सिरफिरे

21 अक्तूबर 2019   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (4229 बार पढ़ा जा चुका है)

सिरफिरे

धर्म और मज़हब के नाम पर जो एक सिरफिरापन हर तरफ दिखाई दे रहा है उसी विषय पर एक अच्छा लेख डॉ दिनेश शर्मा का. ..

सिरफिरे
दिनेश डॉक्टर
कुछ सिरफिरे इधर भी है और उधर भी !
क्योंकि ये सिरफिरे है तो इनका सोच भी बेसिर पैर का ही है ।
जैसे कुछ सोचते हैं कि बीस पच्चीस करोड़ मुसलमान हनुमान जी की गदा से एक ही रात में धुआं होकर गायब हो जाएंगे और भारत हमेशा के लिए हिन्दू राष्ट्र बन जाएगा ।
और कुछ सोचते है कि अल्लाह का एक एक बंदा इतना ताकतवर है कि सौ सौ काफिरों को नाराए तकदीर चिल्ला कर बंधे हुए बकरों की तरह जिबह करके इस मुल्क में ग़ज़वाये हिन्द का सदियों पुराना मंसूबा पूरा कर देगा ।
अब क्योंकि ये सिरफिरे है तो हर दूसरे तीसरे सिरफिरे की बात पर आसानी से यकीन भी कर लेते है । ये सोचते है कि ऐसा होने से सूबों में नदियों के पानी के बंटवारे के, हवा और पानी के प्रदूषण के, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के, भाषाओं के, जातियों के, शिया सुन्नी अहमदियों के, बलोचों और कश्मीरियों के, देवबंदियों और बरेलवियों के वगैरा वगैरा सारे मसले छू मंतर हो जाएंगे ।
मेरी आपकी बातें इनके पल्ले नहीं पड़ने वाली क्योंकि धर्म या मजहब नाम के तेज़ कास्टिक सोडे से इनका ब्रेन वाश या सिर धुलाई अच्छी तरह हो रक्खी है । ऐसा न करें कि इनको इनकी बेसिरपैर की दुनिया में छोड़ कर ठण्डी ठंडी आइस्क्रीम खाएँ ।

कहते है कि ठंडी ठंडी आइसक्रीम खाने से दिमाग सुन्न यानी के नम्ब हो जाता है ।

अगला लेख: ध्यान - खोज मन के भीतर - स्वामी वेदभारती जी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
19 अक्तूबर 2019
नक्कारखाने में तूतीदिनेश डाक्टरकुछ दिनों से कुछ मित्र धार्मिक वैमनस्य और अलगावबढ़ाने वाली हिन्दू मुसलमान वाली पोस्ट्स शेयर कर रहे हैं । पहले मैंने सोचा किउन्हें ब्लॉक कर दूं या उस प्रकार के ग्रुप्स छोड़ दूं । पर गहन विचार करने से इस निर्णय पर पहुंचा कियह समाधान नहीं होगा क्योंकि ये लोग बिना इस प्रक
19 अक्तूबर 2019
09 अक्तूबर 2019
सुधी पाठकों के लिए प्रस्तुत है मेरी ही एक पुरानी रचना....पुष्प बनकर क्या करूँगी, पुष्पका सौरभ मुझे दो |दीप बनकर क्या करूँगी, दीप का आलोक दे दो ||हर नयन में देखना चाहूँ अभय मैं,हर भवन में बाँटना चाहूँ हृदय मैं |बंध सके ना वृन्त डाल पात से जो,थक सके ना धूप वारि वात से जो |भ्रमर बनकर क्या करू
09 अक्तूबर 2019
11 अक्तूबर 2019
दिल्ली मेट्रो भारत की सबसे बड़ी बड़ी मेट्रो लाइन है और ऐसे में दिल्ली सरकार कई तरह की स्कीम इसमें चलाती रहती है। पिछले दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिलाओं के लिए मेट्रो का सफर फ्री कर दिया है हालांकि अभी ये लागू नहीं किया गया है। अब दिल्ली मेट्रो से एक ऐसी खबर आ रही है जिससे मेट्र
11 अक्तूबर 2019
11 अक्तूबर 2019
जब से भारत ने जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाया है तब से पाकिस्तान में खलबली मची है। ऐसा लग रहा है कि भारत ने उनके देश के लिए कोई फैसला ले लिया हो। तब से भरात पर कोई ना कोई बयान कसते हुए ये देश अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। हमेशा उल्टे-सीधे बयान देकर पाकिस्तान पूरी दुनिया मेंं हंसी के पात्र बन गया लेकि
11 अक्तूबर 2019
11 अक्तूबर 2019
अक्सर आम लोगों में पेट्रोल और डीज़ल के भाव को लेकर सरकार से नाराजगी होती है। पेट्रोल और डीजल से लोगों की भावनाएं जैसे जुड़ी रहती हैं क्योंकि इसके बिना लोगों को काफी समस्या होती है खासकर जिनके पास अपनी गाड़ी होती है। सरकार ने अब नई पेट्रोल और डीजल की कीमत बताई है जो आपको जरूर जाननी चाहिए। आम आदमी को
11 अक्तूबर 2019
16 अक्तूबर 2019
प्यार भरे कुछ दीप जलाओदीपमालिका काप्रकाशमय पर्व बस आने ही वाला है... कल करवाचौथ के साथ उसका आरम्भ तो हो हीजाएगा... यों तो श्रद्धापर्व का श्राद्ध पक्ष बीतते ही नवरात्रों के साथ त्यौहारोंकी मस्ती और भागमभाग शुरू हो जाती है... तो आइये हम सभी स्नेहपगी बाती के प्रकाशसे युक्त मन के दीप प्रज्वलित करते हुए
16 अक्तूबर 2019
14 अक्तूबर 2019
आज के दौर में हर किसी को पहचान पाना मुश्किल है। महिला हो या पुरुष किसी का भी दिमाग गलत रास्ते पर निकल सकता है और आमतौर पर हम सभी पुरुष को ही गलत समझते हैं जबकि महिलाएं भी कुछ कम नहीं होती है। ऐसा ही एक किस्सा बिहार की राजधानी पटना में न
14 अक्तूबर 2019
14 अक्तूबर 2019
ध्यान धर्म नहीं है :पिछले अध्याय में हम चर्चा कर रहे थेकि भ्रमवश कुछ अन्य स्थितियों को भी ध्यान समझ लिया जाता है | जैसे चिन्तन मननअथवा सम्मोहन आदि की स्थिति को भी ध्यान समझ लिया जाता है | किन्तु हम आपको बता दें कि ध्यान न तोचिन्तन मनन है और न ही किसी प्रकार की सम्मोहन अथवा आत्म विमोहन की स्थिति है |
14 अक्तूबर 2019
11 अक्तूबर 2019
शरद पूर्णिमारविवार तेरह अक्तूबरको आश्विन मास की पूर्णिमा, जिसे शरद पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है का मोहकपर्व है | और इसके साथ ही पन्द्रह दिनों बाद आने वाले दीपोत्सव की चहल पहल आरम्भहो जाएगी | आज अर्द्धरात्र्योत्तर 12:36 परपूर्णिमा तिथि आरम्भ होगी और कल अर्द्धरात्र्योत्तर 2:38 तकरहेगी | देश के अलग
11 अक्तूबर 2019
06 अक्तूबर 2019
7 से 13 अक्टूबर2019 तक का साप्ताहिकराशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आ
06 अक्तूबर 2019
13 अक्तूबर 2019
14 से 20 अक्टूबर2019 तक का साप्ताहिकराशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर
13 अक्तूबर 2019
12 अक्तूबर 2019
ध्यानऔर इसका अभ्यासकिसी विषय पर मनन करना अथवा सोचनाध्यान नहीं है :चिन्तन, मनन – विशेष रूप से कुछप्रेरणादायक विषयों जैसे सत्य, शान्ति और प्रेम आदिके विषय में सोचना विचारना अर्थात मनन करना – चिन्तन करना – सहायक हो सकता है, किन्तु यह ध्यान की प्रक्रिया से भिन्न प्रक्रिया है | मनन करने में आपअपने मन को
12 अक्तूबर 2019
21 अक्तूबर 2019
21 से 27 अक्टूबर2019 तक का साप्ताहिकराशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर
21 अक्तूबर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
19 अक्तूबर 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x