जन्मदिन विशेष : इन बड़े कामों के जरिए राजीव गांधी ने बदली थी भारत की तस्वीर

20 अगस्त 2019   |  स्नेहा दुबे   (449 बार पढ़ा जा चुका है)

जन्मदिन विशेष : इन बड़े कामों के जरिए राजीव गांधी ने बदली थी भारत की तस्वीर

आजादी के बाद भारत में कई प्रधानमंत्री बने लेकिन कुछ ऐसे थे जिन्होंने देश की तरक्की के लिए बहुत से अच्छे काम करवाए। उन्हीं में से एक थे राजीव गांधी, जो देश के 7वें और सबसे कम उम्र में बनने वाले पहले प्रधानमंत्री थे। राजीव गांधी का व्यक्तित्व बेहद शानदार रहे और वे आम जनता के बीच जाकर उनकी परेशानियां सुनते और उन्हें ठीक करने की बात कहते थे। भारत को नई तकनीकियों से जोड़ने का काम सबसे पहले राजीव गांधी ने ही किया था और इस बात पर कायम रहते हुए उन्होंने कई ऐसे काम कराए भी लेकिन कम उम्र में ही उनके निधन की खबर आने से पूरी सत्ता सदमे में आ गई, आखिर उनकी मृत्यु अचानक हुई वो भी एक सभा को संबोधित करते हुए। राजीव गांधी ने देश के लिए जो भी किया उसके बारे में आपको पता होना चाहिए।


राजीव गांधी ने भारत को दी ये सौगातें


राजीव गांधी


20 अगस्त, 1944 को बॉम्बे प्रेसिडेंसी (अब मुंबई) में जन्में राजीव गांधी के पिता फिरोज गांधी और मां इंदिरा गांधी थीं। राजीव गांधी के छोटे भाई संजय गांधी थे और दोनों भाईयों ने कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व किया और इसमें कई उपलब्धियां प्राप्त की। इस साल राजीव गांधी की 75वीं जयंती है और अगर आज वे जिंदा होते तो शायद कांग्रेस की परिभाषा आज वो नहीं होती जो है। इनकी मां इंदिरा गांधी की हत्या के बाद इन्हं तत्कालीन प्रधानमंत्री बनाया गया और इन्होंने पीएम की शपथ ली। प्रधानमंत्री होने के नाते इन्होंने समाज के हित में कई काम किए और अपने कामों से देश की जनता के दिलों में उतर गए। युवा सोच रखने वाले राजीव गांधी को 21वीं सदी के भारत का निर्माता कहा जाता है और 40 सालल की उम्र में ही उन्होंने प्रधानमंत्री बनकर आधुनिक भारत की नींव रखी थी। चलिए आपको उनके कुछ अहम कामो के बारे में बताते हैं।


कंप्यूटर क्रांति


राजीव गांधी


राजीव गांधी को भारत में कंप्यूटर क्रांति लाने का श्रेय दिया जाता है. उन्होंने ना सिर्फ कंप्यूटर को भारत के घरों तक पहुंचाया बल्कि इन्फॉर्मेशन क्षेत्र में भी टेक्नोलॉजी को आगे ले जाने में अहम योगदान दिया था. देश की दो बड़ी टेलिकॉम कंपनियां एमटीएनएल और बीएसएनएल की शुरुआत भी इन्ही के कार्यकाल के दौरान हुई थी। जानकारी के लिए बता दें, दुनिया को पहला कंप्यूटर साल 1940 के आखिर में मिला, लेकिन भारत ने पहली बार 1956 में कंप्यूटर खरीदा गया था। तब इसकी कीमत 10 लाख रुपये थी और इसका नाम HEC-2M था. सबसे पहले इसे कोलकाता के इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टिट्यूट में इंस्टॉल किया गया था और तब के कंप्यूटर आज जैसे बिल्कुल नहीं होते थे।


वोट देने की उम्र सीमा


राजीव गांधी


पहले के समय में 21 साल की उम्र में लोग वोट देते थे। तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के कार्यकाल में वोट देने की उम्र को घटाकर 18 साल की गई। 18 साल की उम्र में युवाओं को मताधिकार देकर उन्हें देश के प्रति जिम्मेदार और सशक्त बनाने की पहल की थी।साल 1989 में संविधान के 61वें संशोधन के जरिए वोट देने की उम्र सीमा 21 से 18 की गई थी और इसके बाद 18 साल के करोड़ो युवा भी सांसद, विधायक से लेकर कई कामों में भागीदार बने।


दूरसंचार क्रांति


राजीव गांधी


राजीव गांधी ने भारत में दूरसंचार क्रांति लेकर आए थे। आज जिस डिजिटल भारत की बात की जाती है उसकी संकल्पना राजीव गांधी ने अपने जमाने में शुरु कर दी थी। उन्हें डिजिटल इंडिया का आर्किटेक्ट और सूचना तकनीक और दूरसंचार क्रांति का जनक कहा जाता था और इनकी पहल अगस्त, 1984 में भारतीय दूरसंचार नेटवर्क की स्थापना के लिे सेंटर पार डेवलपमेंट ऑ टेलीमेटिक्स की स्थापना की थी।


पंचायतों में किया खास काम


राजीव गांधी


पंचायतीराज से जुड़े संस्थाएं मजबूती के साथ विकास कार्य कर पाएं इस सोच के साथ राजीव गांधी ने देश में पंचायतीराज व्यवस्था को सशक्त बनाने का काम शुरु किया था। राजीव गांधी का ऐसा मानना था कि जब तक पंचायती राज व्यवस्था सबल नहीं होगी, तब तक निचले स्तर तक लोकतंत्र नहीं पहुंच सकता। उन्होंने अपने कार्यकाल में पंचायतीराज व्यवस्था के लिए कई काम किए।


नवोदय विद्यालय


राजीव गांधी


गांवों के बच्चों को भी अच्छी शिक्षा मिले इस सोच को आगे बढ़ाते हुए राजीव गांधी ने जवाहर नवोदय विद्यालय बनवाए। ये आवासीय विद्यालय है, यहां अगर प्रवेश परीक्षा सफल हो गई तो ही स्कूल में प्रवेश मिलता है और बच्चों को 6 से 12वीं तक की पढ़ाई मुफ्त में कराई जाती है। यहां पर हॉस्टल में रहने की सुविधा के साथ फ्री में खाना भी मिलता है।

अगला लेख: पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस से सचिन तेंदुलकर का है गहरा नाता, इस तरह बताया वो हैं 'क्रिकेट के भगवान'



ये बात जितनी जल्दी भारत के अंध भक्तों की समझ में आ जाएगी, देश का उतनी जल्दी कल्याण हो जाएगा.

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 अगस्त 2019
भारत में बहुत सारी ऐसी चीजें होती हैं जिनके बारे में आमतौर पर लोग समाज में बात करना पसंद नहीं करते हैं। जिसमें सेक्स, माहवारी और भी कुछ बातें होती हैं लेकिन असल में हम सबको इन्ही सबके बारे में बात करनी चाहिए, अगर इसमें कोई परेशानी है तो, खुलकर अपने दोस्तों ,पार्टनर और डॉक्टर्स से बात करें। इनमें सबस
13 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
भारत में हर तरह की बातें होती हैं लेकिन महिलाओं को लेकर सुरक्षा का मामला बिल्कुल सीरियसली नहीं लिया जाता। यहां पर मां-बहन की गालियां देकर लोग इसमें अपनी वाहवाही समझते हैं जबकि वो लोग नहीं जानते हैं वे अपने ही घरवालों का समाज में मजाक बनवा रहे हैं। भारत की महिलाएं सुरक
08 अगस्त 2019
19 अगस्त 2019
भारत और पाकिस्तान का रिश्ता बहुत अजीब है, कहने को हम पड़ोसी हैं लेकिन ना हम इस देश को पसंद करते हैं ना वो देश हमारे देश को कुछ मानता है. इस वजह से दोनों देशों की आम जनता भी एक-दूसरे से नफरत करते हैं। भारत और पाकिस्तान आमने सामने या तो जंग के मैदान में आते हैं या फिर क
19 अगस्त 2019
14 अगस्त 2019
15 अगस्त यानी भारत के आजाद होने का दिन, जब पूरा देश एक हो जाता है। हर किसी की देशभक्ति दिखती है और हर कोई आजादी के जश्न में डूब जाता है। इस साल आजादी और रक्षाबंधन का जश्न देश एक साथ ही मना रहा है। रक्षाबंधन का त्यौहार देश के लिए अहम है और इसे हर धर्म के लोग मनाने लगे हैं क्योकि धर्म चाहे जो भी हो ले
14 अगस्त 2019
07 अगस्त 2019
आज देश अपनी दमदार लीडर को खोने का गम मना रहा है और उनका नाम सुषमा स्वराज है जिनका निधन 7 अगस्त की शाम को दिल्ली के AIIMS अस्पताल में हो गया था। सुषमा स्वराज का नाम राजनीति में स्वर्णिम अक्षरों से लिखा जाएगा और भारतीय राजनीति के इतिहास में उनका योगदार अहम रहा है। सुषमा स्वराज हमेशा लोगों की मदद के लि
07 अगस्त 2019
12 अगस्त 2019
साल 2014 में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद देश के लोगों ने इसके नेतृत्व करने वाले नरेंद्र मोदी को मान लिया था। इसके 5 सालों के बाद लोकसभा चुनाव-2019 में भी उससे ज्यादा वोट्स से जीत हासिल करने के बाद लोगों को लग गया कि अब कुछ भी हो जाए लेकिन नरेंद्र मोदी में कुछ बात तो है जिससे जनता इनसे आसानी से कनेक्ट
12 अगस्त 2019
19 अगस्त 2019
अक्सर लोग इंसान की खूबसूरती उनके चेहरे में ढूंढते हैं जबकि जो दिल से खूबसूरत होते हैं वे ही असली खूबसूरती होती है। मगर जो सूरत और सीरत दोनों से खूबसूरत होते हैं उनका कोई जवाब नहीं होता है। हम बात बीजेपी के उस सांसद की कर रहे हैं जिसने धारा 370 हटने के विरोध में खड़े लोगों को ऐसी लताड़ लगाई है कि वे
19 अगस्त 2019
16 अगस्त 2019
भारत बलिदानों का देश यूहीं नहीं कहा जाता है, यहां पर ना जाने कितने वीरों ने अपनी जान दे दी आजादी के लिए और जब आजादी हुई तो पड़ोसी देश के हमलों से ही ना जाने कितने वीरों की जान चली गई। हमारे देश के जवानों मे यही खासियत है कि वे आखिरी समय तक डटे रहते हैं और भले अपनी जान खत्म कर दें लेकिन भारत पर आंच न
16 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
आज के समय में युवाओं को किसी भी सरकारी विभाग में कोई भी पद पर नौकरी मिल जाए तो ये उनके लिए सौभाग्य की बात हो जाती है। अगर ये नौकरी बैंक की हो जाए तो पांचों उंगलियां घी में और सिर कढ़ाई में वाली कहावत लागू हो जाती है। बैंक की नौकरी का समय सबसे सूटेबल और आरामदायक होता है तभी लोग दिन रात पढ़कर बैंक की
13 अगस्त 2019
06 अगस्त 2019
गा
गाँधी जी जो लोकतन्त्र और प्रजातन्त्र के लिए लड़ रहे थे , वही गाँधी जी राम राज्य की बात भी कर रहे थे? गांधीजी हिन्दुराष्ट्र के विरोधी थे, लेकिन बात रामराज्य की करते थे एक राजतंत्र की. गीता पढ़ते थे, गीता में विश्वास रखते थे, पर युद्ध
06 अगस्त 2019
02 सितम्बर 2019
देशभर में गणेश चतुर्थी की धूम है और ज्यादातर घरों में बप्पा को स्थापित कर दिया गया है। हर कोई खुश है और हर किसी के मन में एक ही आस्था है कि गणेश जी घर आए हैं तो कुछ अच्छा ही करते हुए जाएंगे। कुछ लोग 3 दिन, कुछ 5, कुछ 7 तो कुछ लोग 10 दिनों के लिए घर में मूर्ति स्थापित
02 सितम्बर 2019
05 अगस्त 2019
बहुत दिनों से जम्मू कश्मीर में हलचल थी और 10 हजार से ज्यादा लोगों को वहां पर तैनात कर दिया गया था क्योंकि हालात कभी भी बिगड़ सकते थे। कुछ भी हो सकता था और लोगों में एक डर का माहौल था लेकिन अब वो बातें खत्म हो चुकी हैं। केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को एक एतिहासिक फैसला लिया है और जिसमें जम्मू एंड कश्मीर स
05 अगस्त 2019
14 अगस्त 2019
आज के समय में सोशल मीडिया एक ऐसी ताकत है जहां हर कोई फेमस हो सकता है और आप किसी का भी पर्दाफाश कर सकते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ स्टेशन पर गाने वाली एक गरीब महिला के साथ जो पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इनकी आवाज लता मंगेशकर से मिलाकर बताई जा रही है और इनके गाने के एक नहीं ना जाने कित
14 अगस्त 2019
08 अगस्त 2019
भारत में हर तरह की बातें होती हैं लेकिन महिलाओं को लेकर सुरक्षा का मामला बिल्कुल सीरियसली नहीं लिया जाता। यहां पर मां-बहन की गालियां देकर लोग इसमें अपनी वाहवाही समझते हैं जबकि वो लोग नहीं जानते हैं वे अपने ही घरवालों का समाज में मजाक बनवा रहे हैं। भारत की महिलाएं सुरक
08 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
15 अगस्त, 1947 को भारत आजाद हुआ था जो पिछले 200 सालों से ब्रिटिश रूल का गुलाम बना बैठा था। ये लड़ाई साल 1857 से शुरु हुई और साल दर साल क्रांतिकारी पैदा होते चले गए। एक के बाद लोगों ने देश के नाम खुद को शहीद कर दिया लेकिन फिर भी आजादी हाथ नहीं आई। समय के साथ कई क्रांति
13 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x