छठ व्रत पूजा 2019 - इन चार अर्घ्य से होती यह खास पूजा

31 अक्तूबर 2019   |  दैनिक राशिफल   (434 बार पढ़ा जा चुका है)

छठ व्रत पूजा 2019 - इन चार अर्घ्य से होती यह खास पूजा

छठ पूजा चार दिवसीय व्रत है, यह व्रत कार्तिक शुक्ल चतुर्थी से प्रारंभ होकर कार्तिक शुक्ल सप्तमी को समाप्त होता है यह व्रत ३६ घंटे का होता है इस व्रत के दौरान व्रतधारी पानी भी ग्रहण नहीं करते|

इस व्रत में छठी मैया की आराधना के साथ साथ सूर्य भगवान की आराधना भी बहुत महत्वपूर्ण मानी जाती है इस व्रत को चार भागो में विभाजित किया गया है जो इस प्रकार है -:

chhath pujaनहाय खाय -: यह व्रत का पहला दिन होता है जो कार्तिक शुक्ल चतुर्थी को होता है इस दिन घर की सफाई करके पवित्र किया जाता है और भोजन भी दिन में एक बार ही बनता है जिसमे कद्दू की सब्जी ,मूंग चना दाल का प्रयोग करते है|

खरना और लोहंडा -: यह व्रत का दूसरा दिन होता है जो कातिक शुक्ल पंचमी को होता है इस दिन व्रतधारी पूरा दिन उपवास करते है और सूर्यास्त के बाद पानी ग्रहण करते है इस दिन चावल, गुड़ हुए गन्ने के रास का प्रयोग करके खीर बनायीं जाती है|

संध्या अर्घ्य -: यह व्रत का तीसरा दिन होता है जो कार्तिक शुक्ल षष्ठी को होता है इस दिन व्रतधारी गेहू के आटे से बना ठेकुआ जो की विशेष प्रसाद होता है जिसे महिलाये डूबते हुए सूरज को अर्ध्य देकर पांच बार परिक्रमा करती है|

Chhath Pujaउषा अर्घ्य -: यह व्रत का अंतिम और बहुत महत्वपूर्ण दिन होता है,जिसमे कार्तिक शुक्ल की सप्तमी को सुबह उदित सूर्य देव को अर्ध्य दिया जाता है सभी महिलाये घाट पर सूर्योदय के पहले पहुंच कर उगते सूर्य की पूजा करने लगते है|

इस तरह पुरे व्रत को बड़ी श्रद्धा के साथ बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है|

छठ व्रत पूजा 2019 - इन चार अर्घ्य से होती यह खास पूजा

अगला लेख: धनतेरत पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 6 से रात 8.34 बजे तक रहेगा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
04 नवम्बर 2019
हिन्दू धर्म में बहुत सारे पर्व और त्योहार मनाये जाते है | उसी तरह हिन्दू धर्म में देवउठनी एकादशी का बहुत महत्व होता है | यह पर्वे शुक्ल पक्ष की एकादशी को देव जागरण के रूप में मनाया जाता है | इस बार यह पर्वे ८
04 नवम्बर 2019
08 नवम्बर 2019
हर परम्परा का अपना एक गुरु मंत्र होता है और किसी भी मंत्र को गुप्त रूप से और मौखिक रूप से एक गुरु द्वारा संप्रेषित किया जाता है जो उस व्यक्ति के लिए एक गुरु-मंत्र बन जाता है, जिसके लिए इसका संचार किया जाता है
08 नवम्बर 2019
04 नवम्बर 2019
हिन्दू धर्म में बहुत सारे पर्व और त्योहार मनाये जाते है | उसी तरह हिन्दू धर्म में देवउठनी एकादशी का बहुत महत्व होता है | यह पर्वे शुक्ल पक्ष की एकादशी को देव जागरण के रूप में मनाया जाता है | इस बार यह पर्वे ८
04 नवम्बर 2019
07 नवम्बर 2019
मकर राशिकल ८ नवंबर २०१९ मकर राशि वाले जातको के लिए बड़ा शुभ दिन है | इन राशि वालो को कल अपना सच्चा प्यार मिल सकता है जो आपकी भावनाओं की कद्र करेगा | जो आपके दुःख और सुख में आपका साथ देगा| आपके जीवन के अटके सभी कार्य में सफलता प्राप्त होगी| संतान की सफलता से आपका मन अत्यधिक
07 नवम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
30 अक्तूबर 2019
30 अक्तूबर 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x