1972 के बाद कोई भी चांद पर क्यों नहीं गया यह हैं सबसे बड़ा कारण जिसे आप नहीं जानते हैं...

11 सितम्बर 2019   |  अभय शंकर   (468 बार पढ़ा जा चुका है)

1972 के बाद कोई भी चांद पर क्यों नहीं गया यह हैं सबसे बड़ा कारण जिसे आप नहीं जानते हैं...

नासा ने सर्वप्रथम 1969 में चंद्रमा पर अपना यान भेजा था और इस यान के माध्यम से ही चंद्रमा पर पहला व्यक्ति उत्तर पाया था। लेकिन नासा ने 1972 के बाद कोई भी व्यक्ति को चंद्रमा पर नहीं उतारा है। नासा के वैज्ञानिकों का कहना है कि चांद पर व्यक्ति को भेजने और वहां व्यक्ति उतारने में बहुत खर्च आता है।

1972 के बाद कोई भी चांद पर क्यों नहीं गया, यह हैं सबसे बड़ा कारण जिसे आप नहीं जानते हैं

Third party image reference

चंद्रमा पर व्यक्ति को भेजने से विशेष वैज्ञानिक लाभ भी प्राप्त नहीं होता है। इसलिए 1972 के पश्चात नासा ने कोई भी व्यक्ति चंद्रमा पर नहीं भेजा था। लेकिन अब नासा चांद पर व्यक्ति भेजने की तैयारी कर रहा है।

Third party image reference

सन 1972 के बाद चंद्रमा पर आदमी न भेजने का दूसरा कारण यह भी है कि नासा 1972 के बाद कई महत्वपूर्ण अभियानों पर काम कर रहा था। जिनमें मंगल पर जीवन की खोज आकाशगंगा की खोज और नए ग्रहों और उपग्रहों की खोज मुख्य अभियान थे।

Third party image reference

इन अभियानों में सबसे महत्वपूर्ण अभियान मंगल ग्रह पर जीवन की खोज करना था। लेकिन अब नासा जल्द ही चंद्रमा पर आदमी भेजने के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है।


https://www.ucnews.in/news/1972-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%A6-%E0%A4%95%E0%A5%8B%E0%A4%88-%E0%A4%AD%E0%A5%80-%E0%A4%9A%E0%A4%BE%E0%A4%82%E0%A4%A6-%E0%A4%AA%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%A8%E0%A4%B9%E0%A5%80%E0%A4%82-%E0%A4%97%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%AF%E0%A4%B9-%E0%A4%B9%E0%A5%88%E0%A4%82-%E0%A4%B8%E0%A4%AC%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%AC%E0%A4%A1%E0%A4%BC%E0%A4%BE-%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A4%A3-%E0%A4%9C%E0%A4%BF%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%86%E0%A4%AA-%E0%A4%A8%E0%A4%B9%E0%A5%80%E0%A4%82-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%A4%E0%A5%87-%E0%A4%B9%E0%A5%88%E0%A4%82/3315221802179105.html

अगला लेख: मैं विद्युत् में तुम्हें निहारूँ - गोपाल सिंह नेपाली | Gopal Singh Nepali Poems In Hindi



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
10 सितम्बर 2019
ट्रैफिक के नए नियम आ गए हैं. तरह-तरह के फाइन बढ़ा दिए हैं. बहुत पॉसिबल है कि आप घर से तैयार होकर अपनी स्कूटर पर निकलें. किसी चौराहे पर पहुंचें और ट्रैफिक पुलिस आपको धर ले. जब वो आपको छोड़े तो आपके हाथ में चालान हो. उसमें इतने तरीके के फाइन आप पर लगे हों कि चुकाने के लिए ल
10 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
रिलायंस ने जियो के तीन साल पूरा होने पर पांच सितंबर को जियो फाइबर सेवा लॉन्च कर दी है। यह सेवा एक साथ देश के 1600 शहरों में लॉन्च की गई है। अपने वादे के अनुसार, रिलायंस ने जियो फाइबर के 1299 रुपए या इससे ज्यादा मासिक वाले प्लान के साथ फ्री
10 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
हमारे समाज की आपसे कई अपेक्षाएं होती हैं. बचपन से लेकर बूढ़े होने तक के सफर में कुछ मापदंड होते हैं. जिनपर आपको खरा उतरना होता है. नहीं तो आप जज किए जाएंगे. बहुत बुरी तरह. मेजर मापदंडों की एक सूची पर नज़र मारते हैं-दसवीं का रिज़ल्ट. बारहवीं का रिज़ल्ट. ग्रेजुएशन. इंजीनियर
10 सितम्बर 2019
11 सितम्बर 2019
तमिलनाडु के नमक्कल ज़िले के एक गांव में एक टीचर की जमकर पिटाई हुई. क्योंकि वो स्कूल कैंपस में आंगनबाड़ी की वर्कर के साथ सेक्स कर रहा था.नमक्कल ज़िले में एक गांव है एस उदुप्पम. ये घटना इस गांव के सरकारी स्कूल की है. 10 सितंबर के दिन, जब बच्चे स्कूल के बाद अपने-अपने घर चले
11 सितम्बर 2019
09 सितम्बर 2019
नए यातायात अधिनियम का बिहार में भी खासा असर देखने को मिल रहा है। बक्सर में चालान कटने से गुस्साए युवक ने हंगामा खड़ा कर दिया। उसने हंगामा कर बिना हेलमेट बाइक चला रहे पुलिसवाले का भी चालान कटवा दिया।सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने के बाद दारोगा को एसपी ने निलंबित कर दिया
09 सितम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x