नागरिकता संशोधन विधेयक (C.A.B. ) 2019

12 दिसम्बर 2019   |  डॉ. देशराज सिरसवाल   (441 बार पढ़ा जा चुका है)

भारत में आजकल जो भी हो रहा है उससे देखकर तो यही लग रहा है कि हम मुस्लिम, पाकिस्तान और हिन्दुत्व के मुद्दे को लेकर देश की एकता और अखंडता को किसी भी हद तक दांव पर लगा सकते हैं। नागरिकता संशोधन विधेयक (C.A.B. ) 2019 के द्वारा हम बाहर से आने वालों का तो स्वागत करेंगे लेकिन अब तक जो यहाँ रह रहे हैं उनके बारे सोचना, उनके विकास की बात करना सब कुछ निर्थक सिद्ध कर रहे हैं।
धर्म के आधार पर भेदभाव करने वाला, देश के धर्मनिरपेक्ष ढाँचे पर हमला करने वाला, साम्प्रदायिक जहर फैलाने वाला व हिंदुत्व फासीवादी एजेंडा पर आधारित नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 भारत की एकता के पूरी तरह खिलाफ है।
दूसरी तरफ हम भारत के ही सालों से रह रहे लोंगों को NCR के खेल में फंसा कर हम एक बहुत बढ़िया भारत निर्माण कर रहे हैं। जिसमें हम आदमी को आदमी की तरह नहीं समझ उन्हें एक नाजायज़ वस्तु की तरह देख रहे हैं।
भारत उन सभी का है जो उसके विकास में सालों से जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं, अपना खून और पसीना एक कर रहे हैं। भारत उन सभी का है जो भारतीय होने का गर्व रखते हैं।

अगला लेख: हमारे कर्तव्य और लोकतन्त्र



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x