राम जन्मभूमि विवाद: आज से शुरु हुई अंतिम दौर की सुनवाई. अयोध्या में लगी धारा 144

14 अक्तूबर 2019   |  स्नेहा दुबे   (470 बार पढ़ा जा चुका है)

राम जन्मभूमि विवाद: आज से शुरु हुई अंतिम दौर की सुनवाई. अयोध्या में लगी धारा 144

साल 1992 से राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद चल रहा है और इसपर आज तक कोई फैसला नहीं लिया गया। अयोध्या में उस स्थान पर मंदिर बनेगा या मस्जिद होगी ये कहा जाना अभी मुश्किल है लेकिन बहुत जल्द ऐसा समय आने वाला जब किसी एक के हक में फैसला आ जाएगा। अभी सुनवाई का दौर सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है और इस संभावित फैसले को लेकर अयोध्या के जिलाधिकारी ने जिले में धारा 144 लागू कर दी है। जिलाधिकारी के निर्देश के अनुसार अयोध्या में 10 दिसंबर तक धारा 144 लागू की है।अयोध्या विवाद के संभावित फैसले के अलावा दीपोत्सव, चेहल्लुम और कार्तिक मेले को लेकर धारा 144 दो महीने तक अयोध्या जनपद में लागू रहने का आदेश दिया गया है।


अयोध्या में लागू हुई धारा 144


ayodhya

दशहरा की एक हफ्ते की छुट्टी के बाद उच्चतम न्यायालय में अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी भूमि विवाद मामले पर सुनवाई की गई। इस सुनवाई को 14 अक्टूबर यानी आज अंतिम चरण पर प्रवेश में लाई गई और न्यायालय की संविधान पीठ 38वें दिन इस मामले पर सुनवाई करेगी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने इस मुद्दे का हल निकालने के लिए कई नाकामियों के बाद 6 अगस्त को इसकी कार्यवाही शुरु की थी। इलाहाबाद उच्च न्यायालय के साल 2014 के फैसले के खिलाफ शीर्ष न्यायालय 14 अपीलों पर सुनवाई हो रही है। पीठ ने इस मामले में न्यायालय की कार्यवाही पूरी करने की समय सीमा के बारे में बाताया था और इसके लिए 17 अक्टूबर की तारिख तय की है। पीठ के सदस्यों में न्यायमूर्ति एस ए बोबडे, न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूर्ण, न्यायामूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस ए नजीर शामिल हैं।


न्यायालय ने अंतिम चरण की दलीलों के लिए कार्यक्रम निर्धारित करने को कहा है कि मुस्लिम पक्ष 14 अक्टूबर तक अपनी सभी दलीलें पूरी करें। इसके बाद हिंदू पक्ष को भी अपनी सभी दलीलें 16 अक्टूबर तक पूरा करने को कहा गया है। इसके बाद 17 नवंबर को इस मुद्दे पर फैसला सामने आ जाने की पूरी उम्मीद जताई जा रही है। आपको बता दें कि इसी दिन प्रधान न्यायाधीश गोगोई रिटायर्ड हो रहे हैं।


मुस्लिम समुदाय ने किया है विरोध


ayodhya

विश्व हिंदू परिषद ने इस बार गर्भगृह में विराजमान रामलला के साथ दीपावली मनाने का निर्णय लिया है और इसके साथ ही वे लोग वहां पर 51 हजार दीप जलाकर भगवान राम को समर्पित करना चाहते हैं। हिंदू जनमानस का ये विश्वास है कि मंदिर के हक में फैसला आएगा लेकिन दीपोत्सव की इस मांग को लेकर मुस्लिम समाज ने भी कड़ा रुख कर लिया है। मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब ने बताया कि विवादित परिसर में अगर विश्व हिंदू परिषद को दीपदान की अनुमति मिलेगी तो फिर मुस्लिम समाज भी विवादित परिसर में नमाज पढ़ने की अनुमति मांगने की प्रक्रिया दर्ज कराएगा।

अगला लेख: बड़ा खुलासा: निर्भया की दर्दनाक कहानी सुनाने के लिए एक लाख रुपये चार्ज करता है उसका दोस्त



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
17 अक्तूबर 2019
https://duniaabhiabhi.com/astrology-analysis-of-ram-temple/
17 अक्तूबर 2019
04 अक्तूबर 2019
आधुनिक भारत में बहुत सारी चीजें बदल रही हैं, चीजें डिजिटल हो रही हैं। हर जगह आधुनिकता ही काम हो रहे हैं, रेलवे हो या सिनेमाहॉल जगह डिजिटल भारत अपना परचम लहरा रहा है। अब तक लोगों को जानकारी थी कि अगर लंबी दूरियां तय करनी है तो फ्लाइट का सहारा लिया जाता है लेकिन अगर दिल्ली से वैष्णों देवी जाना है तो
04 अक्तूबर 2019
24 अक्तूबर 2019
सुप्रीमकोर्ट में अब हिंदू और मुस्लिम पक्ष से सारी दलीलें 16 अक्टूबर को ही बंद कर दी गई थी। अब इस राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद पर फैसला दीवाली की छुट्टियों के बाद आ सकता है। पूरा देश अपने-अपने समर्थन में फैसला आने का इंतजार कर रहे हैं मगर क्या आपको ये मामला पूरी तरह से पता है? अगर पता है तो क्या आपको
24 अक्तूबर 2019
30 सितम्बर 2019
मां दुर्गा का प्रत्येक स्वरूप मंगलकारी है और एक-एक स्वरूप एक-एक ग्रह से संबंधित है। इसलिए नवरात्रि में देवी के नौ स्वरूप की पूजा प्रत्येक ग्रहों की पीड़ा को शांत करती है।देवी माँ या निर्मल चेतना स्वयं को सभी रूपों में प्रत्यक्ष करती है,और सभी नाम ग्रहण करती है। माँ दुर्गा के नौ रूप और हर नाम में एक
30 सितम्बर 2019
30 सितम्बर 2019
वास्तु शास्त्र के प्रसिद्ध ग्रंथ: समरांगण सूत्रधार, मानसार, विश्वकर्मा प्रकाश, नारद संहिता, बृहतसंहिता, वास्तु रत्नावली, भारतीय वास्तु शास्त्र, मुहूत्र्त मार्तंड आदि वास्तुज्ञान के भंडार हैं। अमरकोष हलायुध कोष के अनुसार वास्तुगृह निर्माण की वह कला है, जो ईशान आदि कोण से आरंभ होती है और घर को विघ्नों
30 सितम्बर 2019
16 अक्तूबर 2019
नागालैंड की राजधानी कोहिमा में 5 अक्टूबर को मिस कोहिमा ब्यूटी पीजेंट 2019 का फाइनल राउंड आयोजित हुआ ता। इनमें तीन विनर्स को चुना गया और उनसे अलग-अलग तरह के सवाल किए जा रहे थे। अब इनमें एक कंटेस्टेंट से ऐसा सवाल पूछा गया जिसका जवाब उसने अपनी सूझ-बूझ के साथ दिया। ये सवाल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र म
16 अक्तूबर 2019
14 अक्तूबर 2019
16 दिसंबर, 2012 को भारत की राजधानी से ऐसी खबर आई जिसने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया। 16 दिसंबर की रात करीब 9.30 बजे चलती बस में एक 22 साल की लड़की के साथ 5 आदमियों ने बलात्कार किया और फिर उसे और उसके दोस्त को आधा मरा हुआ सड़क के किनारे फेंक दिया। इस वारदात के बाद पूरे देश में बलात्कार को लेकर सख्त क
14 अक्तूबर 2019
14 अक्तूबर 2019
आज के दौर में हर किसी को पहचान पाना मुश्किल है। महिला हो या पुरुष किसी का भी दिमाग गलत रास्ते पर निकल सकता है और आमतौर पर हम सभी पुरुष को ही गलत समझते हैं जबकि महिलाएं भी कुछ कम नहीं होती है। ऐसा ही एक किस्सा बिहार की राजधानी पटना में न
14 अक्तूबर 2019
30 सितम्बर 2019
प्रिय पाठकों/मित्रों, पृथ्वी, आकाश, जल, अग्नि एवं वायु इन पंचतत्वों तथा दसों दिशाओं के कल्याणकारी सूत्र एवं सिद्धान्त ही वास्तु शास्त्र की मूल अवधारणा है। प्रकृति के इन नियमों का पालन मनुष्य किस तरह शारीरिक एवं मानसिक विकास हेतु करके सुखी एवं सम्पन्न रहे, यही वास्तु श
30 सितम्बर 2019
04 अक्तूबर 2019
फिल्मों में काम दो तरीकों से मिलता है पहला आप स्टारकिड होने चाहिए या तो आपके अंदर कोई ना कोई खास टैलेंट हो जिसमे आप फिल्म प्रोड्यूसर के कहने के मुताबिक कुछ भी कर दें। खासकर इनमें एक्ट्रेसेस का बोलबाला ज्यादा रहता है जब फिल्म मेकर के कहने पर वे कैसा भी सीन शूट कर देती थीं फिर इसके लिए उन्हें कुछ भी क
04 अक्तूबर 2019
17 अक्तूबर 2019
सितंबर के महीने में बिहार की राजधानी बारिश के कारण सराबोर हो गई थी, इसके बारे में तो हर किसी को पता ही होगा। बारिश आई और गई लेकिन इसके बाद बिहार की राजधानी पटना में इतनी परेशानियां लोगों को हुई इसके लिए आप पटना के किसी स्थानीय आदमी से ही बात कर सकते हैं। फिलहाल हम आपको बताते हैं कि पटना में इस बाढ़
17 अक्तूबर 2019
10 अक्तूबर 2019
भारत में चुनाव का जब माहौल होता है तब कुछ ऐसे चेहरे सामने आते हैं जिन्हें आपने पहले कभी नहीं देखा होता है लेकिन चुनाव के दौरान वे आपसे ऐसे बात करते हैं जैसे उनका आपका सदियों का नाता हो। कुछ ऐसा ही अब महार
10 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x