1972 के बाद कोई भी चांद पर क्यों नहीं गया यह हैं सबसे बड़ा कारण जिसे आप नहीं जानते हैं...

11 सितम्बर 2019   |  अभय शंकर   (479 बार पढ़ा जा चुका है)

1972 के बाद कोई भी चांद पर क्यों नहीं गया यह हैं सबसे बड़ा कारण जिसे आप नहीं जानते हैं...

नासा ने सर्वप्रथम 1969 में चंद्रमा पर अपना यान भेजा था और इस यान के माध्यम से ही चंद्रमा पर पहला व्यक्ति उत्तर पाया था। लेकिन नासा ने 1972 के बाद कोई भी व्यक्ति को चंद्रमा पर नहीं उतारा है। नासा के वैज्ञानिकों का कहना है कि चांद पर व्यक्ति को भेजने और वहां व्यक्ति उतारने में बहुत खर्च आता है।

1972 के बाद कोई भी चांद पर क्यों नहीं गया, यह हैं सबसे बड़ा कारण जिसे आप नहीं जानते हैं

Third party image reference

चंद्रमा पर व्यक्ति को भेजने से विशेष वैज्ञानिक लाभ भी प्राप्त नहीं होता है। इसलिए 1972 के पश्चात नासा ने कोई भी व्यक्ति चंद्रमा पर नहीं भेजा था। लेकिन अब नासा चांद पर व्यक्ति भेजने की तैयारी कर रहा है।

Third party image reference

सन 1972 के बाद चंद्रमा पर आदमी न भेजने का दूसरा कारण यह भी है कि नासा 1972 के बाद कई महत्वपूर्ण अभियानों पर काम कर रहा था। जिनमें मंगल पर जीवन की खोज आकाशगंगा की खोज और नए ग्रहों और उपग्रहों की खोज मुख्य अभियान थे।

Third party image reference

इन अभियानों में सबसे महत्वपूर्ण अभियान मंगल ग्रह पर जीवन की खोज करना था। लेकिन अब नासा जल्द ही चंद्रमा पर आदमी भेजने के प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है।


https://www.ucnews.in/news/1972-%E0%A4%95%E0%A5%87-%E0%A4%AC%E0%A4%BE%E0%A4%A6-%E0%A4%95%E0%A5%8B%E0%A4%88-%E0%A4%AD%E0%A5%80-%E0%A4%9A%E0%A4%BE%E0%A4%82%E0%A4%A6-%E0%A4%AA%E0%A4%B0-%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%82-%E0%A4%A8%E0%A4%B9%E0%A5%80%E0%A4%82-%E0%A4%97%E0%A4%AF%E0%A4%BE-%E0%A4%AF%E0%A4%B9-%E0%A4%B9%E0%A5%88%E0%A4%82-%E0%A4%B8%E0%A4%AC%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%AC%E0%A4%A1%E0%A4%BC%E0%A4%BE-%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%B0%E0%A4%A3-%E0%A4%9C%E0%A4%BF%E0%A4%B8%E0%A5%87-%E0%A4%86%E0%A4%AA-%E0%A4%A8%E0%A4%B9%E0%A5%80%E0%A4%82-%E0%A4%9C%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%A4%E0%A5%87-%E0%A4%B9%E0%A5%88%E0%A4%82/3315221802179105.html

अगला लेख: मैं विद्युत् में तुम्हें निहारूँ - गोपाल सिंह नेपाली | Gopal Singh Nepali Poems In Hindi



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
20 सितम्बर 2019
चांद की सतह पर इसरो का विक्रम लैंडर पड़ा हुआ है. दो दिनों बाद चांद पर रात होने वाली है. 14 दिनों की रात. और इसके बाद चंद्रयान के विक्रम लैंडर से संपर्क नहीं साधा जा सकेगा.लेकिन रात होने के पहले सभी लोगों की उम्मीदें अब इतनी हैं कि वे एक बार विक्रम लैंडर को देख लें. उस विक्
20 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
नई दिल्ली। चंद्रयान-2 को लेकर जहां पूरा देश इसरो के वैज्ञानिकों की हौसलाअफजाई कर रहा है तो वहीं कांग्रेस के नेता उदित राज ने एक बेतुका बयान दिया है, जिसके बाद लोग जमकर उनको लताड़ लगा रहे हैं।दरअसल, उदित राज ने ट्वीट किया, ‘हमारे इसरो के वैज्ञानिकों ने अगर नारियल फोड़ने और
10 सितम्बर 2019
06 सितम्बर 2019
एक सितंबर 2019. नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हुआ. इसके बाद ट्रैफिक नियम तोड़ने पर भारी जुर्माना लग रहा है. कई मामले मीडिया की सुर्खियां बने हैं. क्योंकि गाड़ी की कीमत से ज्यादा का चालान कट रहा है. ट्रैफिक पुलिस की चेकिंग भी बढ़ गई है. चालान से बचने के लिए पलूशन सर्टिफिकेट और
06 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
रिलायंस ने जियो के तीन साल पूरा होने पर पांच सितंबर को जियो फाइबर सेवा लॉन्च कर दी है। यह सेवा एक साथ देश के 1600 शहरों में लॉन्च की गई है। अपने वादे के अनुसार, रिलायंस ने जियो फाइबर के 1299 रुपए या इससे ज्यादा मासिक वाले प्लान के साथ फ्री
10 सितम्बर 2019
10 सितम्बर 2019
हमारे समाज की आपसे कई अपेक्षाएं होती हैं. बचपन से लेकर बूढ़े होने तक के सफर में कुछ मापदंड होते हैं. जिनपर आपको खरा उतरना होता है. नहीं तो आप जज किए जाएंगे. बहुत बुरी तरह. मेजर मापदंडों की एक सूची पर नज़र मारते हैं-दसवीं का रिज़ल्ट. बारहवीं का रिज़ल्ट. ग्रेजुएशन. इंजीनियर
10 सितम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
10 सितम्बर 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x