-meeting-priyanka-gandhi-lashes-out-over-veteran-congress-leaders-rahul-gandhi-stubborn-on-his-resignation/

प्रियंका गांधी ने कांग्रेस की बैठक में कहा, 'पार्टी के हत्यारे इसी कमरे में बैठे हैं'

अगला लेख: जन्माष्टमी पूजा: श्रीकृष्ण को प्रिय हैं ये 8 चीजें, इन्हें पूजा में अवश्य करे शामिल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
07 अगस्त 2019
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अब हमारे बीच नहीं हैं. 67 साल की उम्र में उन्होंने आखिरी सांस ली. 6 अगस्त की रात उन्हें दिल का दौरा पड़ा, जिसके बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया. लाख कोशिश की गई, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. रात 9 बजे उन्होंने दम तोड़ दिया. पूरा देश
07 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
रा
राजनैतिक पार्टियों का भविष्य. मैं कोई भविष्य वक्ता नहीं हूँ, पर विश्लेषण कर सकता हूँ. आने वाले दिनों में राजनैतिक दलों की क्या स्थिति रहेगी यह बता सकता हूँ. शुरुवात कांग्रेस से करता हूँ क्योकि वो सबसे पुरानी पार्टी और अब तक सब से ज्यादा वक्त तक राज करन
13 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x