इतिहास से जुड़ी हुई कुछ ऐसी तस्वीरें जिन्हें देखकर दुख और पीड़ा का एहसास होता है

21 अगस्त 2019   |  अखिलेश ठाकुर   (485 बार पढ़ा जा चुका है)

इतिहास से जुड़ी हुई कुछ ऐसी तस्वीरें जिन्हें देखकर दुख और पीड़ा का एहसास होता है

प्राचीन समय में मनोरंजन के बहुत कम साधन उपलब्ध थे। अमीर और राजा महाराजा अपने मनोरंजन के लिए अक्सर शिकार पर जाते थे। तब विशाल जंगल मौजूद थे जिसमें लाखों जानवर रहते थे। बड़ी संख्या में शेर और बाघ भी मौजूद थे।

इतिहास से जुड़ी हुई कुछ ऐसी तस्वीरें जिन्हें देखकर दुख और पीड़ा का एहसास होता है

Third party image reference

Third party image reference

वैसे तो लगभग सभी जानवरों का शिकार किया जाता था परंतु राजा महाराजाओं का पसंदीदा शिकार बाघ हुआ करता था। बाघ जंगल का सबसे ताकतवर जानवर था शायद इसीलिए बाघ को मारा जाता था।

Third party image reference

शिकारी मरे हुए बाग के साथ फोटो खींचता था और इसे दूसरों को भी दिखाना पसंद करता था। इसी तरह से लाखो जानवरों का शिकार किया गया क्योंकि उस दौर में जानवरों के प्रति सहानुभूति रखने वाले लोग बहुत कम थे।

Third party image reference

शिकार करने का यह दौर लगभग 2000 साल लंबा था। अंग्रेजों के काल में भी शिकार जारी रहा। इन 2000 सालों में हजारों की संख्या में बाघों को मौत के घाट उतार दिया गया और ना जाने कितने शेर, चीता और तेंदुए भी राजा महाराजाओं के इस शौक के शिकार बन गए।

Third party image reference

भारत आजाद हुआ तो बाघों की घटती संख्या ने सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। भारत सरकार ने सबसे पहले बाघों के शिकार पर पाबंदी लगाई। हालांकि यह पाबंदी सिर्फ नाम मात्र के लिए थी। क्योंकि अगले 30 सालों तक बाघों का शिकार खुलेआम होता रहा।

Third party image reference

Third party image reference

आज भारत के जंगलों में लगभग 1200 बाघ ही बचे हैं। अच्छी बात यह है कि इनकी संख्या बढ़ रही है हालांकि बाघों की संख्या बहुत धीमी गति से बढ़ती है।

जो हम गवा चुके हैं उसे वापस पाना मुमकिन नहीं है। लेकिन जितने जानवर जंगलों में हैं उनकी सुरक्षा हमारे हाथ में है।


Third party image reference


https://www.ucnews.in/news/%E0%A4%87%E0%A4%A4%E0%A4%BF%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%B8-%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%9C%E0%A5%81%E0%A4%A1%E0%A4%BC%E0%A5%80-%E0%A4%B9%E0%A5%81%E0%A4%88-%E0%A4%95%E0%A5%81%E0%A4%9B-%E0%A4%90%E0%A4%B8%E0%A5%80-%E0%A4%A4%E0%A4%B8%E0%A5%8D%E0%A4%B5%E0%A5%80%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%9C%E0%A4%BF%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%B9%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%A6%E0%A5%87%E0%A4%96%E0%A4%95%E0%A4%B0-%E0%A4%A6%E0%A5%81%E0%A4%96-%E0%A4%94%E0%A4%B0-%E0%A4%AA%E0%A5%80%E0%A4%A1%E0%A4%BC%E0%A4%BE-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%8F%E0%A4%B9%E0%A4%B8%E0%A4%BE%E0%A4%B8-%E0%A4%B9%E0%A5%8B%E0%A4%A4%E0%A4%BE-%E0%A4%B9%E0%A5%88/365114276056692.html

अगला लेख: जन्माष्टमी पूजा: श्रीकृष्ण को प्रिय हैं ये 8 चीजें, इन्हें पूजा में अवश्य करे शामिल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 अगस्त 2019
टेलीकॉम मार्केट में रिलायंस जियो ने मुफ्त इंटरनेट और कॉलिंग की पहल की और तकरीबन 6 महीने तक फ्री कॉम्प्लीमेंट्री सेवा दी. इसके बाद ग्राहकों के मन में शंका थी कि, जियो भी बाकि कंपनियों की तरह महंगे रिचार्ज उपलब्ध कराकर फ्री ऑफर्स के पैसे वसूल लेगी. लेकिन जियो ने ग्राहकों को
06 अगस्त 2019
28 अगस्त 2019
साल 2015 में आई फिल्म बाहुबली ने देशभर में तहलका मचा दिया और फिल्म के क्लाइमैक्स में लोगों के लिए एक सस्पेंस छोड़ दिया कि कटप्पा ने बाहुबली को क्यो मारा ? साल 2017 में इस फिल्म का दूसरा पार्ट आया और फिर सारे कंफ्यूजन दूर हुए। दोनों फिल्मों का बजट लगभग 450 करोड़ था और
28 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x