लड़के ने 80 साल का बुड्ढा बनकर देश से भागने की कोशिश की, मगर एक गलती कर गया

12 सितम्बर 2019   |  अभय शंकर   (729 बार पढ़ा जा चुका है)

लड़के ने 80 साल का बुड्ढा बनकर देश से भागने की कोशिश की, मगर एक गलती कर गया

सफेद दाढ़ी, सिर पर पगड़ी जैसा गमछा, सफेद कुर्ता, चेहरे पर भोले-भाले एक्सप्रेशन. बस ऐसा ही गेटअप लेकर 30 साल का जयेश पटेल अमेरिका जाने के लिए निकल पड़ा. लेकिन पकड़ा गया. कहां? दिल्ली के IGI एयरपोर्ट पर. सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स (CISF) के जवानों ने उसे पकड़ लिया.

चकरा गए. चलिए आसान भाषा में समझाते हैं. एक आदमी, जिसका नाम जयेश पटेल है. वो 30 साल का है. लेकिन अमेरिका जाने के लिए उसने 80 साल के बुजुर्ग आदमी का गेटअप लिया. फेक पासपोर्ट बनवाया. अपना नाम अमरीक सिंह रखा. और एयरपोर्ट पहुंच गया. वहां CISF के जवानों को दाल में कुछ काला लगा. ‘बुजुर्ग आदमी’ की स्कीन और बर्ताव जवानों को थोड़ा अटपटा लगा.

8 सितंबर की शाम को CISF ने एक प्रेस रिलीज़ जारी करके इस बात की जानकारी दी. बताया कि जयेश ने एयरपोर्ट पर चेकिंग करवाने से मना कर दिया. कहा कि वो बहुत बुजुर्ग है, इसलिए वो ज़्यादा देर तक खड़ा नहीं हो सकता. सब इंस्पेक्टर राजवीर सिंह ने नोटिस किया कि वो ‘बुजुर्ग आदमी’ आई कॉन्टैक्ट नहीं कर रहा है. फिर पासपोर्ट की चेकिंग की गई. जिसमें लिखा था कि आदमी का नाम अमरीक सिंह है और उसका जन्म फरवरी, 1938 को हुआ था.

जयेश पटेल ने फेक पासपोर्ट भी बनवाया था. अपना नाम अमरीक सिंह रखा था. फोटो- CISF ट्विटर
जयेश पटेल ने फेक पासपोर्ट भी बनवाया था. अपना नाम अमरीक सिंह रखा था. फोटो- CISF ट्विटर

उसके बाद पासपोर्ट पर लगी फोटो से अमरीक का चेहरा मिलाया गया. फोटो और सामने खड़े आदमी के चेहरे के रंग पर अंतर दिखा. सामने खड़ा आदमी ज़्यादा यंग दिख रहा था. थोड़ा शक बढ़ा. इसलिए CISF के जवानों ने अमरीक से पूछताछ की. थोड़ा और ध्यान से ऑब्जर्व करने के बाद ये नोटिस किया गया कि ‘बुजुर्ग आदमी’ ने अपने बालों और दाढ़ी को सफेद रंग से रंगा है. और जो चश्मा उसने पहना था वो ज़ीरो पावर का था. उससे और कड़ी पूछताछ हुई, तब कहीं जाकर उस आदमी ने अपनी असली पहचान बताई. उसने बताया कि वो गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला है और उसका असली नाम जयेश पटेल है.

जयेश को इमिग्रेशन अधिकारियों के हवाले कर दिया गया है. वो आगे की जांच कर रहे हैं. इस बात की जांच भी की जा रही है, कि जयेश अपनी पहचान बदलकर अमेरिका क्यों जा रहा था.

अगला लेख: 1972 के बाद कोई भी चांद पर क्यों नहीं गया यह हैं सबसे बड़ा कारण जिसे आप नहीं जानते हैं...



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 सितम्बर 2019
रिलायंस जियो ने 14 अगस्त को अपनी फाइबर सेवाओं को लॉन्च करने की घोषणा की थी। आज यानि 5 सितंबर 2019 को जियो फाइबर की टैरिफ भी जारी कर दी। सेल्युलर सेवाओं में वर्चस्व कायम करने के बाद रिलायंस ने अब ऑप्टिकल फाइबर, केबल टीवी और लैंडलाइन के सेक्टर में धमाकेदार एंट्री कर ली है। जी हां, यह तीनों सेवाएं रिला
06 सितम्बर 2019
11 सितम्बर 2019
चालान कटने-काटने का सिलसिला नहीं थम रहा है. चालान पहले भी कट रहे थे लेकिन अब चालान ख़बर बन रहे हैं. नया मोटर व्‍हीकल एक्‍ट (new motor vehicle act 2019) लागू होते ही रोजाना अजीब चालान की खबरें सामने आ रही हैं. कहीं कोई मोटे चालान का दम भर विरोध कर रहा है, तो कहीं कोई चालान
11 सितम्बर 2019
09 सितम्बर 2019
आप भारत के मिशन चंद्रयान 2 की पूरी कहानी जानते हैं. नहीं जानते हैं, तो यहांक्लिक करके पढ़ सकते हैं. ये भी जानते हैं कि चंद्रयान 2 का ऑर्बिटर तो चंद्रमा के चक्कर लगा रहा है, लेकिन चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम से वैज्ञानिकों का संपर्क टूट गया है. इस पूरी प्रक्रिया में एक आदमी
09 सितम्बर 2019
09 सितम्बर 2019
नए यातायात अधिनियम का बिहार में भी खासा असर देखने को मिल रहा है। बक्सर में चालान कटने से गुस्साए युवक ने हंगामा खड़ा कर दिया। उसने हंगामा कर बिना हेलमेट बाइक चला रहे पुलिसवाले का भी चालान कटवा दिया।सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने के बाद दारोगा को एसपी ने निलंबित कर दिया
09 सितम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x