जिन्होंने भारत को कलाम जैसा बेटा दिया, क्या आप जानते हैं वे खुद कैसी होंगी?

16 अक्तूबर 2019   |  स्नेहा दुबे   (439 बार पढ़ा जा चुका है)

जिन्होंने भारत को कलाम जैसा बेटा दिया, क्या आप जानते हैं वे खुद कैसी होंगी?

आजतक देश में बहुत से ऐसे लोग आए जिन्होंने अपनी हर सांस देश के नाम कर दी। किसी एक का नाम लेना सही नहीं होगा लेकिन यहां पर डॉ. अवुल पाकिर जैनुल्लाब्दीन अब्दुल कलाम की बात करना सही होगा क्योंकि इन्होने भारत को अलग ही मुकाम पर पहुंचाया था। अब्दुल कलाम साहब जितने बड़े पद पर थे उनका व्यक्तित्व जमीन से जुड़ा थ। इस वजह से हर तरह के लोग उनसे बिना हिचके आसानी से बात कर लिया करते थे। उनके जन्मदिन के मौके पर उनकी माता के साथ की उनकी बचपन की तस्वीर काफी वायरल हुई और लोगों ने सोशल मीडिया पर इसे बहुत पसंद किया। मगर क्या आपने इनकी मा ंकी तस्वीर देखी है?


कलाम साहब अपनी मां की तरह ही थे


अब्दुल कलाम

15 अक्टूबर, 1931 को दक्षिण भारत के तमिलनाडु के रामेश्वरम में जन्में अब्दुल कलाम अपनी मां के सबसे करीब थे। इनकी माता का नाम आशियामा जैनुल्लाब्दीन था और कलाम साहब के मुताबिक वे काफी शांत स्वभाव की महिला थीं। कलाम हमेशा बच्चों से कहते थे कि हर दिन एक ऐसा काम जरूर करो जिससे आपकी मां के चेहरे पर मुस्कान आए। मां से बड़ा दुनिया में और कोई रिश्ता नहीं होता है। कलाम साहब अपनी मां को लेकर बहुत भावुक रहते थे और उनके अनुसार उनकी मां ने ही उन्हें अच्छे-बुरे की परख सिखाई है। पैसे ना हो पाने की वजह से आगे की पढाई करना मुश्किल था लेकिन कलाम साहब की मां ने उनका हर कदम पर साथ दिया था और उनकी बातों से प्रेरित होकर वे न्यूजपेपर बेचकर अपनी पढ़ाई कर पाते थे। एपीजे अब्दुल कलाम ने मुख्य रूप से एक वैज्ञानिक के रूप में चार दशकों तक रक्षा अनुसंधान एंव विकास संगठन और इसको को भी संभाला। इसके अलावा देश में सैन्य मिसाइल के विकास के प्रयासों में भी शामिल रहे थे।


अब्दुल कलाम

इनकी पढ़ाई सेंट जोसेफ कॉलेज, तिरुचिरापल्ली से हुई और साल 2002 में इन्हें भारत का राष्ट्रपति बनाया गया था। 5 वर्ष की अवधि के बाद वे वापस शिक्षा, लेखन और सार्वजनिक सेवाओं में लौट गए। पेशे में मछुआरा परिवार होने के कारण इनके यहां किसी की शिक्षा अच्छी नहीं थी और ये 5 भाई के साथ 5 बहने थे। इनके पिता नाविक थे और मछुवाओं को नाव किराए पर दिया करते थे। ऐसा माना जाता हैकि पिता के जाने के बाद कलाम साहब के परिवार ने बहुत गरीबी देखी और घर के बड़े होने के नाते इन्हें अखबार बेचकर अपनी पढ़ाई और घर का खर्च चलाना पड़ता था। कलाम साहब ने हिम्मत नहीं हारी और हमेशा आगे बढ़कर काम काम करते रहे और इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। अब्दुल कलाम अक्सर कॉलेजेस में बच्चों को लेक्चर देने जाते थे और वहां उन्हें उडऩे की सलाह देते थे। एक दिन ऐसे ही लेक्चर देने शिलॉन्ग गए और वहां अचानक दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था। 27 जुलाई, 2015 में हुई इस घटना ने हर किसी को झकझोर दिया और देश ने अपना बेटा खोया जिनके लिए हर कोई रोया था। इसके बाद सरकार ने भी इनके निधन के बाद 7 दिनों का राष्ट्रीय शोक की घोषणा कर दी थी।

जिन्होंने भारत को कलाम जैसा बेटा दिया, क्या आप जानते हैं वे खुद कैसी होंगी?

अगला लेख: बड़ा खुलासा: निर्भया की दर्दनाक कहानी सुनाने के लिए एक लाख रुपये चार्ज करता है उसका दोस्त



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 अक्तूबर 2019
अक्सर आम लोगों में पेट्रोल और डीज़ल के भाव को लेकर सरकार से नाराजगी होती है। पेट्रोल और डीजल से लोगों की भावनाएं जैसे जुड़ी रहती हैं क्योंकि इसके बिना लोगों को काफी समस्या होती है खासकर जिनके पास अपनी गाड़ी होती है। सरकार ने अब नई पेट्रोल और डीजल की कीमत बताई है जो आपको जरूर जाननी चाहिए। आम आदमी को
11 अक्तूबर 2019
14 अक्तूबर 2019
आज के दौर में हर किसी को पहचान पाना मुश्किल है। महिला हो या पुरुष किसी का भी दिमाग गलत रास्ते पर निकल सकता है और आमतौर पर हम सभी पुरुष को ही गलत समझते हैं जबकि महिलाएं भी कुछ कम नहीं होती है। ऐसा ही एक किस्सा बिहार की राजधानी पटना में न
14 अक्तूबर 2019
11 अक्तूबर 2019
दिल्ली मेट्रो भारत की सबसे बड़ी बड़ी मेट्रो लाइन है और ऐसे में दिल्ली सरकार कई तरह की स्कीम इसमें चलाती रहती है। पिछले दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं के लिए मेट्रो का सफर फ्री कर दिया है हालांकि अभी ये लागू नहीं किया गया है। अब दिल्ली मेट्रो से एक ऐसी खबर आ रही है जिससे मेट्र
11 अक्तूबर 2019
16 अक्तूबर 2019
नागालैंड की राजधानी कोहिमा में 5 अक्टूबर को मिस कोहिमा ब्यूटी पीजेंट 2019 का फाइनल राउंड आयोजित हुआ ता। इनमें तीन विनर्स को चुना गया और उनसे अलग-अलग तरह के सवाल किए जा रहे थे। अब इनमें एक कंटेस्टेंट से ऐसा सवाल पूछा गया जिसका जवाब उसने अपनी सूझ-बूझ के साथ दिया। ये सवाल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र म
16 अक्तूबर 2019
14 अक्तूबर 2019
साल 1992 से राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद चल रहा है और इसपर आज तक कोई फैसला नहीं लिया गया। अयोध्या में उस स्थान पर मंदिर बनेगा या मस्जिद होगी ये कहा जाना अभी मुश्किल है लेकिन बहुत जल्द ऐसा समय आने वाला जब किसी एक के हक में फैसला आ जाएगा। अभी सुनवाई का दौर सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है और इस संभाव
14 अक्तूबर 2019
10 अक्तूबर 2019
भारत में चुनाव का जब माहौल होता है तब कुछ ऐसे चेहरे सामने आते हैं जिन्हें आपने पहले कभी नहीं देखा होता है लेकिन चुनाव के दौरान वे आपसे ऐसे बात करते हैं जैसे उनका आपका सदियों का नाता हो। कुछ ऐसा ही अब महार
10 अक्तूबर 2019
10 अक्तूबर 2019
हर इंसान आरामदायक जिंदगी व्यतीत करने के लिए दिन-रात मेहनत करता है और फिर उसकी लाइफ अच्छे से कटती है। मगर पैसा कमाने के लिए मेहनत करनी होती है लेकिन बॉलीवुड की एवरग्रीन एक्ट्रेस रेखा के पास फिलहाल कोई काम नहीं है। फिर भी उनकी लाइफस्टाइल देखकर आप बिल्कुल नहीं कह सकते कि वे काम नहीं करती। या फिर हो सकत
10 अक्तूबर 2019
10 अक्तूबर 2019
भारत में चुनाव का जब माहौल होता है तब कुछ ऐसे चेहरे सामने आते हैं जिन्हें आपने पहले कभी नहीं देखा होता है लेकिन चुनाव के दौरान वे आपसे ऐसे बात करते हैं जैसे उनका आपका सदियों का नाता हो। कुछ ऐसा ही अब महार
10 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x