90 के दशक में पैदा होने वाले बच्चे इन दिलचस्प तस्वीरों को देखकर हुए हैं बड़े, आपकी भी कोई याद तो नही जुड़ी ?

05 सितम्बर 2019   |  स्नेहा दुबे   (491 बार पढ़ा जा चुका है)

90 के दशक में पैदा होने वाले बच्चे इन दिलचस्प तस्वीरों को देखकर हुए हैं बड़े, आपकी भी कोई याद तो नही जुड़ी ?

Old is Gold...इस बारे में तो आपने सुना ही होगा ? पुरानी चीजों की कद्र एक समय के बाद होती है। 90 के दशक में बड़े होने वाले सभी बच्चों में एक खास तरह का उत्साह रहता था। उस दौर में बच्चों के पास क्रिएटिविटी करने के बहुत मौके हुआ करते थे। 90 के दशक के बच्चों को खाली समय में बहुत कुछ करने को होता था, जिसमें कॉमिक्स पढ़ना, कैरम खेलना, शक्तिमान देखना या फिर रविवार को ड्रेस में प्रेस या जूते पॉलिश करने के काम होते थे। इसके अलावा भी बढ़ती हुई उम्र के साथ बहुत सारी चीजें देखने को मिलता था जो आज के बच्चों में देखना आम नहीं है। आज के बच्चों में शुरु से ही मोबाइल का ही क्रेज रहता है और बच्चों को खाने में, सोने में, खेलने में और हर तरह की एक्टिविटीज में इन तस्वीरों का इस्तेमाल हुआ है।


पूरानी तस्वीरों की बात ही अलग है


फिल्म ये जवानी है दीवानी का एक बेहतरीन डायलॉग है, बालकनी में चाय का कप लेकर जब कभी सूनेपन में यादें गिनने लगो, तो लगता है कितनी दूर चले आए हैं हम... कितने बड़े हो गए हैं हम... कितने बदल गए हैं हम'' बचपन की यादें सच में बहुत हसीन होती हैं और आज इन तस्वीरों के जरिए हम आपको आपके और हमारे बचपन में ले जाएंगे।


90's की यादें


अमूल की चॉकलेट उस समय कुछ ऐसी आती थी और जब ये पैक सबको मिल जाता था तब तो बच्चों की जिंदगी की सबसे कीमती खुशी उन्हें मिल जाती थी।


90's की यादें


बचपन में ये जिस बच्चे के बास होता था वो खुद को राजा ही समझता था।


90's की यादें


बचपन की यादों में ये जूते भी अहम होते थे जब गुुरवार को ड्रेस कोड में ये पहनकर जाना होता था और गंदे होने पर मां की डांट खानी होती थी।


90's की यादें


वैसे तो कैरम आज भी चलता है लेकिन ये उस दौर के बच्चों का गर्मी का साथी होता था।


90's की यादें


आज के समय में मोबाइल ही सबकुछ होता है लेकिन उस दौर में चाचा चौधरी की ये किताब बच्चों के लिए अहम होती थी।


90's की यादें


90 के दशक के बच्चे ही बता सकते हैं ये क्या है ?


90's की यादें


बचपन में जब ये दो रुपये का नोट मिल जाता था तब हमारी खुशी का ठिकाना ही नहीं होता है और आज हजारों कमाते हैं लेकिन वो सुकून नहीं मिलता।


90's की यादें


बच्चों की मनपसंद बिग फन जो च्विंगम होता था और लोगों को ये बहुत पसंद हुआ करता था।


90's की यादें


उस दौर में सियाही और दावात का खास रिश्ता बच्चों से होता था। किसी ना किसी टीचर का काम इससे पेन से जरूरी होता था।


90's की यादें


बचपन का फेवरेट कार्टून तो अलग ही होता था जिसका नाम डॉनल डक था।


90's की यादें


ये बच्चा तो आपको याद ही होगा जब ये धारा के इस विज्ञापन को सबसे ज्यादा पसंद किया जाता था।


90's की यादें


चंद्रकांता का ये सीरियल भी काफी पसंदीदा हुआ करता था।


90's की यादें


उस दौर की फ्रूटी का पैक कुछ ऐसा होता था और अगर किसी ने ये दिलवा दी तो बस समझो बच्चों की बल्ले-बल्ले हो जाती थी।


90's की यादें


आज के बच्चों को पता भी नहीं होगा कि इस सिक्के की कितनी एहमियत होती थी।


90's की यादें


उस दौर का सबसे बड़ा ब्रांड बीपीएल हुआ करता था जिसकी टीवी, फ्रिज या कोई भी इलेक्ट्रॉनिक मशीन हर घर में मिल जाया करती थी। आज ये कंपनी बंद हो चुकी है।


90's की यादें


2000 की शुरुआत होते-होते कैसेट्स का दौर खत्म होता जा रहा था और डीवीडी का समय आ ही रहा था।


90's की यादें


एंटीना का भी एक दौर था जब चैनल ना आऩे पर एक आदमी इसे पकड़कर खड़ा रहता था।


90's की यादें


एक दौर था जब पोस्टकार्ड हर किसी के घर बहुत जरूरी था और लोगों को इसका इंतजार रहता था।


90's की यादें


गर्मियों की छुट्टियों में जब स्कूल खुलने वाला होता था तब बच्चों का एक ही काम होता था कॉपी किताबों में कवर चढ़ना।


90's की यादें


हर बच्चों के पास ऐसी अलग-अलग वॉटर बॉटल हुआ करती थी जिसे आमतौर पर थरमस कहा जाता था।


90's की यादें


टीवी पर रामायण देखते समय आधे से ज्यादा बच्चे इन्हें असली का राम और सीता समझते थे जो एक भ्रम था।


90's की यादें


सबका फेवरेट शो शक्तिमान जिसके कहने पर 90 के दशक के बच्चे अपनी दिनचर्या शुरु करते थे।


90's की यादें


बिना फिल्टर वाला कैमरा जो बहुत महंगा हुआ करता था।


90's की यादें


लड़कों का फेवरेट गेम कार्ड जिसे ट्रम्प कार्ड भी कहते थे जिसमें WWF के फाइटर्स होते थे।

अगला लेख: अपने बच्चे की मौत के बदले की चाह में कौआ साथियों सहित कातिल आदमी पर करता था हमला, ऐसे सामने आया मामला



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
02 सितम्बर 2019
90 के दशक की बहुत सारी एक्ट्रेसेस रही हैं जिनका सिक्का उस समय तो खूब चलता था लेकिन धीरे-धीरे उनका चार्म खत्म होने लगा। उस दौर की अभिनेत्रियों पर अंडरवर्ल्ड का साया भी रहता था। मगर फिर भी वे इस डर के साये में अच्छे से जिंदगी को जीना नहीं भूलती थीं, उन्हीं में से एक थीं एक्ट्रेस सोनम जो 90 के दशक में
02 सितम्बर 2019
05 सितम्बर 2019
देशभर में गणपति की धूम है और उत्तर भारत से लेकर दक्षिण भारत तक लोग गणेश पूजन करके उन्हें प्रसन्न करने की कोशिश में रहते हैं। गणेश जी हर किसी की मनोकामनाएं पूरी करने वाले देवता है और अगर उनके भक्त परेशानी में रहते हैं तो वे उनके दुख भी हर लेते हैं। गणेश भगवान का पूजन करने से विचलित व्यक्ति भी स्थिर ह
05 सितम्बर 2019
28 अगस्त 2019
साल 2015 में आई फिल्म बाहुबली ने देशभर में तहलका मचा दिया और फिल्म के क्लाइमैक्स में लोगों के लिए एक सस्पेंस छोड़ दिया कि कटप्पा ने बाहुबली को क्यो मारा ? साल 2017 में इस फिल्म का दूसरा पार्ट आया और फिर सारे कंफ्यूजन दूर हुए। दोनों फिल्मों का बजट लगभग 450 करोड़ था और
28 अगस्त 2019
03 सितम्बर 2019
इंसान की किस्मत कब और कैसे बदल जाती है ये बात कोई नहीं जान सकता। आज एक आम दिखने वाला व्यक्ति कल सेलिब्रिटी बन जाए इसका भी कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता क्योंकि किस्मत हर किसी की होती है और वो पलट सकती है। जैसे कोलकाता की रहने वाली रानू मंडल की बदल गई, कभी रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर दो वक्त की रोटी कम
03 सितम्बर 2019
28 अगस्त 2019
दुनिया में हर तरह के लोग पाए जाते है जो अपनी जरूरतों के हिसाब से किसी ना किसी चीज का अविष्कार करते रहते हैं। कुछ लोग अपने मन से चीजों को बनाते हैं तो कुछ अपनी जिद में कुछ नयी चीजें बना देते हैं। कुछ इस तरह का इनवेंट एक 12वीं के छात्र ने कर दिया क्योंकि उसे पास की किराने की दुकान पर कुछ उधार देने से
28 अगस्त 2019
03 सितम्बर 2019
दुनिया में बहुत सी ऐसी चीजें होती हैं जो आम नहीं है और अक्सर उन चीजों के पीछे कोई ना कोई खास मकसद भी होता ही है। आपने फिल्मों में ऐसी कई कहानियां देखी होंगी जिसमें एक जानवर अपने मालिक या अपने किसी खास के साथ गलत हुए का बदला लेने के लिए उस कातिल का पीछा करता ही है। मगर असल में ऐसा शायद ही आपने कहीं स
03 सितम्बर 2019
29 अगस्त 2019
5 अगस्त को भारत के गृहमंत्री अमित शाह ने सांसद में धारा 370 हटाने का एलान किया और फिर 9 अगस्त को ये बिल लोकसभा में भी पास हो गया। इसके बाद पाकिस्तान और कांग्रेसियों में जो विरोध हो रहा है ये मंजर देखने वाला है। विपक्ष दल में बसपा और सपा ने भाजपा का समर्थन किया था और कांग्रेस के कुछ लोगों ने भी मोदी
29 अगस्त 2019
03 सितम्बर 2019
जब किसी को अचनाक दौलत मिलती है तो वो शायद उसकी कद्र नहीं करे लेकिन जब किसी गरीब को शोहरत मिलने लगती है या फिर जब वो पाई-पाई का मोहताज होता है तब उसे वो मुकाम मिल जाता है जिसके बारे में उसने सोचा भी नहीं तो वो लोग उस शोहरत को मिलने के जरिए को कभी नहीं भूलते हैं। पिछले कुछ समय से इंटरनेट सेशन बनी रानू
03 सितम्बर 2019
28 अगस्त 2019
दुनिया में हर तरह के लोग पाए जाते है जो अपनी जरूरतों के हिसाब से किसी ना किसी चीज का अविष्कार करते रहते हैं। कुछ लोग अपने मन से चीजों को बनाते हैं तो कुछ अपनी जिद में कुछ नयी चीजें बना देते हैं। कुछ इस तरह का इनवेंट एक 12वीं के छात्र ने कर दिया क्योंकि उसे पास की किराने की दुकान पर कुछ उधार देने से
28 अगस्त 2019
21 अगस्त 2019
5 अगस्त को मोदी सरकार ने सबसे बड़ा काम किया और जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाकर जम्मू-कश्मीर को भारत काे आम राज्य की तरह बना ली है। इसके साथ ही लद्दाख को केंद्र शासित राज्य बनाया और उनके इस काम की सराहना हर तरह कर रहे हैं। कुछ विरोधी भी हैं जो मोदी के इस कदम को ऐतिहासिक और सबसे अच्छा मान रहे हैं। इन स
21 अगस्त 2019
02 सितम्बर 2019
भारतीय टीम इंडिया के सिर पर जितना प्रेशर होता है वो लोग उतना ही लाइफ को मजे के साथ लेते हैं। ऐसा आज से नहीं बल्कि दशकों से होता आया है। अगर टीम इंडिया के सिर पर मैच का ज्यादा स्ट्रेस रहता है तब भी वे अपने हर पल को अच्छे से व्यतीत करते हैं। कुछ ऐसा ही किस्सा हम आपको बताने जा रहे हैं जब टीम इंडिया ने
02 सितम्बर 2019
29 अगस्त 2019
भारत में महिलाओं को देवी का अवतार कहा जाता है लेकिन वे अपने परिवार की सलामती के लिए बहुत से काम करती हैं। अपने पति के लिए, संतान के लिए और परिवार में सुख-समृद्धि रखने के लिए व्रत और पूजा-पाठ करती रहती हैं। अब आने वाले व्रत में हरितालिका तीज व्रत आने वाला है जिसमें वे व्रत रखकर अपने पति की लंबी उम्र
29 अगस्त 2019
21 अगस्त 2019
5 अगस्त को मोदी सरकार ने सबसे बड़ा काम किया और जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाकर जम्मू-कश्मीर को भारत काे आम राज्य की तरह बना ली है। इसके साथ ही लद्दाख को केंद्र शासित राज्य बनाया और उनके इस काम की सराहना हर तरह कर रहे हैं। कुछ विरोधी भी हैं जो मोदी के इस कदम को ऐतिहासिक और सबसे अच्छा मान रहे हैं। इन स
21 अगस्त 2019
28 अगस्त 2019
साल 2015 में आई फिल्म बाहुबली ने देशभर में तहलका मचा दिया और फिल्म के क्लाइमैक्स में लोगों के लिए एक सस्पेंस छोड़ दिया कि कटप्पा ने बाहुबली को क्यो मारा ? साल 2017 में इस फिल्म का दूसरा पार्ट आया और फिर सारे कंफ्यूजन दूर हुए। दोनों फिल्मों का बजट लगभग 450 करोड़ था और
28 अगस्त 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x