'आधी रात जब नेहरू पहुंचे घर तो बिस्तर पर सोया था गार्ड' - प्रियंका गांधी

14 नवम्बर 2019   |  स्नेहा दुबे   (721 बार पढ़ा जा चुका है)

'आधी रात जब नेहरू पहुंचे घर तो बिस्तर पर सोया था गार्ड' - प्रियंका गांधी

14 नवंबर को देश पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिवस मना रहा है और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई बड़े नेताओं ने उन्हें एक बार फिर श्रद्धांजलि दी है। इनमें नेहरू के नाति राहुल गांधी और नातिन प्रियंका गांधी ने भी ट्विटर पर अपने ग्रैंड फादर को ट्रीब्यूट दिया है। ये नेहरू जी की 130वीं जयंती है जिसे हर कोई अपने तरीके से मना रहा है। इस मौके पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने ट्विटर पर एक पुरानी बात बताई जो इस समय सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रही है।


प्रियंका गांधी ने बताई नेहरू की एक बात


देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की 130वीं जयंती के मौके पर पूरा देश उन्हें अलग-अलग तरह से याद कर रहा है लेकिन उनकी परपोती प्रियंका गांधी वाड्रा ने उन्हें किसी और तरीके से याद किया। उन्होंने एक ट्वीट में अपने परदादा की कहानी सुनाई। प्रियंका ने लिखा, 'मेरे परदादा की ये कहानी मेरी पसंदीदा कहानियों में एक है। ये बात उस समय की है जब मेरे परदादा प्रधानमंत्री थे। एक बार रात के तीन बजे अपने घर पहुंचे तो देखा उनका अंगरक्षक उनके बिस्तर पर सो रहा है। उन्होने उसे कंबल उढ़ाया और बगल में रखी कुर्सी पर सो गए।'


जवाहरलाल नेहरू


प्रियंका गांधी हर खास मौके पर कुछ ना कुछ ट्वीट करती रहती हैं। वे अपनी भावनाएं व्यक्त करने में जरा भी नहीं झिझकती हैं और ये उनकी खास बात बहुत से लोगों को पसंद है। वहीं राहुल गांधी ने अपने परदादा को आधुनिक भारत का महान सृजनकर्ता बताया है। राहुल ने लिखा, 'उनके जन्मदिन पर हम हमारे पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू जी को एक राजनेता, एक दूरदृष्टा, विद्वान, संस्थान निर्माता के रूप में याद कर रहे हैं।'.


जवाहरलाल नेहरू


पंडित जवाहरलाल नेहरू की 130वीं जयंती पर कांग्रेस ने उन्हें एक ऐसा आदमी बताया है जिन्होंने भारत की आजादी के लिए बहुत ज्यादा संघर्ष किया। ठोस लोकतंत्र के साथ एक आधुनिक देश की कल्पना भी की थी। कांग्रेस ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'नेहरू ने भारत को एक नया रास्ता दिखाया जिसकी बदौलत हम आज यहां हैं। आइए उनकी विरासत को कायम रखने की हम प्रतिज्ञा लेते हैं।'


जवाहरलाल नेहरू


जवाहर लाल नेहरू आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री थे और उस दौरान उन्होंने देश को अलग ही उपलब्धि दी। नेहरू जी महात्मा गांधी से बहुत प्रभावित थे और उनके साथ हर नीति में शामिल होकर देश को और भी करीब से जानते थे। नेहरू कई बार जेल भी गए और आजादी के बाद रात में उन्होंने इंडिया गेट से देश को संबोधित करते हुए आजाद भारत की खबर जनता को सुनाई थी।

अगला लेख: सबको स्वदेशी का पाठ पढ़ाकर क्या अब 'पतंजली' बनेगी विदेशी कंपनी?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 नवम्बर 2019
भारत में जब कोई किसी लड़की के बारे में सोचता है तो उसकी कल्पना ये होती है कि वो काजल, बिंदिया, लिप्स्टिक और पूरे मेकअप के साथ होगी। मगर जरूरी नहीं होता है कि लड़कियां मेकअप में ही हों और ऐसा उन्हें हर किसी को बताने की जरूरत भी नहीं है। मगर कुछ लोगों ने हर चीज में हस्तक्षेप करने की आदत होती है जैसे क
13 नवम्बर 2019
15 नवम्बर 2019
भारत और पाकिस्तान की तानाकशी दशकों से चली आ रही है लेकिन कभी-कभी दोनों देशों में सुलह हो ही जाती है। पाकिस्तान का जब मन होता है तो दोस्ती का हाथ बढ़ा देता है और जब मन होता है तो दुश्मनी का आगाज कर देता है। धारा 370 हटने के बाद से ही पाकिस्तान ने एक के बाद एक भारत के खिलाफ कई मामले दर्ज किए लेकिन अब
15 नवम्बर 2019
15 नवम्बर 2019
पिछले कुछ महीनों से सोशल मीडिया पर एक नाम खूब चर्चित है जिसका नाम रानू मंडल है। इन्हें रेलवे स्टेशन पर लता मंगेशकर का गाना गाते देखा गया था। किसी ने वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। इसके बाद इनकी पॉपुलैरिटी ऐसी बढ़ी कि सोशल मीडिया पर रानू मंडल सनसेशनल हो गईं और तरफ इनकी आवाज गूंजने लगी।
15 नवम्बर 2019
05 नवम्बर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <o:OfficeDocumentSettings> <o:RelyOnVML/> <o:AllowPNG/> </o:OfficeDocumentSettings></xml><![endif]--><!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves/> <w:TrackFormatting/> <w:PunctuationKer
05 नवम्बर 2019
07 नवम्बर 2019
हिंदी फिल्मों में आपने कई ऐसी कहानियां देखी होगी जिसमें बच्चा बचपन में मां-पिता से बिछड़ जाता है और फिर बहुत ही गरीबी से जिंदगी गुजारता है। बाद में बड़ा होकर वो अपने परिवार से किसी और ही सूरत में मिलता है। ऐसा असल जिंदगी में भी हुआ जब एक करोड़पति माता-पिता का बेटा बिछड़ गया और जब बड़ा होकर मिला तो म
07 नवम्बर 2019
11 नवम्बर 2019
देशभर में हर कोई योगा के नाम पर बाबा रामदेव को याद करते हैं वैसे ही पतंजलि के नाम पर आचार्य बालकृष्ण का नाम जरूर याद आता है। पतंजलि कंपनी खुलने के बाद से ही बाबा रामदेव और उनके शिष्य आचार्य बालकृष्ण ने हमेशा स्वदेशी चीजों का इस्तेमाल करने पर जोर दिया है। अपने देश में बनी चीजों का इस्तेमाल करना हमारे
11 नवम्बर 2019
06 नवम्बर 2019
अंबानी खानदान हमेशा सुर्खियों में बना रहता है, फिर चाहे अंबानी खानदान की बेटी हो, बेटा हो या फिर कोई हो। मगर इस बार अंबानी खानदान की बहू श्लोका मेहता हमेशा लाइमलाइट में बनी रहती है। श्लोका की हर एक तस्वीर सुर्खियां बटोरती रहती हैं और इस बीच श्लोका की एक पुरानी तस्वीर
06 नवम्बर 2019
06 नवम्बर 2019
सुखऔर दुःखजीवन में अनुभूत सुख अथवा दुःख अच्छेया बुरे जीवन का निर्धारण नहीं करते | क्योंकि जीवन सुख-दुख, आशा-निराशा, मान-अपमान, सफलता-असफलता, दिन-रात,जीवन-मृत्यु आदि का एक बड़ा उलझा हुआ सा लेकिन आकर्षक चित्र है | सुखी व्यक्ति वहनहीं है जो सदा “सुखी” रहता है, बल्कि सुखी व्यक्ति वह है जोदुःख में भी सुख
06 नवम्बर 2019
14 नवम्बर 2019
जो भी इंसान इस दुनिया में आया है उसे जाना ही है और यही दुनिया का प्रावधान है। मगर जब कोई लेजेंड इस दुनिया से जाता है और यहां हम बात एक ऐसे गणितज्ञ की करने जा रहे हैं जिन्होंने 14 नवंबर को आखिरी सांस ली। महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह ने 74 साल की उम्र में अपनी आखिरी सांस ली। काफी समय से बीमारी के क
14 नवम्बर 2019
14 नवम्बर 2019
जो भी इंसान इस दुनिया में आया है उसे जाना ही है और यही दुनिया का प्रावधान है। मगर जब कोई लेजेंड इस दुनिया से जाता है और यहां हम बात एक ऐसे गणितज्ञ की करने जा रहे हैं जिन्होंने 14 नवंबर को आखिरी सांस ली। महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह ने 74 साल की उम्र में अपनी आखिरी सांस ली। काफी समय से बीमारी के क
14 नवम्बर 2019
06 नवम्बर 2019
अंबानी खानदान हमेशा सुर्खियों में बना रहता है, फिर चाहे अंबानी खानदान की बेटी हो, बेटा हो या फिर कोई हो। मगर इस बार अंबानी खानदान की बहू श्लोका मेहता हमेशा लाइमलाइट में बनी रहती है। श्लोका की हर एक तस्वीर सुर्खियां बटोरती रहती हैं और इस बीच श्लोका की एक पुरानी तस्वीर
06 नवम्बर 2019
06 नवम्बर 2019
कि
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:TrackFormatting> <w:PunctuationKerning></w:PunctuationKerning> <w:ValidateAgainstSchemas></w:Val
06 नवम्बर 2019
11 नवम्बर 2019
9 नवंबर की दोपहर 11 बजे तक भारत का एक ऐसा अहम फैसला आया जिसपर पूरी दुनिया की निगाहें थीं। जैसे ही चीफ जस्टिस रंजन गंगोई और उनकी टीम ने ये फैसला सुप्रीम कोर्ट में सुनाया। एक दिन पहले ही मीडिया द्वारा ये बात सामने आ गई थी कि 9 नवंबर को 10.30 बजे फैसला आएगा और इसके बाद से ही प्रशासन ने यूपी में हाई एलर
11 नवम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x