तो इस मामले में बहनें है मराठी और हिंदी

31 अक्तूबर 2019   |  शिल्पा रोंघे   (451 बार पढ़ा जा चुका है)

बात जब अपनी मातृभाषा के अलावा दूसरी भाषा को सीखने की आती है, तब लोग ज्यादातर अंग्रेजी और दूसरी विदेशी भाषा जैसे मंदारिन, रुसी, स्पेनिश, जापानी, जर्मन आदि सीखना पसंद करते है क्योंकि ये बाजार की मांग भी है साथ ही रोजगार के अवसर उपलब्ध कराती है ऐसे में इनके प्रति रुझान होना स्वाभाविक भी है। रही बात हिंदी या क्षेत्रीय भाषा सीखने की तो जिन्हें प्राथमिक स्तर पर भी इसका ज्ञान नहीं है उन्हें ये काम थोड़ा मुश्किल लग सकता है क्योंकि भले ही हम बोलते वक्त पचास या सौ शब्द सीख भी लें लेकिन इन्हें पढ़ना और समझना उतना आसान नहीं लगता है साथ इस काम में वक्त भी बहुत लगता है जो हर किसी के पास नहीं होता है। हालांकी जिनकी रुची बहुत सारी भाषा सीखने में है उन्होंने कठिन सी समझी जाने वाली भाषा भी सीखी है।


राष्ट्रीय स्तर पर बोली जाने वाली हिंदी और क्षेत्रीय मराठी इस मामले में बहनें लगती है जिन्हें समझना मुश्किल नहीं लगता है क्योंकि दोनों ही की लिपी देवनागरी है। यानि इनके एक दो वर्ण को छोड़ दिया जाए तो सभी वर्ण लगभग समान है।


बहुत से हिंदी भाषी जो सालों से महाराष्ट्र में रह रहे है वो अब मराठी बोलने और समझने लगे है साथ जिनकी शिक्षा भी यही हुई है वो मराठी लेखन में रुची लेने लगे और लिखने है। साथ ही जो मराठी भाषी हिंदी भाषी प्रदेशों में रहते है वो भी हिंदी को बेहतर तरीके से लिखने समझने लगे है। मराठी के मृत्युंजय, ययाति जैसे उपन्यास हिंदी में भी लोकप्रिय हुए है तो वहीं प्रेमचंद को भी महाराष्ट्र में पढ़ा गया है।

थोड़े बहुत परिवर्तन के साथ बहुत से या जस के तस कई ऐसे शब्द है जो दोनों भाषाओं में समान है, लेकिन मात्राओं के मामले ये कह सकते है इन भाषाओं में आप थोड़ा उलझन में पड़ सकते है तब आपको लिखना थोड़ा कठिन लग सकता है लेकिन बोलचाल के लायक और समझने की योग्यता थोड़े बहुत प्रयास से हासिल की जा सकती है चाहे वो हिंदी बोलने वालों के लिए मराठी हो या मराठी बोलने वाले के लिए हिंदी हो। इंटरनेट पर आपको भाषा सीखाने वाले वीडियो और साईट्स मिल जाएगी।

अगला लेख: जानिए भाग्य बड़ा या कर्म



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
23 अक्तूबर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <
23 अक्तूबर 2019
11 नवम्बर 2019
भारतीय सैनिकों की वाहवाही हमेशा से देशवासी करते आए हैं क्योंकि ये सरहद पर हम सबकी रक्षा करते हैंं। वे वहां पर जगते हैं तभी हम अपने-अपने घरों में चैन से सो पाते हैं और ये एक सच में बहुत बहदुरी का काम है। मगर सरहद पर रहने वाले जवान भी तो आपकी और हमारी तरह इंसान हैं और उनका मन भी किसी ना किसी के प्रति
11 नवम्बर 2019
30 अक्तूबर 2019
कु
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedContent> <w:AlwaysShowPlaceh
30 अक्तूबर 2019
19 अक्तूबर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKerning/> <w:ValidateAgainstSchemas/> <w:SaveIfXMLInvalid>false</w:SaveIfXMLInvalid> <w:IgnoreMixedContent>false</w:IgnoreMixedC
19 अक्तूबर 2019
02 नवम्बर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></w:Val
02 नवम्बर 2019
17 अक्तूबर 2019
सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर मामले की अंतिम दिन की सुनवाई 16 अक्टूबर को पूरी हो गई। इस दिन राजीव धवन ने हिंदू महासभा द्वारा पेश किए गए नक्शे को फाड़ दिया। सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड के वकील धवन काफी गुस्सा हो गए और उन्होने कागज को कई बार फाड़ा और इस हरकत को सभी लोग देख रहे थे। इसके बाद न्यायधीश ने वकील को फ
17 अक्तूबर 2019
18 अक्तूबर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKe
18 अक्तूबर 2019
13 नवम्बर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML/> <o:AllowPNG/> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKer
13 नवम्बर 2019
07 नवम्बर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML></o:RelyOnVML> <o:AllowPNG></o:AllowPNG> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom>
07 नवम्बर 2019
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x