मां शारदे तू मुझे वर दे

07 नवम्बर 2019   |  sanjay nirala   (431 बार पढ़ा जा चुका है)

ज्ञान दायिनी ,
वीणा वादनी ,
हंश वाहिनी ,
मां शारदे ,
तू मुझे वर दे ,
मै अल्प ज्ञानी ,
जग से हारा ,
आया तेरे दर पे ,
मां तू मुझे वर दे ,
तू करुणा की सागर ,
तू स्नेहशील की गागर ,
वीणा की तेरी धुन निराली ,
मनमोहक मुस्कान तेरी स्नेहवाली ,
काम क्रोध का मैं मारा ,
घुमता फिरू आवारा जैसा ,
निकलूं मैं इस भंवर से माता ,
तू मुझपे रहम कर दे ,
मां शारदे तू मुझे वर दे ,
तेरी करुणा की छाया से ,
महामूर्ख भी पंडित हुए ,
तेरी स्नेह की साया से ,
भोगी भी योगी हुए ,
मैं मूर्ख व्यविचारों से घिरा ,
मां शारदे तू मुझे ज्ञान दे ,
सतचित का हो आचरण ,
कर कर्म से हो जग का भला ,
मैं रहूं या ना रहूं ,
जग में फैले ,
ज्ञान प्रकाश का ज्योति हमेशा ,
मां शारदे तू मुझे वर दे ।🤔
धन्यवाद 🙏
_____संजय निराला ✍️

अगला लेख: निकल पड़ा जुगनू



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x