10 तरीके जिनसे आप ट्रैफिक के भारी चालान से बच सकते हैं

10 सितम्बर 2019   |  अभय शंकर   (452 बार पढ़ा जा चुका है)

10 तरीके जिनसे आप ट्रैफिक के भारी चालान से बच सकते हैं

ट्रैफिक के नए नियम आ गए हैं. तरह-तरह के फाइन बढ़ा दिए हैं. बहुत पॉसिबल है कि आप घर से तैयार होकर अपनी स्कूटर पर निकलें. किसी चौराहे पर पहुंचें और ट्रैफिक पुलिस आपको धर ले. जब वो आपको छोड़े तो आपके हाथ में चालान हो. उसमें इतने तरीके के फाइन आप पर लगे हों कि चुकाने के लिए लोन लेना पड़ जाए. 15 हजार की गाड़ी पर 23 हजार का जुर्माना वाली खबर अब तक सुनी कि नहीं? तो इसलिए हम बता रहें हैं कुछ रामबाण उपाय जिन्हें आज़माकर आप फाइन देने से बच जाएंगे.

1. ट्रैफिक के सारे नियमों का पालन करके-
पर एक सेकेंड, ये करना तो आपके लिए दुनिया का सबसे बड़ा काम हो जाएगा. आप कपार फोड़वा लेंगे. इनसेट में मृतक की फोटो बन जाएंगे. चालान कटवा लेंगे. गाड़ी जब्त करा लेंगे लेकिन नियमों का पालन कर लिया तो आपकी नामूज़ी हो जाएगी.

2. धर्मो रक्षति राइडर:
धर्म का सहारा लीजिए. जैसे ही कोई त्योहार पास आए. हफ्ते भर पहले से बाइक पर सुविधानुसार किसी धर्म का, किसी भी कलर का झंडा लगाइए. निकल पड़िए. जोर-जोर से धार्मिक नारे लगाइए. झंडे लहराइए. मजाल कोई रोक दे, रोके तो कहिए, हमारे अलाना धर्म के वीरबहादुरों को रोकते हो, फलाने धर्म के ढिकाने जब ऐसा ही करते हैं तो नहीं रोकते. इस कुतर्क का कोई इलाज नहीं है.

कुतर्कों में एक्सपर्ट कॉपी लिखने वाले ने फ्रंट फुट पर खेलते हुए रामनवमी और शब-ए-बारात की बाइक हुड़दंगी की तस्वीरें लगा दी हैं. बल्लेबाज़ का काफी ज़्यादा Sarcastic होने का प्रयास! पाठकों में ऑफेंस की लहर!
कुतर्कों में एक्सपर्ट कॉपी लिखने वाले ने फ्रंट फुट पर खेलते हुए रामनवमी और शब-ए-बारात की बाइक हुड़दंगी की तस्वीरें लगा दी हैं. बल्लेबाज़ का काफी ज़्यादा Sarcastic होने का प्रयास! पाठकों में ऑफेंस की लहर!

3. विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, चालान काट कर दिखाओ हमारा
जनवरी के महीने में या अगस्त के महीने में अपने अंदर की देशभक्ति जगाइए. एक डंडे के साथ तिरंगा गाड़ी पर लगाइए. सहूलियत के हिसाब से जय हिंद, भारत माता की जय, वंदे मातरम के नारे लगाइए. किसी भी मोटर व्हीकल एक्ट में इतनी हिम्मत नहीं कि आभासी देशभक्त की गाड़ी रोक ले. तिरंगे का सहारा लेकर इसी देश के क़ानून तोड़िए. रोकने वाले को देशद्रोही ठहरा दीजिए.

नियम तोड़कों में देशभक्ति की लहर
नियम तोड़कों में देशभक्ति की लहर

4. नेता की रैली, बचाएगी जुर्माने की थैली
समय-समय पर नेता-नपाड़ी रैलियां निकालते हैं. इन रैलियों में जुलूस निकलते हैं. माथे पर नेता जी का या पार्टी का पट्टा बांधकर निकल पड़िए. ट्रैफिक नियमों की ऐसी-तैसी कर डालिए. सड़क पर सुगम आवागमन की नैया डुबा दीजिए. दूसरे राहगीरों की गाड़ी और सुविधा खरखोंद डालिए. कोई फोटो खींच रहा हो तो खींचने दीजिए. आप पर नियम तोड़ने का इलज़ाम नहीं लगेगा. उल्टे अगले दिन अखबार में फोटो आएगी. ‘उत्साहित युवाओं ने बढ़-चढ़कर लिया हिस्सा’ वाले कैप्शन के साथ.

मेरा यूथ, नियम तोड़ने में मजबूत!
मेरा यूथ, नियम तोड़ने में मजबूत!

5. विधायक चाचा से अपनी करीबी मत बताइए.
कुछ मासूम लोगों को लगता है कि ‘मोटर साइकल में चाचा विधायक हैं हमारे’ लिखवाकर जुर्माने से बच जाएंगे. मूर्ख हैं वो. उन्हें समझाइए आजकल विधायकों के भतीजे फॉर्च्यूनर से नीचे नहीं चलते. विधायक को चाचा बताएंगे और बाइक से चलेंगे तो दुगना चालान देना पड़ सकता है.

6. निरोध का विरोध और Condom का Condemn न करें.
नाबालिग अगर वाहन चलाते पकड़े जाते हैं तो नियम तोड़ने पर 25 हज़ार का चालान कटता है. आपके बच्चे से मेरा कोई दुराव नहीं है लेकिन अगर बच्चे में ट्रैफिक सेन्स नहीं है, तो यकीन मानिए 25 हज़ार में ऐसे कई बच्चे पल सकते हैं. आपसे भी मेरा दुराव नहीं है, लेकिन अगर आप अपने नाबालिग बच्चे को गाड़ी चलाने से नहीं रोक सकते, उसकी जान से खेल रहे हैं. बैड पैरेंटिंग का उदाहरण बन रहे हैं, या बन सकते हैं. तो बेहतर यही होगा कि कंडोम का इस्तेमाल करें. देश की जनसंख्या और चालान पर खर्चा बढ़ने से एक साथ रोकें.

7. ढनगउआ खेलें
ये बहुत पुराना फ़ॉर्मूला है, मौक़ा पड़ने पर बड़ा प्रभावी है. कई बार अप्रभावी भी हो जाता है. लेकिन लंबे समय से इस्तेमाल किया जा रहा है. जब भी चौराहे पर ट्रैफिक पुलिस वाला खड़ा नज़र आए. बाइक से उतर जाएं. उसे लुढ़काते हुए ले जाएं. कोई पूछे तो कह दें तो सर्विस सेंटर ले जा रहे हैं. गाड़ी बिगड़ गई है. ऐसा ही कार के साथ भी करें, मौके पर गाड़ी से उतर जाएं. कांच के अंदर हाथ डालकर घिसटाते हुए ले जाएं. याद रखें, गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाने पर चालान होता है. खराब गाड़ी पर नहीं.

8. ट्रैफिक पुलिस पकड़े तो पुलिस का सहारा लें
सावधानी के तौर पर साथ में पर्स रखना छोड़ दें. इससे होगा ये कि पकड़े जाने पर तत्काल पैसे देने की संभावना ख़त्म हो जाएगी. मोबाइल को भी मोज़े में रखना शुरू करें. अब मान लीजिए आप बिना हेलमेट के बाइक चलाते पकड़े गए या कार में बिना कागजात के पकड़े गए, ऐसे में कह दें कि अभी-अभी मेरे साथ लूट की घटना हुई है. गाड़ी के कागज, लाइसेंस, पर्स या हेलमेट तक छीन लिए गए हैं. पुलिस वालों को खूब हड़काएं, कहें ऐसी तो क़ानून व्यवस्था है तुम लोगों की. याद रखें, कल्प्रिट होने से बचने के लिए विक्टिम भी बनना हो तो बन जाएं.

9. बिना कागजात, सीट बेल्ट, हेलमेट के चलने की निन्जा टेक्निक
ये ऐसा तरीका है, जिसमें बिना एक भी नियम फॉलो किए, आप जीवन भर चालान से बचे रहेंगे. पैदल चलें. उसके लिए किसी सावधानी की जरूरत नहीं है. ऐसा करते हुए आपको ये समझ भी आ जाएगा कि दूसरों के लिए ट्रैफिक नियम का पालन करना कितना जरूरी है. बस याद ये रखें कि भाई या मोटाभाई जैसे शब्द आसपास सुनाई न पड़ें. इन शब्दों में ये ताकत है कि ये आपका रात में फुटपाथ पर चलना या मॉर्निंग वॉक करना जानलेवा बना सकते हैं.

10. और अंत में
अगर आप जीवन के परम ज्ञान को प्राप्त कर चुके हैं. मृत्यु पर विजय (दीनानाथ चौहान) टाइप कुछ पा चुके हैं. ‘मौत महबूबा है, एक दिन साथ लेकर जाएगी’ आपका फेवरेट गाना है. तय कर चुके हैं. खुद तो मरूंगा, दो-चार को साथ लेकर जाऊंगा. लेकिन नियमों का पालन नहीं करूंगा. थानोस या गुरुजी के भक्त बन चुके हैं, मौतों के पार सतयुग या अच्छे दिन लाना चाहते हैं तो आपको कौन क्या ही समझा सकता है? चालान कटवाइए. नियमों का पालन मत करिए. जीवन कट ही रहा है. चालान भी कटने दीजिए. सरकार के खजाने में अपना अंशदान करते जाइए.


https://www.thelallantop.com/jhamajham/10-ways-you-can-skip-challan-without-following-traffic-rules/?ref=taboola

अगला लेख: जियो को 1299 रूपए दो, 4K टीवी फ्री में लो... |



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
12 सितम्बर 2019
आज के समय में लोगों को पैसा कमाने की जो धुन लगी है वो हर किसी को ऊंचाईयों पर ले जाए ये जरूरी नहीं होता। हर किसी के लिए पैसा बहुत जरूरी होता है और इसी के बल पर लोग अपनी पहचान सोसाइटी में बनाते हैं। पिछले दिनो कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार की बेटी से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई,
12 सितम्बर 2019
26 अगस्त 2019
“टीवी मत देखिए, न्यूज़ में आजकल केवल एंकर चिल्लाते हैं, टीवी पर कुछ भी मत देखिए”- ये वाक्य लोकसभा चुनाव के दौरान काफी पॉपुलर हुए थे। इस वाक्य का समर्थन और असमर्थन करने वालों की एक लंबी फौज थी। अरे बाबा…आपको याद नहीं आया? इस वाक्य का एक एक शब्द एनडीटीवी के मशहूर पत्रकार रवी
26 अगस्त 2019
04 सितम्बर 2019
नई दिल्ली: भीड़ द्वारा पिटाई और मौत का सिलसिला रूकने का नाम नहीं ले रहा है. ताज़ा मामला देश की राजधानी दिल्ली का है. यहां के मौजपुर इलाक़े में साहिल को मुसलमान समझकर सिर्फ़ इसलिए मार दिया गया क्योंकि वो पंडितों की गली में चला गया था. अब जब पता चला कि साहिल मुसलमान नहीं था
04 सितम्बर 2019
04 सितम्बर 2019
मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई। इस मीटिंग में कई एजेंडों पर मुहर लगी। कैबिनेट ने पटना मेट्रो रेल के प्रथम चरण में दो कॉरिडोर के निर्माण की मंजूरी दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड को दी। इसके लिए कैबिनेट ने 482.87 करोड़ भुगतान की स्वीक
04 सितम्बर 2019
09 सितम्बर 2019
नए यातायात अधिनियम का बिहार में भी खासा असर देखने को मिल रहा है। बक्सर में चालान कटने से गुस्साए युवक ने हंगामा खड़ा कर दिया। उसने हंगामा कर बिना हेलमेट बाइक चला रहे पुलिसवाले का भी चालान कटवा दिया।सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने के बाद दारोगा को एसपी ने निलंबित कर दिया
09 सितम्बर 2019
09 सितम्बर 2019
आप भारत के मिशन चंद्रयान 2 की पूरी कहानी जानते हैं. नहीं जानते हैं, तो यहांक्लिक करके पढ़ सकते हैं. ये भी जानते हैं कि चंद्रयान 2 का ऑर्बिटर तो चंद्रमा के चक्कर लगा रहा है, लेकिन चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम से वैज्ञानिकों का संपर्क टूट गया है. इस पूरी प्रक्रिया में एक आदमी
09 सितम्बर 2019
27 अगस्त 2019
एक गाने से रातों रात मशहूर हुईं रानू मंडल ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उनकी जिंदगी इस कदर बदल जाएगी। रानू मंडल स्टेशन पर लता मंगेशकर का गाना 'एक प्यार का नगमा है' गा रही थीं, जिसे एतींद्र चक्रवर्ती नाम के शख्स ने रिकॉर्ड कर लिया और अपने सोशल मीडिया पेज पर शेयर कर
27 अगस्त 2019
12 सितम्बर 2019
भारत के सबसे मजबूत राजनीतिक परिवार में 'गांधी परिवार' का नाम भी आता है। आज भले लोग गांधी परिवार का मजाक बनाने लगे हों लेकिन इनकी शुरुआत जब हुई तो एक खास बात रहती थी। इंदिरा गांधी एक दमदार शख्सियत थीं और उनके बेटे राजीव गांधी ने भी लोगों के दिल में खास जगह बनाई थी लेकिन उनके बेटे राहुल गांधी तो आज की
12 सितम्बर 2019
04 सितम्बर 2019
New Delhi : अगर इंसान मेहनत करे तो कुछ भी नामुमकिन नहीं है। आज हम आपको 2017 की उत्तराखंड UPSC टॉपर नमामि बंसल की कहानी बता रहे हैं जो आपको प्रेरणा देगी। लाजपत राय मार्ग ऋषिकेश निवासी नमामि बंसल को एक दिन फोन आया कि उनकी बेटी IAS की परीक्षा में पास हो गई है।वो खुशी से फूले
04 सितम्बर 2019
19 सितम्बर 2019
पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया, फेसबुक, वॉट्सऐप और ट्विटर पर उत्तर प्रदेश के बंटवारे की बातें चल रही हैं. दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश तीन राज्यों में बंटेगा. एक होगा उत्तर प्रदेश जिसकी राजधानी लखनऊ होगी. इसमें 20 जिले होंगे. यूपी के बंटवारे के बाद दूसरा राज्य बनेग
19 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
नई दिल्ली। चंद्रयान-2 को लेकर जहां पूरा देश इसरो के वैज्ञानिकों की हौसलाअफजाई कर रहा है तो वहीं कांग्रेस के नेता उदित राज ने एक बेतुका बयान दिया है, जिसके बाद लोग जमकर उनको लताड़ लगा रहे हैं।दरअसल, उदित राज ने ट्वीट किया, ‘हमारे इसरो के वैज्ञानिकों ने अगर नारियल फोड़ने और
10 सितम्बर 2019
12 सितम्बर 2019
शेहला राशिद. एक्टिविस्ट हैं. जेएनयू की छात्र नेता भी. कुछ दिन पहले उन्होंने भारतीय सेना को लेकर कुछ विवादित ट्वीट किए थे. उसके बाद उनपर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया था. खैर. अब इन्होंने खुद अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने एक फोटो पोस्ट की है.इस पो
12 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
रिलायंस ने जियो के तीन साल पूरा होने पर पांच सितंबर को जियो फाइबर सेवा लॉन्च कर दी है। यह सेवा एक साथ देश के 1600 शहरों में लॉन्च की गई है। अपने वादे के अनुसार, रिलायंस ने जियो फाइबर के 1299 रुपए या इससे ज्यादा मासिक वाले प्लान के साथ फ्री
10 सितम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x