ये 16 अटपटी तस्वीरें साबित करती हैं कि खाली दिमाग शैतान का घर होता है, देखिए

21 अगस्त 2019   |  स्नेहा दुबे   (517 बार पढ़ा जा चुका है)

ये 16 अटपटी तस्वीरें साबित करती हैं कि खाली दिमाग शैतान का घर होता है, देखिए

दुनिया में बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो अतरंगी काम करके लोगों की नजरों में आना पसंद करते हैं। कोई अजीब सा घर बनाता है तो कोई अजीब सी हरकतें करता है। यहां हम आपको कुछ ऐसी तस्वीरें दिखाएंगे जिन्हें देखने के बाद आपको यही लगेगा आखिर ये बनाने वाला है कहां ? ये तस्वीरें आपको हैरान करने के साथ ही आपकी हंसी भी निकलवा सकती है। इन तस्वीरों में बनी सीढियां आपका दिमाग चकरा जाएगा। ये सीढियां डिजाइन करने वाला पता नहीं क्या सोच रहा होगा और ऐसी सीढियो के बनने के बाद उसके भी हाथ ही कटवाने देने चाहिए। खैर आप देखिए वे तस्वीरें लेकिन अगर बुद्धि घूम जाए तो हमें मत कहिएगा।


अटपटी तस्वीरों में घूमेगा दिमाग


सीढ़ी घर की हो या सांप-सीढ़ी की दोनों ही मंजिल पर पहुंचाने का काम करती है लेकिन कुछ महान लोगों ने ऐसी सीढ़ियां बनाई हैं जिन्हें देखकर आपको दूसरी मंजिल से ही कूदने पर मजबूर कर सकती है। अगर आपको लगता है कि ऐसा कैसे हो सकता है तो आप भी देख लीजिए ये तस्वीरें..


अटपटी तस्वीर


इस तस्वीर को देखकर आपको यही लगेगा कि डिजाइन तो अच्छी बनाई लेकिन कहीं कुछ कमी रह गई।


अटपटी तस्वीर


इस तस्वीर को देखने के बाद आप इन सीढ़ियों पर चढ़ना पसंद करेंगे ?


अटपटी तस्वीर


इन सीढ़ियों को बनाने वालों को 21 तोपों की सलामी वो भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मिलना चाहिए।


अटपटी तस्वीर


अजीब भूलभुलैया है भाई......आपको उतरते हुए चक्कर आए तो हमें मत कहिएगा...


अटपटी तस्वीर


सीढ़ी के साथ ये डिजाइन आपको भारत में शायद ही कहीं मिले लेकिन विदेशों में आपको ऐसा कुछ अनोखा जरूर देखने को मिल सकता है।


अटपटी तस्वीर


सीढ़ियों की ये नई डिजाइन आपको जरूर पसंद आएगी। इसकी खासियत आपको देखने पर पता चलेगी।


अटपटी तस्वीर


इस सीढ़ी को चढ़ने में पहले तो आप घबरा जाओगे लेकिन अगर सर्कस की जरा भी टेक्नीक आती है तो चढ़ जाओ..


अटपटी तस्वीर


इस सीढ़ी की भी अजीब कारीगरी है, ये भी पूरी सीधी सीढ़ी है जिसे देखने पर ही चक्कर जैसा आने लग सकता है।


अटपटी तस्वीर


ये क्या मांझरा है भाई, ये सीढ़ी बनाई क्यों गई है ??


अटपटी तस्वीर


अजीब कारीगरी है भाई...कैसे कोई चढ़ेगा और कैसे कोई उतरेगा ?


अटपटी तस्वीर


वाह.....क्या सीढ़ी नबी है, इसे आप चढ़ तो सकते हैं लेकिन इसे पार कोई प्रेत-आत्मा ही कर सकती है। शायद ये उनके लिए ही बनाए गए हैं।


अटपटी तस्वीर

ये किसी की तस्वीर या पेंटिंग नहीं है बल्कि ये सीढ़ी है और इसे एक मॉल के बाहरी जगह पर बनाई गई है।


अटपटी तस्वीर


आप जो इस तस्वीर में देख रहे हैं ये कोई कारपेट नहीं बल्कि सीढियां है। जो कभी आपके पैरों के नीचे आ गई तो बहुत सावधानी के साथ उतरना होगा।


अटपटी तस्वीर


ये सीढ़ी आपको कुछ हद तक ठीक लग सकती है, मगर फिर भी अजीब ही है।


अटपटी तस्वीर


अब भाई इस सीढ़ी पर चढ़ा कैसे जाएगा, जिसका कमरा या ऑफिस ऊपर हो वो तो नीचे से ही वापस चला जाएगा।


अटपटी तस्वीर


वाह....इसे आप किस तरह समझेंगे वो आपके ऊपर है क्योंकि हम इसपर कुछ कह नहीं पाएंगे।

अगला लेख: दुश्मन देश पाकिस्तान में गाना मीका सिंह के लिए बनी मुसीबत, AICWA ने किया बहिष्कार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
12 अगस्त 2019
साल 2014 में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद देश के लोगों ने इसके नेतृत्व करने वाले नरेंद्र मोदी को मान लिया था। इसके 5 सालों के बाद लोकसभा चुनाव-2019 में भी उससे ज्यादा वोट्स से जीत हासिल करने के बाद लोगों को लग गया कि अब कुछ भी हो जाए लेकिन नरेंद्र मोदी में कुछ बात तो है जिससे जनता इनसे आसानी से कनेक्ट
12 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
15 अगस्त, 1947 को भारत आजाद हुआ था जो पिछले 200 सालों से ब्रिटिश रूल का गुलाम बना बैठा था। ये लड़ाई साल 1857 से शुरु हुई और साल दर साल क्रांतिकारी पैदा होते चले गए। एक के बाद लोगों ने देश के नाम खुद को शहीद कर दिया लेकिन फिर भी आजादी हाथ नहीं आई। समय के साथ कई क्रांति
13 अगस्त 2019
14 अगस्त 2019
15 अगस्त यानी भारत के आजाद होने का दिन, जब पूरा देश एक हो जाता है। हर किसी की देशभक्ति दिखती है और हर कोई आजादी के जश्न में डूब जाता है। इस साल आजादी और रक्षाबंधन का जश्न देश एक साथ ही मना रहा है। रक्षाबंधन का त्यौहार देश के लिए अहम है और इसे हर धर्म के लोग मनाने लगे हैं क्योकि धर्म चाहे जो भी हो ले
14 अगस्त 2019
12 अगस्त 2019
साल 2014 में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद देश के लोगों ने इसके नेतृत्व करने वाले नरेंद्र मोदी को मान लिया था। इसके 5 सालों के बाद लोकसभा चुनाव-2019 में भी उससे ज्यादा वोट्स से जीत हासिल करने के बाद लोगों को लग गया कि अब कुछ भी हो जाए लेकिन नरेंद्र मोदी में कुछ बात तो है जिससे जनता इनसे आसानी से कनेक्ट
12 अगस्त 2019
16 अगस्त 2019
अटल बिहारी बाजपेयी..राजनीति का एक ऐसा चेहरा जिसकी जगह शायद ही कोई ले पाए। जिन्होंने सोचा तो पत्रकार बनने का था लेकिन आ राजनीति में गए थे। इस वजह से वे पत्रकारों का बहुत सम्मान करते थे और उनसे कहते थे 'जो मैं करना चाहता था वो आप लोग कर रहे हैं।' अटल बिहारी बाजपेयी 16 अगस्त, 2018 को लंबे समय से बीमारी
16 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
15 अगस्त, 1947 को भारत आजाद हुआ था जो पिछले 200 सालों से ब्रिटिश रूल का गुलाम बना बैठा था। ये लड़ाई साल 1857 से शुरु हुई और साल दर साल क्रांतिकारी पैदा होते चले गए। एक के बाद लोगों ने देश के नाम खुद को शहीद कर दिया लेकिन फिर भी आजादी हाथ नहीं आई। समय के साथ कई क्रांति
13 अगस्त 2019
14 अगस्त 2019
आज के समय में सोशल मीडिया एक ऐसी ताकत है जहां हर कोई फेमस हो सकता है और आप किसी का भी पर्दाफाश कर सकते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ स्टेशन पर गाने वाली एक गरीब महिला के साथ जो पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इनकी आवाज लता मंगेशकर से मिलाकर बताई जा रही है और इनके गाने के एक नहीं ना जाने कित
14 अगस्त 2019
12 अगस्त 2019
आजादी कौन नहीं चाहता....एक पक्षी भी पिंजड़े में फड़फड़ाता है क्योंकि उसे आजादी चाहिए होती है। जब बकरे को काटने के लिए ले जाते हैं तब भी आजादी की चाहत लिए बकरा चिल्लाता रहता है क्योंकि हम सभी जानते हैं कि आजादी है तो जीवन है वरना इंसान घुटने लगता है। मगर आज से करीब 73 साल पहले भारत देश गुलाम था अंग्र
12 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x