इस जीवन को

24 अगस्त 2019   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (3621 बार पढ़ा जा चुका है)

इस जीवन को

आज भगवान् श्री कृष्ण का जन्म महोत्सव है | देश के सभी मन्दिर और भगवान् की मूर्तियों को सजाकर झूले लगाए गए हैं | न जाने क्यों, इस अवसर पर अपनी एक पुरानी रचना यहाँ प्रस्तुत कर रहे हैं, क्योंकि हमारे विचार से मानव में ही समस्त चराचर का साथी बन जाने की अपार सम्भावनाएँ निहित हैं, और यही युग प्रवर्तक परम पुरुष भगवान श्री कृष्ण के महान चरित्र और उपदेशों का सार भी है…

इस जीवन को मैं केवल सपना क्यों समझूँ,
हर भोर उषा की किरण जगाती है मुझको |
हर शाम निशा की बाहों में मुस्काता है
चंदा, तब मादकता छा जाती है मुझको ||
हो समझ रहा कोई, जग मिथ्या छाया है
है सत्य एक बस ब्रह्म, और सब माया है |
पर मैं इस जग को केवल भ्रम कैसे समझूँ
क्षण क्षण कण कण है आकर्षित करता मुझको ||
कल कल छल छल स्वर में गाती है जब नदिया
प्राणों की पायल तब करती ता ता थैया |
पर्वत की ऊँची छोटी चढ़ थकती आँखें
तब मधुर कल्पना कर जाती मोहित मुझको ||
जब कोई भूखा नंगा मिल जाता पथ पर
लगता, खुद ब्रह्म खोजता है मरघट भू पर |
चंचल शिशु तुतलाए नैनों मुझको पढ़ता
जग का नश्वर बन्धन महान लगता मुझको ||
क्या ब्रह्म कभी साथी बन पाया है नर का ?
क्या देख भूख का ताण्डव मन रोया उसका ?
मैं इसी हेतु निज शीश झुकाती मानव को
वह सकल चराचर का साथी लगता मुझको ||

अगला लेख: शुक्र का कन्या में गोचर



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
07 सितम्बर 2019
शुक्र का कन्या में गोचर मंगलवार नौ सितम्बर भाद्रपद शुक्लद्वादशी को 25:41 (अर्द्धरात्र्योत्तर एक बजकर इकतालीस मिनट के लगभग) बव करण और शोभनयोग में समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख, कला, शिल्प, सौन्दर्य, बौद्धिकता, राजनीतितथा समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि आदि का कारकशुक्र शत्रु ग्रह स
07 सितम्बर 2019
14 अगस्त 2019
स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बन्धनअभी बारह अगस्त को भाईचारे के प्रतीक ईद कात्यौहार सारे देश ने हर्षोल्लास के साथ मनाया, और अब कल समूचे देश के लिए एक और बहुत ही उत्साह का दिन है |कल एक ओर पन्द्रह अगस्त को सारा देश आज़ादी की तिहत्तरवीं सालगिरह मनाएगा तो कल ही भाईबहन के पावन प्रेम का प्रतीक रक्षा बन्धन का उ
14 अगस्त 2019
18 अगस्त 2019
19 से 25 अगस्त 2019 तक का साप्ताहिक राशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर
18 अगस्त 2019
03 सितम्बर 2019
पर्यूषण पर्व - दशलाक्षण पर्वमित्रों !भाद्रपद कृष्ण द्वादशी से भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी तक चलने वाला श्वेताम्बर जैनसम्प्रदाय का अष्टदिवसीय पर्यूषण पर्व कल संपन्न हुआ है और आज यानी भाद्रपद शुक्लपञ्चमी से दिगंबर जैन सम्प्रदाय के दशदिवसीय पर्यूषण पर्व अर्थात क्षमावाणी पर्व औरदशलाक्षण पर्व का आरम्भ हो चुका
03 सितम्बर 2019
09 अगस्त 2019
रि
यूं रिश्तों में समझौते का पेवंद लगा कर उसे कब तक जोड़ा जाए क्यों ना ज़बरदस्ती वाले रिश्तों की गांठों को आज़ाद किया जाए घुटन में रहने से तो बेहतर है आज़ाद फ़िज़ा में सांस ली जाए क़समों , वादों में उलझी हुई दुनिया से अब क्यों ना चलो किनारा किया जाए अश्मीरा 8/8/19 11:30 am
09 अगस्त 2019
01 सितम्बर 2019
2 से 8 सितम्बर 2019 तक का साप्ताहिक राशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर
01 सितम्बर 2019
26 अगस्त 2019
"भारतीय शौर्य गाथा" - कश्मीर - युद्ध की पृष्ठ्भूमि पर आधारित प्रबंध-काव्यरचयिता - स्व. श्री दया शंकर द्विवेदी सम्पादक - श्रीमति आशा त्रिपाठी "क्षमा"
26 अगस्त 2019
25 अगस्त 2019
मं
ख्वाहिशों की मंज़िल बहुत मुश्किल हैं हिम्मत के रास्ते से चलना हैं रहे कुले हैं बस आज़माने की देरी हैं
25 अगस्त 2019
13 अगस्त 2019
शुक्र का सिंह में गोचर शुक्रवार सोलह अगस्त यानी भाद्रपदकृष्ण द्वितीया को तैतिल करण और अतिगण्ड योग में रात्रि आठ बजकर चालीस मिनट केलगभग समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख, कला, शिल्प, सौन्दर्य, बौद्धिकता, राजनीतितथा समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि आदि के कारकशुक्र का अपने शत्रु ग्रह सूर
13 अगस्त 2019
09 अगस्त 2019
सुनो मेघदूत!सुनो मेघदूत!अब तुम्हें संदेश कैसे सौंप दूँ, अल्ट्रा मॉडर्न तकनीकी से, गूँथा गया गगन, ग़ैरत का गुनाहगार है अब, राज़-ए-मोहब्बत हैक हो रहे हैं!हिज्र की दिलदारियाँ, ख़ामोशी के शोख़ नग़्मे, अश्क में भीगा गुल-ए-तमन्ना, फ़स्ल-ए-बहार में, धड़कते दिल की आरज़ू, नभ की नीरस निर्मम नीरवता-से अरमान, मुरादों
09 अगस्त 2019
28 अगस्त 2019
नित नए परिचय ओं के बाद भी... हम अपने ही स्वजनों से अपरिचित हैं... पास की बाधाओं से अनभिज्ञ, दूर की बाधाओं से आशंकित! हम समय को अपनी आवश्यकताओं का पुलिंदा बनाते जा रहे हैं.... हम उसे खोलते हुए डरते हैं लेकिन एक दिन अपने आप ही खुल जाएगा.... उसे देख हम अपने आप को पहचान लेंगे
28 अगस्त 2019
25 अगस्त 2019
दि
जो लफ़्ज़ों से होती नहीं बयान उन्हें आँखे जाती हैं आंखो से नहीं पद्सकें तो मेरी खामोशी को पहचान लो दिल से दिल तक बात पहुंचाने के बहुत रास्ते हैं बस सुनने और समझने की ही देरी हैं
25 अगस्त 2019
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x