लैपटॉप गोद में रख कर चलाना आपके शादीशुदा जीवन का बड़ा सुख ख़त्म कर रहा है...

10 सितम्बर 2019   |  अभय शंकर   (428 बार पढ़ा जा चुका है)

लैपटॉप गोद में रख कर चलाना आपके शादीशुदा जीवन का बड़ा सुख ख़त्म कर रहा है...

हमारे समाज की आपसे कई अपेक्षाएं होती हैं. बचपन से लेकर बूढ़े होने तक के सफर में कुछ मापदंड होते हैं. जिनपर आपको खरा उतरना होता है. नहीं तो आप जज किए जाएंगे. बहुत बुरी तरह. मेजर मापदंडों की एक सूची पर नज़र मारते हैं-

दसवीं का रिज़ल्ट.
बारहवीं का रिज़ल्ट.
ग्रेजुएशन. इंजीनियरिंग या मेडिकल में हो तो बढ़िया है.
नौकरी. सरकारी हो तो बहुत ही बढ़िया है.
शादी.

लिस्ट आधे रास्ते में ही रोक रहा हूं. क्योंकि अब सबसे बड़े आइटम की बारी है. और ये मापदंड है बच्चा. हमारे समाज में बच्चा पैदा करने पर इतना ज़़ोर है कि ज़ोर में ज के नीचे दो नुक्ते लगाने चाहिए.

शादी के बाद अगर आपके घर में बच्चे की किलकारी न गूंजे तो बहुत सारे लोगों के जजमेंट गूंजते हैं. इतना भयंकर जज किया जाता है कि मैं जज के दोनों ज पर नुक्ता लगा दूं.

आप इन्फर्टाइल यानी बच्चा पैदा करने में असमर्थ घोषित कर दिए जाते हैं. अधिकतर समय दोष औरतों के माथे धर दिया जाता है. बांझ कहकर. जब पुरुषों पर दोष डालने का मूड होता है, उनके आगे नपुंसक या नामर्द जैसे शब्द जोड़ दिए जाते हैं. किसी गाली की तरह.


आयुषमान खुराना ने एक फिल्म में एक स्पर्म डोनर का किरदार निभाया है. सोर्स - विकी डोनर

आयुषमान खुराना ने एक फिल्म में एक स्पर्म डोनर का किरदार निभाया है. सोर्स – विकी डोनर

इतने भयंकर जजमेंट के माहौल में इन्फर्टाइल होना महज़ एक हैल्थ इश्यू नहीं रह जाता. ये डर में तब्दील हो जाता है. और डर जन्म देता है बहुत सारे मिथ्स हो. गलत सूचनाओं को. डर से ज़्यादा मिथ आज तक किसी ने पैदा नहीं किए. किसी पॉलीटिकल पार्टी के आई.टी. सेल ने भी नहीं.

डर के इस माहौल में आपको हर दूसरी चीज़ से इन्फर्टाइल होने का खतरा दिखाया जाता है. कुछ सही हो सकते हैं. कुछ गलत. खतरों की लिस्ट में एक खतरा लैपटॉप को गोद में लेकर बैठना भी है.

दावा – आदतन लैपटॉप गोद में लेकर बैठना आपको इन्फर्टाइल बना सकता है.

ये लिस्ट में उन गिने चुने दावों में से है, जिनका एक साइंटिफिक आधार है. हमें बिना किसी डर के इसे एक हैल्थ इश्यू की तरह चाहिए. और बिना किसी स्ट्रेस के अपना ध्यान इसकी साइंटिफिक इन्क्वायरी पर लगाना चाहिए. क्योंकि स्ट्रेस भी वीर्य की गुणवत्ता पर बुरा प्रभाव डालता है.

रीप्रोडक्शन वाला चैप्टर(जो स्किप कर दिया गया)

बात वीर्य की गुणवत्ता की है तो पहले वीर्य की बात कर लेते हैं. हमारी बॉडी में वीर्य अंडकोष में रहता है. वीर्य में शुक्राणु होते हैं. अंग्रेज़ी में कहते हैं स्पर्म. गर्भ धारण के पहले बहुत सारे स्पर्म एक रेस लगाते हैं. एग तक पहुंचने के लिए. एग माने अंडा. रेस का विनर स्पर्म और एग साथ मिलकर नए जीवन की शुरुआत करते हैं.


रेस लगाते स्पर्म. सोर्स - 3 इडियट्स

रेस लगाते स्पर्म. सोर्स – 3 इडियट्स

ये तो हो गई रीप्रोडक्शन के चैप्टर की समरी. वो चैप्टर जिसे अक्सर स्किप कर दिया जाता है. अब बात करते हैं वीर्य की क्वालिटी की. और लैपटॉप के असर पर.

हॉट इज़ नॉट कूल

महिलाओं के शरीर में एग बनने की जगह यानी आंडाशय शरीर के अंदरुनी हिस्से में बनते हैं. जबकि पुरुषों के शरीर में अंडकोष बाहरी हिस्से में होते हैं. इसका एक कारण है. पुरुषों के अंडकोष का तापमान बाकी के शरीर से कम से कम 2 डिग्री कम होता है. और तापमान में गड़बड़ होने पर वीर्य की क्वालिटी खराब हो जाती है. जैसे कुछ सब्जियां खराब हो जाती हैं. फ्रिज से बाहर रखने पर.

लैपटॉप के नीचे का हिस्सा हीट छोड़ता है. गर्माता है. क्योंकि वहीं सारी प्रोसेसिंग होती है. और ये बात तो साफ है ही कि गर्मी हमारे वीर्य की गुणवत्ता कम करता है.

पैर पसार कर बैठें

हमारे बैठने का तरीका इस दिक्कत को और बढ़ा देता है. लैपटॉप चलाते वक्त हमारी पैर चिपका कर बैठने की आदत होती है. पैर चिपका कर बैठने से जो गर्मी लैपटॉप से निकल रही होती है, वो वहीं फंसी रह जाती है.

अलग-अलग टाइप के लैपटॉप अलग-अलग हीट निकालते हैं. तो ये बताना मुश्किल है रोज़ कितनी देर तक लैपटॉप लेकर बैठना आपके लिए डेंजरस है. लेकिन अगर आप आदतन रोज़ाना घंटे भर से ज़्यादा गोदी लैपटॉप लेकर बैठे रहते हैं, तो ये चिंता की बात है.


बीच-बीच में ब्रेक भी लेते रहें. सोर्स - रॉयटर्स

बीच-बीच में ब्रेक भी लेते रहें. सोर्स – रॉयटर्स

लैपटॉप का मतलब होता है जिसको लैप के टॉप यानी गोदी के ऊपर पर रखा जाए. इसलिए ये सलाह देना आयरनी होगी कि लैपटॉप को लैप पर न रखें. लेकिन आयरनी कौनसा अपनी फुआ है. अपनी सेहत का ख्याल रखें. और टेबल पर लैपटॉप रखकर काम करें.

लैपटॉप गोद में रख कर चलाना आपके शादीशुदा जीवन का बड़ा सुख ख़त्म कर रहा है...

https://shabd.in/post/109856/laptop-goda-me-chalaana-apke-shadishuda-jeevan

अगला लेख: चलती गाड़ी से चाबी नहीं निकाल सकती पुलिस, सिर्फ इन्हें है चालान करने का अधिकार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
27 अगस्त 2019
Main Vidyut Mein Tumhein Niharu - Gopal Singh Nepali Poems In Hindiमैं विद्युत् में तुम्हें निहारूँनील गगन में पंख पसारूँ;दुःख है, तुमसे बिछड़ गया हूँ किन्तु तुम्हारी सुधि न बिसारूँ!उलझन में दुःख में वियोग मेंअब तुम याद बहुत आती हो;घनी घटा में तुमको खोजूँमैं विद्युत् में तुम्हें निहारूँ!जब से बिछुड़
27 अगस्त 2019
24 सितम्बर 2019
यह पोस्ट ‘One word substitution’ पर आधारित है, जिसे हम हिंदी में (in Hindi) ‘एकार्थी शब्द’ (अनेक शब्दों के बदले
24 सितम्बर 2019
12 सितम्बर 2019
भारत में हर रोज़ लाखों लोग ट्रेन से सफ़र करते हैं. उन्हें अपनी मंज़िल तक पहुंचाने के लिए रेल विभाग लगभग 13000 ट्रेनों का संचालन करता है. स्लीपर और जनरल डिब्बों में सफ़र करने वाले यात्रियों की संख्या अधिक होती है. आपने भी कभी न कभी इन दोनों ही श्रेणियों में सफ़र ज़रूर किया
12 सितम्बर 2019
23 सितम्बर 2019
ह्यूस्टन में हुआ ‘Howdy, Modi’ इवेंट. स्टेडियम में 50 हज़ार से ज़्यादा भारतीय मूल के अमेरिकी मौजूद थे. मंच पर थे नरेंद्र मोदी और डॉनल्ड ट्रंप. यहां डेमोक्रैटिक पार्टी के नेता स्टेनी होयर भी आए. उन्होंने नेहरू-गांधी के भारत का ज़िक्र किया. उन्होंने नेहरू के सपनों के भारत की बात की. धर्मनिरपेक्ष लोकतं
23 सितम्बर 2019
04 सितम्बर 2019
सूरत के हीरा कारोबारी महेशभाई लगातार 10 वें साल से गरीब और बेसहारा लड़कियों की शादी करवाते आ रहे हैं। वो अब तक 3 हजार से ज्यादा बेटियों की शादी करवा चुके हैं वो इस शुभकाम में ना धर्म देखते हैं ना ही जाति। जो गरीब इनतक पहुंचता है उसकी बहन-बेटी की शादी ये करवा देते हैं। शाद
04 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
ट्रैफिक के नए नियम आ गए हैं. तरह-तरह के फाइन बढ़ा दिए हैं. बहुत पॉसिबल है कि आप घर से तैयार होकर अपनी स्कूटर पर निकलें. किसी चौराहे पर पहुंचें और ट्रैफिक पुलिस आपको धर ले. जब वो आपको छोड़े तो आपके हाथ में चालान हो. उसमें इतने तरीके के फाइन आप पर लगे हों कि चुकाने के लिए ल
10 सितम्बर 2019
04 सितम्बर 2019
मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई। इस मीटिंग में कई एजेंडों पर मुहर लगी। कैबिनेट ने पटना मेट्रो रेल के प्रथम चरण में दो कॉरिडोर के निर्माण की मंजूरी दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड को दी। इसके लिए कैबिनेट ने 482.87 करोड़ भुगतान की स्वीक
04 सितम्बर 2019
04 सितम्बर 2019
नई दिल्ली: भीड़ द्वारा पिटाई और मौत का सिलसिला रूकने का नाम नहीं ले रहा है. ताज़ा मामला देश की राजधानी दिल्ली का है. यहां के मौजपुर इलाक़े में साहिल को मुसलमान समझकर सिर्फ़ इसलिए मार दिया गया क्योंकि वो पंडितों की गली में चला गया था. अब जब पता चला कि साहिल मुसलमान नहीं था
04 सितम्बर 2019
06 सितम्बर 2019
रिलायंस जियो ने 14 अगस्त को अपनी फाइबर सेवाओं को लॉन्च करने की घोषणा की थी। आज यानि 5 सितंबर 2019 को जियो फाइबर की टैरिफ भी जारी कर दी। सेल्युलर सेवाओं में वर्चस्व कायम करने के बाद रिलायंस ने अब ऑप्टिकल फाइबर, केबल टीवी और लैंडलाइन के सेक्टर में धमाकेदार एंट्री कर ली है। जी हां, यह तीनों सेवाएं रिला
06 सितम्बर 2019
04 सितम्बर 2019
मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार की अध्‍यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई। इस मीटिंग में कई एजेंडों पर मुहर लगी। कैबिनेट ने पटना मेट्रो रेल के प्रथम चरण में दो कॉरिडोर के निर्माण की मंजूरी दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड को दी। इसके लिए कैबिनेट ने 482.87 करोड़ भुगतान की स्वीक
04 सितम्बर 2019
04 सितम्बर 2019
New Delhi : अगर इंसान मेहनत करे तो कुछ भी नामुमकिन नहीं है। आज हम आपको 2017 की उत्तराखंड UPSC टॉपर नमामि बंसल की कहानी बता रहे हैं जो आपको प्रेरणा देगी। लाजपत राय मार्ग ऋषिकेश निवासी नमामि बंसल को एक दिन फोन आया कि उनकी बेटी IAS की परीक्षा में पास हो गई है।वो खुशी से फूले
04 सितम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
17 सितम्बर 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x