भेड़ें और भेड़िये

25 नवम्बर 2019   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (4140 बार पढ़ा जा चुका है)

भेड़ें और भेड़िये

वर्तमान में राजनीतिक उठा पटक पर डॉ दिनेश शर्मा का खरा व्यंग्य...

भेडें और भेड़िये

*डॉ दिनेश शर्मा

फाइव स्टार होटल की लाबी में भेड़ों के बड़े झुंड में , दो भेडें जो एक दूसरे को अच्छी तरह पहचानती थी, अचानक आमने सामने पड़ गयी ।

पहली भेड़ ; तुम यहां क्या कर रही हो ?

दूसरी भेड़ ; जो तुम कर रही हो ।

पहली भेड़ ; मुझे तो पार्टी यहां उठा कर लायी है ।

दूसरी भेड़ ; मुझे भी यहां पार्टी लायी है ।

पहली भेड़ ; तुम्हे क्या मिल रहा है ?

दूसरी भेड़ ; निगम की चेयरमेन शिप, लाल बत्ती वाली गाड़ी और अमेरिका में मेरी बेटी के लिए दो मिलियन का घर । और तुम्हे ?

पहली भेड़ ; मैं तुम्हारी तरह बेवकूफ नही हूँ । मैंने मिनिस्ट्री, पांच खोखे और बेटे के लिए सेंटर में आयोग की मेम्बरशिप की बात पक्की की है ।

तभी शराब के नशे में झूलती एक तीसरी अधेड़ और मोटी भेड़ जो दरअसल भेड़ की खाल में भेड़िया थी, और उन दोनों की पुरानी लीडर थी, उन्हें बतियाते देख उनके पास आकर सोफे पर धंस गयी। पहली और दूसरी भेड़ ने दुआ सलाम कर अपने किस्से तीसरी भेड़ बनाम भेड़िये से शेयर किये ।

तीसरी भेड़ ; पर अभी तुम कौन सी पार्टी में हो ?

पहली भेड़ ; मैंने दो महीने पहले ही एसजीसी छोड़कर पीसीपी जॉइन की है ।

दूसरी भेड़ ; मैंने परसों ही पीसीपी छोड़कर एसजीसी जॉइन की है ।

तीसरी भेड़ ; तुम दोनो बहुत चीप किस्म की बुड़बक हो । हम तुम्हे इतना सिखाये पर तुम स्साले रहे चू* के चू* ही । अबे घोंचूओ एसएसयू की नई सरकार बन रही है । भड़वों हम डिप्टी सी एम की शपथ ले चुके है । वैसे तो हमारे पास नम्बर पूरे है पर अध्यक्ष जी ने कहा है अपने खास खास बंदों को ले आओ । हमरी बात कान खोल कर सुन लेओ । दोनों को दस दस खोखा और मंत्री पद तो है ही बाकी मलाई तो तुम्हे पता ही है। अब बोलो हाँ ।

पहली भेड़ ; हाँ गुरु जी हाँ । हम तो आपका बच्चा हूँ ।

दूसरी भेड़ ; गुरु जी ए कोई पूछने की बात है । हाथी के पैर में सबका पैर । हम आप से कौनो बाहर है ।

तीसरी भेड़ यानी भेड़िया मुस्करा कर उठा और लड़खड़ाता लाबी से बाहर वाले गेट की तरफ जहाँ लंबी काली मर्सिडीज खड़ी थी, आश्वस्त होकर चल पड़ा ।

पहली और दूसरी भेड़ भी कंधे झुकाए लंबे कानों में मुंह छुपाए पीछे पीछे हो ली ।

अगला लेख: ये दोस्ती



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 नवम्बर 2019
कार्तिकीपूर्णिमा - कुछ स्मृतियाँ कल कार्तिकी पूर्णिमा,त्रिपुरारी पूर्णिमा, गुरु परब, प्रकाशपरब और देव दीवाली के साथ ही तुलसी विवाह भी सम्पन्न हो गया और त्यौहारों तथापर्वों का माह कार्तिक माह भी समाप्त होकर आज से मार्गशीर्ष मार्ग आरम्भ हो गया | अपनेबचपन और युवावस्था की कुछ स्मृतियाँ कल दिन भर मन में
13 नवम्बर 2019
10 नवम्बर 2019
मंगल का तुला में गोचरकल कार्तिक शुक्लत्रयोदशी को दिन में दो बजकर चौबीस मिनट के लगभग मंगल चित्रा नक्षत्र पर भ्रमण करतेहुए तैतिल करण और सिद्ध योग में अपने शत्रु ग्रह बुध की राशि कन्या से निकल करशुक्र की तुला राशि में प्रस्थान कर चुका है | यहाँ कुछ दिन वहाँ बुध और सूर्य कासाथ भी रहेगा | तुला राशि में भ
10 नवम्बर 2019
14 नवम्बर 2019
कर्मयोग – कर्म की तीनसंज्ञाएँजैसा कि पहले लिखा, कर्ता के भाव के अनुसार कर्म की तीन संज्ञाएँ होती हैं – कर्म, अकर्म और विकर्म | इन तीन संज्ञाओं के साथ साथ हमारेशास्त्रकारों ने कर्म के तीन रूप भी बताए हैं | इनमें प्रथम है संचित कर्म | अनेकजन्मों से लेकर अब तक के संगृहीत कर्म ही संचित कर्म कहलाते हैं |
14 नवम्बर 2019
17 नवम्बर 2019
18 से 24 नवम्बर2019 तक का साप्ताहिकराशिफलनीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है | साथ ही ये फलकथन केवलग्रहों के तात्कालिक गोचर पर आ
17 नवम्बर 2019
14 नवम्बर 2019
पथ पर बढ़ते ही जाना हैअभी बढ़ाया पहला पग है, अभी न मग को पहचाना है |अभी कहाँ रुकने की वेला, मुझको बड़ी दूर जाना है ||कहीं मोह के विकट भँवर में फँसकर राह भूल ना जाऊँ | कहीं समझकर सबको अपना जाग जाग कर सो ना जाऊँ |मुझको सावधान रहकर ही सबके मन को पा जाना है ||और न कोई साथी, केवल अन्तरतम का स्वर सहचर है साध
14 नवम्बर 2019
13 नवम्बर 2019
तथाकथित “भावनाओं” के सम्बन्ध में एक अत्यन्तसारगर्भित और रोचक लेख...भावनिस्तान - डॉ दिनेश शर्मामुझे लगता है कि हम हिंदुस्तानी कम भावनिस्तानीज्यादा होते जा रहे हैं। ऐसा मैं इस लिए कह रहा हूँ कि बहुत सारे लोग, धर्मगुरु, लीडर, अखबार ,टेलीविजन चैनल और अन्य दूसरे माध्यम भी सालों से यही सिद्ध करने मेंतुले
13 नवम्बर 2019
08 नवम्बर 2019
ध्यानऔर इसका अभ्यासध्यान के लिए स्वयं को तैयार करना :ध्यान के अभ्यास के लिए आपने अपने लिएउचित स्थान और अनुकूल समय का निर्धारण कर लिया तो समय की नियमितता भी हो जाएगी |अब आपको स्वयं को तैयार करना है ध्यान के अभ्यास के लिए | इस विषय में क्रमबद्धरूप से तैयारी करनी होगी | इसी क्रम में...प्रथम चरण – ध्यान
08 नवम्बर 2019
16 नवम्बर 2019
तो
तो क्यों धन संचय (व्यंग्य)हाल ही में एक ट्वीट ने काफी सुर्खियां बटोरी ,"पूत कपूत तो क्यों धन संचयपूत सपूत तो क्यों धन संचय"जिसमें अमिताभ बच्चन साहब ने सन्तान के लिये धन एकत्र ना करने का स दिया उपदेश दिया है लोगों ने इस वाक्य को आई ओपनर की संज्ञा दी है ।लोग बाग़ ये अनुमान लगा रहे हैं कि प्रयाग में जन्
16 नवम्बर 2019
16 नवम्बर 2019
अध्यात्म और मनोविज्ञानअक्सर लोग वैराग्य के अभ्यास द्वारा मन का निग्रह करकेईश्वर प्राप्ति की बात करते हैं | यह प्रक्रिया अध्यात्म की प्रक्रिया है | यहाँहम बात कर रहे हैं अध्यात्म और मनोविज्ञान के परस्पर सम्बन्ध की | क्या सम्बन्ध हैआपस में अध्यात्म और मनोविज्ञान का ? क्या अध्यात्म के द्वारा मनोवैज्ञान
16 नवम्बर 2019
30 नवम्बर 2019
ये
"ये कैसे हुआ" (व्यंग्य)फ़ांका मस्ती ही हम गरीबों की विमल देखभाल करती हैएक सर्कस लगा है भारत में जिसमें कुर्सी कमाल करती है "।उस्ताद शायर सुरेंद्र विमल ने जब ये पंक्तियां कहीं थी तब उन्होंने शायद ये अंदाज़ा लगा लिया था कि इस देश की जनता की साथी उसकी फांकाकशी ही रहने वाली है ।वी द पीपुल तो हमें जनता जन
30 नवम्बर 2019
24 नवम्बर 2019
अबकी बार,तीन सौ पार,(व्यंग्य)"नहीं निगाह में मंजिल तो जुस्तजू ही सही नहीं विसाल मयस्सर तो आरजू ही सही "जी नहीं ये किसी हारे या हताश राजनैतिक पार्टी के कार्यकर्ता की पीड़ा या उन्माद नहीं है।बल्कि हाल के दिनों में तीन सौ शब्द काफी चर्चा में रहा।एक राजनैतिक दल ने तीन सौ की ह
24 नवम्बर 2019
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x