मिलना

13 अक्तूबर 2019   |  tejaswi यदलपति   (441 बार पढ़ा जा चुका है)

कोई तकदीर से मिलते हैं

तो कोई दुआ से
कोई चाहत से मिलते हैं

तो कोई तकरार से

कोई कोशिश से मिलते हैं

तो कोई मजबूरी से


ज़िन्दगी की राहों में

मिलना तो तै हैं

चाहे वो कैसे भी हो. ...


अगला लेख: पूजा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
12 अक्तूबर 2019
आओ बैठे आज फिर साथज़िंदगी की किताब के कुछ पन्ने फिर पलटेंकुछ अफ़साने तुम कहोकुछ क़िस्से हम सुनायेंकुछ लम्हे तुम जियो कुछ पल हम दोहराएँकुछ भूली हुई यादें,तुम ताज़ा करो कुछ स्मृतियाँ हम संजोयें कुछ क़समें तुम तोड़ो कुछ वादों से हम मुकरेंकुछ दूरियाँ तुम मिटाओकुछ फ़ासले हम तय करेंकुछ नज़दीक तुम आओ कुछ क
12 अक्तूबर 2019
17 अक्तूबर 2019
घूरती आखोँ में हँसी तंज की ठिठोली हैंअमानत थोड़ी हैं जो किसी की हो ली है उनकी रुह में भी, छोड़ आया हूँ खुद कोअभी लब्ज बोले हैं, मोहब्बत कहाँ बोली हैं
17 अक्तूबर 2019
25 अक्तूबर 2019
मैं जमाने को हंसाने के काम आता हूँ .किसी का दर्द मिटाने के काम आता हूँ .मुझको अखबार पुराना समझ के फेंको न यूँ .वक़्त पड़ने पे बिछाने के काम आता हूँ .
25 अक्तूबर 2019
03 अक्तूबर 2019
रात अभी बहुत कुछ बाकी हैरात होने को आई आधी हैलिखना बाकी अभी प्रभाती हैनक्षत्र "विशाखा" ऋतु- ''शरद" शुभकारी हैकल 'पंचमी', नक्षत्र अनुराधा, कन्या साथी हैस्वर्ण आभुषण प्रिये को देता पर प्लाटिनम-कार्ड खाली हैकवि उदास, कह लेता हूँ मृदु 'दो शब्द', कहना काफी हैडॉ. कवि कुमार निर्मल
03 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
रि
11 अक्तूबर 2019
09 अक्तूबर 2019
09 अक्तूबर 2019
30 सितम्बर 2019
12 अक्तूबर 2019
खि
03 अक्तूबर 2019
06 अक्तूबर 2019
01 अक्तूबर 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x