भारत में एक ऐसा भी मंदिर है जहां गजमुख नहीं इंसान रूप में विराज है भगवान गणेश

30 सितम्बर 2019   |  दैनिक राशिफल   (484 बार पढ़ा जा चुका है)

भारत में एक ऐसा भी मंदिर है जहां गजमुख नहीं इंसान रूप में विराज है भगवान गणेश

भारत का एकमात्र मंदिर जहां गजमुख की नहीं इंसान रूप की होती है पूजा

देश में गणेश चतुर्थी बड़े धूम धाम से मनाते है. गणेश चतुर्थी का पर्व पुरे देश में मनाया जाता है यह पर्व १० दिन बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है. आपने हमेशा गणेश जी को गजराज मुख में ही देखा होगा। आज हम आपको बतायेगे की भारत में एक ऐसा भी मंदिर है जहा गणेश की मूर्ति गजराज न होकर इंसान के रूप में है।

तमिलनाडु के कूटनूर से लगभग 2 कि.मी. की दूरी पर तिलतर्पणपुरी नामक स्थान पर भगवान गणेश का आदि विनायक मंदिर है, जहां वे इंसान के चेहरे में विराजित हैं। इस मंदिर की एक खूबी ये भी है कि, यह ऐसा एक मात्र गणेश मंदिर है जहां लोग अपने पितरों की शांति के लिए पूजन करने भी आते हैं। मान्यता है कि, इस जगह पर भगवान श्रीराम ने भी अपने पूर्वजों की शांति के लिए पूजा की थी। इसी परंपरा के चलते आज भी कई भक्त अपने पूर्वजों की शांति के लिए यहां पूजा करने आते हैं। तमिलनाडु में मौजूद ये मंदिर भले ही बहुत भव्य न हो लेकिन ये अपनी इस खूबी के लिए दुनिया भर में प्रसिद्द है।


pitra dosh puja

बता दें इस मंदिर के साथ-साथ यहां सरस्वती मंदिर भी है। सरस्वती मंदिर को कवि ओट्टकुठार ने बनवाया था। यहां आने वाले भक्त सरस्वती मंदिर के दर्शन किए बिना नहीं जाते हैं। मंदिर परिसर में भगवान शिव का भी मंदिर बना है। इस मंदिर से बाहर निकलते ही श्रीगणेश का नरमुखी मंदिर स्थित है।


तिलतर्पणपुरी का अर्थ
इस जगह का नाम तिलतर्पणपुरी पड़ने के पीछे भी एक बड़ा कारण है। तिलतर्पणपुरी दो शब्दों के मेल से बना है। पहला तिलतर्पण और दूसरा पुरी। तिलतर्पण का अर्थ होता है- पूर्वजों को समर्पित और पुरी का अर्थ होता है शहर, यानी इस जगह का मतलब ही है पूर्वजों को समर्पित शहर।

भारत का एकमात्र मंदिर जहां गजमुख की नहीं इंसान रूप की होती है पूजा


भारत में एक ऐसा भी मंदिर है जहां गजमुख नहीं इंसान रूप में विराज है भगवान गणेश


आज का राशिफल


अगला लेख: अश्विन मास है बहुत खास, करें मां शक्ति की उपासना, जानिए महत्व



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
24 सितम्बर 2019
2
25 सितम्बर बुधवार, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जातक की राशि में कोनसा ग्रह प्रवेश करेगा और उस ग्रह का क्या प्रभाव होगा है यह जानना बहुत महत्वपूर्ण है। नवग्रहों की चाल में बदलाव के कारण 25 सितम्बर को बुध ग्रह 6 राशियों में प्रवेश करेगा। बुध ग्रह के प्रवेश करने से इन ६ राशि के लोगो को राजसुख मिल सकता है
24 सितम्बर 2019
22 सितम्बर 2019
23 से 29सितम्बर 2019 तक का साप्ताहिकराशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर
22 सितम्बर 2019
25 सितम्बर 2019
हिन्दू धर्म में देखा जाये तो हर महीने का अपना खास महत्तव है। हिन्दू कैलेंडर तथा पंचांक के मुताबिक साल का सांतवा महीना अश्विन माह होता है। यह महीना देव पूजा और पितृ पूजा दोनों के लिए महत्वपूर्ण होता है। इस महीने से सूर्य का प्रभाव धीरे धीरे कमजोर होने लगता है, वही शनि और तमस का प्रभाव बढ़ने लगता है। इ
25 सितम्बर 2019
05 अक्तूबर 2019
आपके व्यक्तित्व पर होता है आपके जन्म दिन का प्रभावजिस दिन आपका जन्म हुआ, वह दिन काफी दिलचस्प है। शायद ही आप जानते हों कि आपके जन्म तारीख की ही तरह आपके पैदा होने के दिन (सोमवार से रविवार) से आपके बारे में कई सारी जानकारियां सामने आती हैं। यहां हम बात कर रहे हैं सप्ताह के
05 अक्तूबर 2019
24 सितम्बर 2019
2
25 सितम्बर बुधवार, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जातक की राशि में कोनसा ग्रह प्रवेश करेगा और उस ग्रह का क्या प्रभाव होगा है यह जानना बहुत महत्वपूर्ण है। नवग्रहों की चाल में बदलाव के कारण 25 सितम्बर को बुध ग्रह 6 राशियों में प्रवेश करेगा। बुध ग्रह के प्रवेश करने से इन ६ राशि के लोगो को राजसुख मिल सकता है
24 सितम्बर 2019
24 सितम्बर 2019
2
25 सितम्बर बुधवार, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जातक की राशि में कोनसा ग्रह प्रवेश करेगा और उस ग्रह का क्या प्रभाव होगा है यह जानना बहुत महत्वपूर्ण है। नवग्रहों की चाल में बदलाव के कारण 25 सितम्बर को बुध ग्रह 6 राशियों में प्रवेश करेगा। बुध ग्रह के प्रवेश करने से इन ६ राशि के लोगो को राजसुख मिल सकता है
24 सितम्बर 2019
15 सितम्बर 2019
16 से 22सितम्बर 2019 तक का साप्ताहिकराशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर
15 सितम्बर 2019
30 सितम्बर 2019
आज नवरात्री का दूसरा दिन है। आज आपको माँ दुर्गा की उपासना के बारे में बतायेगे. नवरात्रि के दौरान बहुत से लोग दुर्गा सप्तशती का पाठ करते है लेकिन ये नहीं जानते है की अगर सही तरीके से नहीं किया जाये तो माँ क्रोधित हो जाती है। दुर्गा सप्तशती में १३ अध्याय है जिसमे माँ दुर्गा
30 सितम्बर 2019
02 अक्तूबर 2019
गा
शिक्षा ........जन-जन के प्रेरणा स्त्रोत गांधीजी की सूक्तियों,चिंतनशील विचारों में समाहित अनगिनत शिक्षाओं को आत्मसात करने से,जीवन में तम की जगह उजास और प्रेरणा
02 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x