गांधी जयंती: इन 5 महिलाओं के करीब रहे महात्मा गांधी, क्या था रिश्ता?

01 अक्तूबर 2019   |  स्नेहा दुबे   (510 बार पढ़ा जा चुका है)

गांधी जयंती: इन 5 महिलाओं के करीब रहे महात्मा गांधी, क्या था रिश्ता?

2 अक्टूबर को पूरा देश गांधी जयंती मनाने वाला है, हर जगह तैयारियां खत्म हो चुकी हैं। स्कूल, कॉलेज और ऑफिसों में छुट्टी होती है या फिर देश के राष्ट्रपिता के रूप में उन्हें याद किया जाता है। गांधी के जीवन में बहुत कुछ अच्छा-बुरा हुआ, लेकिन उनके लिए सबसे आगे देश था और देश के लिए ही उन्होने खुद को समर्पित कर दिया। मगर कुछ किताबों में महात्मा गांधी के बारे में बहुत सी ऐसी चीजें लिखी हैं जिनके बारे में आमतौर पर लोगों को नहीं पता होगा। कुछ किताबों में ये भी लिखा है कि गांधी जी का संबंध इन 5 महिलाओं से था लेकिन ये संबंध किस रूप में इसके बारे में जानना देशवासियों के लिए जरूरी है।


5 महिलाओं के करीब थे महात्मा गांधी


Mahatma Gandhi

महात्मा गांधी की कई तस्वीरों में आपने उनके साथ अलग-अलग महिलाओं को देखा होगा। इस भीड़ में कुछ नाम ऐसे लोगों के रहे, जिन्हें भारत का लगभग हर नागरिक जानता है। मसलन जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल या कस्तूरबा गांधी, मगर इनके अलावा कौन था जो गांधी जी के करीब था? गांधी के करीब रही इस भीड़ में कुछ ऐसे लोग भी थे जिन्हें कम लोग जानते थे। हम आपको यहां कुछ ऐसी ही महिलाओं के बारे में बताएंगे जो मोहनदास करमचंद गांधी के विचारों की वजह से उनके करीब रहीं। इन महिलाओं की जिंदगी में गांधी जी ने एक गहरा असर छोड़ा था जिसके रास्ते पर चलकर महात्मा गांधी ने चलना शुरु किया और ये महिलाएं उसी रास्ते पर आगे बढ़ीं जिसके बारे में गांधी जी कहा करते थे। मगर ये महिलाएं गांधी जी के ज्यादातक करीब रहीं..


मेडेलीन स्लेड उर्फ मीराबेन (1892-1982)


Mahatma Gandhi

मेडेलीन ब्रिटिश एडमिरल सर एडमंड स्लेड की बेटी थीं जिनका जीवन ओहदेदार ब्रिटिश अफसर की बेटी होने के कारण अनुशासन में ही गुज़रा। मेडेलीन जर्मन पियानिस्ट और संगीतकार बीथोवेन की दीवानी थीं और इसी कारण वो लेखक और फ़्रांसीसी बुद्धिजीवी रोमैन रौलेंड के संपर्क में आई। ये वही रोमैन रौलेंड थे, जिन्होंने ना सिर्फ संगीतकारों पर लिखा बल्कि महात्मा गांधी की बायोग्राफी भी लिखी थी। गांधी पर लिखी हुई रोमन की बायोग्राफी ने मेडेलीन को काफी प्रभावित किया। गांधी का प्रभाव मेडेलीन पर इस कदर रहा कि उन्होंने ज़िंदगी को लेकर गांधी के बताए रास्तों पर चलने की ठानी और उनके सिद्धांतों को अपनाया। गांधी के बारे में पढ़कर वे काभी रोमांचित हुई और गांधी जी को एक खत लिखा अपने अनुभव साझा किए और आश्रम आने की इच्छा ज़ाहिर की थी। अक्टूबर, 1925 में वो मुंबई के रास्ते अहमदाबाद पहुंची और गांधी से अपनी पहली मुलाकात को मेडेलीन ने कुछ यूं बयां किया, 'जब मैं वहां दाखिल हुई तो सामने से एक दुबला शख्स सफेद गद्दी से उठकर मेरी तरफ बढ़ा। मैं जानती थी कि ये शख्स बापू थे और मैं हर्ष और श्रद्धा से भर गई थी, मुझे बस सामने एक दिव्य रौशनी दिखाई दे रही थी।


निला क्रैम कुक (1972-1945)


Mahatma Gandhi

आश्रम में लोग निला क्रैम कुक को निला नागिनी कहते थे और खुद को कृष्ण की गोपी मानने वाली निला माउंटआबू में एक स्वामी (धार्मिक गुरु) के साथ रहती थीं। अमेरिका में जन्मी निला को मैसूर के राजकुमार से इश्क हुआ और इन्होंने साल 1932 में गांधी को बैंगलुरु से खत लिखा था। इस खत में उन्होंने छुआछुत के ख़िलाफ किए जा रहे कामों के बारे में गांधीजी को बताया. दोनों के बीच खतों का सिलसिला शुरू हुआ और अगले बरस फरवरी, 1933 में निला की मुलाकात यरवडा जेल में महात्मा गांधी से हुई थी। बाद में वो एक रोज़ वृंदावन में मिलीं थी और कुछ समय बाद उन्हें अमरीका भेज दिया गया, जहां उन्होंने इस्लाम कबूल लिया और कुरान का अनुवाद भी किया।


सरला चौधरानी (1872-1945)


Mahatma Gandhi

उच्च शिक्षा और सौम्य नजर आने वाली सरला देवी की भाषाओं, सगीत और लेखन में काफी रूचि थी। सरला रविंद्रनाथ टैगोर की भतीजी भी थी और लाहौर में गांधी सरला के घर पर ही रुके थे। ये वैसा दौर था, जब सरला के स्वतंत्रता सेनानी पति रामभुज दत्त चौधरी जेल में सजा काट रहे थे। गांधी सरला को अपनी आध्यात्मिक पत्नी बताते थे और बाद के दिनों में गांधी ने भी ये माना कि इस रिश्ते के कारण उनकी शादी टूटते-टूटते बची। गांधी और सरला ने खादी के प्रचार के लिए भारत दौरा किया था। और दोनों के रिश्तों की खबर गांधी के करीबियों को भी हो गई। कुछ समय बाद हिमालय में एकांतवास करते हुए सरला की मौत हो गई थी।


सरोजिनी नायडू (1879-1949)


Mahatma Gandhi

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली महिला अध्यक्ष सरोजिनी नायडू हैं। गांधी की गिरफ्तारी के बाद नमक सत्याग्राह की अगुवाई सरोजिनी नायडू ने की थी। सरोजिनी और गांधी की पहली मुलाकात लंदन में हुई और इसके बाद सरोजिनी ने उसे कुछ इस तरह बताया था, 'एक छोटे कद का आदमी, जिसके सिर पर बाल नहीं थे। ज़मीन पर कंबल ओढ़े ये आदमी जैतून तेल से सने हुए टमाटर खाने वाले थे। दुनिया के मशहूर नेता को यूं देखकर मैं खुशी से हंसने लगी, तभी वो अपनी आंख उठाकर मुझसे पूछते हैं।' दुनिया में इनकी कविताओं को खूब पसंद किया गया।


राजकुमारी अमृत कौर (1889-1964)


Mahatma Gandhi

शाही परिवार से ताल्लुक रखने वाली राजकुमारी पंजाब के कपूरथला के राजा सर हरनाम सिंह की बेटी थी। इनकी पढ़ाई लंदन में हुई थी और उस दौरान ही इनकी मुलाकात गांधी जी से हुई थी। इन्हें गांधी जी की सबसे करीबी सत्याग्रहियों में गिना जाता था और इसके बदले में सम्मान और जुड़ाव रखने लगी थीं। नमक सत्याग्रह और साल 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में वे जेल भी गई थीं और आजाद भारत की पहली स्वास्थ्य मंत्री भी बनी थीं। गांधी राजकुमारी अमृत कौर को लिखे खत की शुरुआत कुछ इस तरह होती थी, 'मेरी प्यारी पगली और बागी।'

गांधी जयंती: इन 5 महिलाओं के करीब रहे महात्मा गांधी, क्या था रिश्ता?

अगला लेख: KBC में सोनाक्षी सिन्हा का बुरी तरह उड़ा मजाक, आलिया से तुलना करते हुए बन रहे हैं Memes



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
04 अक्तूबर 2019
आधुनिक भारत में बहुत सारी चीजें बदल रही हैं, चीजें डिजिटल हो रही हैं। हर जगह आधुनिकता ही काम हो रहे हैं, रेलवे हो या सिनेमाहॉल जगह डिजिटल भारत अपना परचम लहरा रहा है। अब तक लोगों को जानकारी थी कि अगर लंबी दूरियां तय करनी है तो फ्लाइट का सहारा लिया जाता है लेकिन अगर दिल्ली से वैष्णों देवी जाना है तो
04 अक्तूबर 2019
30 सितम्बर 2019
मालवा का प्रसिद्ध भोजन। कोई भी खास मौका इसके बगैर खास नहीं होता। कई घरों में तो छुट्टी के दिन बाटी बनना अनिवार्य है। नई बहुओं को भी पहले दिन ही परिवार के इस स्वादिष्ट नियम के बारे में बता दिया जाता है। हर घर की पसंद बाटी करीब तीन दिन तक खराब भी नहीं होती है। ऐसे में य
30 सितम्बर 2019
24 सितम्बर 2019
आजकल चालान को लेकर खूब चर्चाएं हर तरफ हो रही हैं और हो भी क्यों ना भारतीय इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब हेलमेट, आरसी या गाड़ी का कोई पेपर नहीं होने पर लंबा-चौड़ा चालान काटा जा रहा है। इसकी शुरुआत 5 हजार से लेकर एक लाख तक है और इस अमाउंट के अंदर स्कूटी से लेकर ट्रक तक शामिल हैं। ऐसे कई मामले सामन
24 सितम्बर 2019
19 सितम्बर 2019
बहुत साल हो गए लेकिन आज भी अयोध्या में राम जन्मभूमि को लेकर विवाद नहीं सुलझ पाया है। हर कोई इसके बारे में बात करता है लेकिन इस मुद्दे को आज तक कोई हल नहीं कर पाया। मोदी सरकार ने साल 2014 में सत्ता आने पर कहा था कि अब मंदिर वहीं बनेगा लेकिन इस बात को 5 साल बीत गए और केंद्र में उनकी दोबारा सरकार आ गई
19 सितम्बर 2019
10 अक्तूबर 2019
Bigg Boss-13 की शुरुआत हो चुकी है और ऐसे में घर में आने वाले कंटेस्टेंट्स का भी अपना-अपना शुरु हो गया। कोई खुद को अच्छा दिखाने में लगा है तो कोई बुरा बताना चाहता है। इस शो में यही तो खासियत है कि जो प्रतियोगी जितना लड़ते-झगड़ते हैं उन्हें उतना ही देखा जाना पसंद किया जाता है। बिग बॉस सीजन 11 में सलमा
10 अक्तूबर 2019
24 सितम्बर 2019
आजकल चालान को लेकर खूब चर्चाएं हर तरफ हो रही हैं और हो भी क्यों ना भारतीय इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है जब हेलमेट, आरसी या गाड़ी का कोई पेपर नहीं होने पर लंबा-चौड़ा चालान काटा जा रहा है। इसकी शुरुआत 5 हजार से लेकर एक लाख तक है और इस अमाउंट के अंदर स्कूटी से लेकर ट्रक तक शामिल हैं। ऐसे कई मामले सामन
24 सितम्बर 2019
19 सितम्बर 2019
बहुत साल हो गए लेकिन आज भी अयोध्या में राम जन्मभूमि को लेकर विवाद नहीं सुलझ पाया है। हर कोई इसके बारे में बात करता है लेकिन इस मुद्दे को आज तक कोई हल नहीं कर पाया। मोदी सरकार ने साल 2014 में सत्ता आने पर कहा था कि अब मंदिर वहीं बनेगा लेकिन इस बात को 5 साल बीत गए और केंद्र में उनकी दोबारा सरकार आ गई
19 सितम्बर 2019
26 सितम्बर 2019
साल 1913 में भारतीय सिनेमा की शुरुआत हुई और इसे दादा साहेब फाल्के ने शुरु किया था। धीरे-धीरे आधुनिकता फिल्मों में दिखने लगी और इंडस्ट्री भारत में अलग-अलग भाषाओं में बंट गई लेकिन सबसे पहले यहां हिंदी सिनेमा का ही जन्म हुआ था। इसके बाद सा
26 सितम्बर 2019
19 सितम्बर 2019
पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया, फेसबुक, वॉट्सऐप और ट्विटर पर उत्तर प्रदेश के बंटवारे की बातें चल रही हैं. दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश तीन राज्यों में बंटेगा. एक होगा उत्तर प्रदेश जिसकी राजधानी लखनऊ होगी. इसमें 20 जिले होंगे. यूपी के बंटवारे के बाद दूसरा राज्य बनेग
19 सितम्बर 2019
16 सितम्बर 2019
Mahatma Gandhi Biography- भारत के राष्ट्रपिता के रूप में पहचाने जाने वाले महात्मा गांधी का दर्जा आज भी बहुत ऊंचा है। भारतीय मुद्रा हो या फिर कोई सड़क का नाम हर जगह महात्मा गांधी को आज भी सम्मान दिया जाता है। उनकी तस्वीरें सरकारी भवनों में नजर आती हैं और इसके अलावा 15
16 सितम्बर 2019
18 सितम्बर 2019
व्हाट्सएप्प यूनिवर्सिटी की पहुंच गांव की चौपाल से लेकर देश की संसद और विधानसभाओं तक हो चुकी है. इसका परफेक्ट उदाहरण बीजेपी नेता विक्रम सिंह सैनी हैं. विक्रम सैनी मुजफ्फरनगर के खतौली से विधायक हैं. उन्होंने जवाहरलाल नेहरु को लेकर एक ऐसा कमेंट किया है जिसका पॉलिटिक्स से कोई
18 सितम्बर 2019
18 सितम्बर 2019
बॉलीवुड में अक्सर एक्ट्रेसेस Oops मोमेंट का शिकार हो जाती हैं और मीडिया को बातें करने का मौका मिल जाता है। ऐसा आलिया भट्ट, कंगना रनौत, तब्बू और भी कई एक्ट्रेसेस के साथ हो चुका है लेकिन ऐसा वे कभी जानबूझ कर नहीं करती हैं। अब ये दौर स्टारकिड्स का जमाना है और अमृता सिंह श्रीदेवी, चंकी पांडे सहित कई सित
18 सितम्बर 2019
16 सितम्बर 2019
Mahatma Gandhi Biography- भारत के राष्ट्रपिता के रूप में पहचाने जाने वाले महात्मा गांधी का दर्जा आज भी बहुत ऊंचा है। भारतीय मुद्रा हो या फिर कोई सड़क का नाम हर जगह महात्मा गांधी को आज भी सम्मान दिया जाता है। उनकी तस्वीरें सरकारी भवनों में नजर आती हैं और इसके अलावा 15
16 सितम्बर 2019
10 अक्तूबर 2019
भारत में चुनाव का जब माहौल होता है तब कुछ ऐसे चेहरे सामने आते हैं जिन्हें आपने पहले कभी नहीं देखा होता है लेकिन चुनाव के दौरान वे आपसे ऐसे बात करते हैं जैसे उनका आपका सदियों का नाता हो। कुछ ऐसा ही अब महार
10 अक्तूबर 2019
03 अक्तूबर 2019
बॉलीवुड में कई एक्ट्रेस आई और गईँ लेकिन कुछ अभिनेत्रियों की जगह कभी कोई नहीं ले सकता है। उन्हीं में से एक हैं एक्ट्रेस रेखा जिन्होंने 70, 80 और 90 के दशक में ना जाने कितनी सुपरहिट फिल्मों में काम किया है। बॉलीवुड एक्ट्रेस रेखा 64 साल की उम्र में भी बहुत खूबसूरत हैं, और आज भी अपनी एंट्री से मीडिया का
03 अक्तूबर 2019
10 अक्तूबर 2019
हर इंसान आरामदायक जिंदगी व्यतीत करने के लिए दिन-रात मेहनत करता है और फिर उसकी लाइफ अच्छे से कटती है। मगर पैसा कमाने के लिए मेहनत करनी होती है लेकिन बॉलीवुड की एवरग्रीन एक्ट्रेस रेखा के पास फिलहाल कोई काम नहीं है। फिर भी उनकी लाइफस्टाइल देखकर आप बिल्कुल नहीं कह सकते कि वे काम नहीं करती। या फिर हो सकत
10 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x