नेगेटिव सोच वालों की पहचान करने के लिए आपको जानना होगा उनसे जुड़ी इन 12 ख़ास बातों को…

15 दिसम्बर 2019   |  सुमित भारती   (447 बार पढ़ा जा चुका है)

 नेगेटिव सोच वालों की पहचान करने के लिए आपको जानना होगा उनसे जुड़ी इन 12 ख़ास बातों को…


नेगेटिव सोच वालों की पहचान करने के लिए आपको जानना होगा उनसे जुड़ी इन 12 ख़ास बातों को…

अकसर आपने देखा होगा कि अपने जीवन में खुश और सकारात्मक रहने वाले लोगों से एक अलग ही Vibe (सकारात्मक ऊर्जा) आती है, ये आपको भी प्रसन्न कर देती है, जबकि दुखी, निराश और नेगेटिव लोगों से निकलने वाली Vibe चारों तरफ़ नकारात्मक ऊर्जा का ही प्रसार करती है. दुनिया में हर तरफ़ आपको ऐसे लोग मिलेंगे, जो हमेशा नेगेटिव सोचते हैं और अपने जीवन को नकरात्मकता के अंधेरे तले रख देते हैं. हर इंसान की ज़िंदगी में दुःख, शोक और कमज़ोरी बनाने वाले पल आते हैं. उनको नकारा नहीं जा सकता, लेकिन उनको पूरी ज़िंदगी ढोया भी नहीं जा सकता. ज़िंदगी एक गाड़ी है, जहां अच्छे-बुरे दोनों स्टेशन्स आते हैं.
हम जिस समाज में रहते हैं, वहां आपको नकरात्मक प्रवृति के कई लोग मिल जाएंगे. अगर आप उनको पहचान नहीं पा रहे हैं, तो हम आपको बताते हैं कि उनकी कौन सी आदतें चीख-चीख कर बताती हैं कि उस पर Negativity हावी हो चुकी है.

1. ऐसे लोग देते रहते हैं हमेशा दूसरों को सलाह...

भले ही इनकी ख़ुद की ज़िंदगी बर्बाद हुई पड़ी हो, मगर ये कभी किसी और को सलाह देने से बाज़ नहीं आते. ये अकसर आपको बताने की कोशिश में होते हैं कि आपको आपकी ज़िंदगी के साथ क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए.उन्हें पता नहीं होता कि अपनी ज़िंदगी में रुचि न लेकर दूसरों के जीवन में दखलंदाजी करना ही उनके अंदर की Negativity को बाहर ला देता है.

2. ऐसे लोग बुरी ख़बरों का ज़्यादा प्रचार करते हैं...

आपकी जानकारी में कोई ऐसा आदमी, तो ज़रूर होगा, जो आपसे मिलते ही कोई बुरी ख़बर सुनाता होगा. अगर ऐसा कोई है, तो बिना देर किये उसे नेगेटिव लोगों को लिस्ट में डाल दीजिए. एक रिसर्च से ऐसा सामने आया है कि हिंसा, मौत और हादसे की ख़बरें तनाव और चिंता पैदा करती है. इन सब कारणों की वजह से पोस्ट ट्रॉमेटिक स्ट्रेस ऑर्डर PTSD नाम की एक कुंठा आपके अंदर घर कर जाती है, जो आपकी खुशियों को खत्म कर देती है.

3. ऐसे लोग हमेशा फ़िक्र में डूबे रहते हैं...

आप ऐसे लोगों को कभी भी रिलैक्स मूड में नहीं देख सकते. हमेशा इनके माथे पर चिंता की लकीरें और शिकन देखी जा सकती है. न जाने क्यों इनको लगता है कि जितना ज़्यादा ये फ़िक्र करेंगे, भविष्य में होने वाली बुरी चीज़ें उतनी कम होती जायेंगी. इनकी फ़िक्र की ये आदत इन्हें ही नहीं, बल्कि इनके आस-पड़ोस के लोगों को भी इनके जैसा बना देती हैं.

4. ये हमेशा एक जैसी स्थिति में ही रहना चाहते हैं...

हम जानते हैं कि बदलाव जीवन का सबसे प्रभावशाली और ज़रूरी कारक है. पर ऐसे लोगों के साथ सबसे बड़ी समस्या ये होती है कि ये अपने जीवन में किसी किस्म के बदलाव को जगह नहीं देना चाहते हैं. यही बात इनको Negative बनाती है. उनको ऐसा लगता है कि अभी जिस स्थिति में रहेंगे, तो ज़िंदगी हमेशा ऐसी ही बनी रहेगी. अपनी ज़िंदगी में किसी भी समस्या का ज़िम्मेवार ये लोग बदलाव को ही मानते हैं.

5. हर बात Secret रखने की कोशिश में होते हैं ये लोग...

अगर आप कभी Negative इंसान से मिलते हैं, तो जितना हो सके उनसे बात करने की कोशिश कीजिए. उनकी बातों से भी उनके अंदर की Negativity का पता लगाया जा सकता है. ये लोग आपसे बात करते हुए ऐसे पेश आयेंगे, जैसे इनके पास दुनिया भर का राज़ जमा हो और ये आपको वो नहीं बताने वाले. इनको ऐसा भी लगता है कि अगर ये आपको कुछ बता देंगे, तो आप उन्हें भविष्य में इनके खिलाफ़ यूज़ कर सकते हैं. इस लिए किसी विवादित मुद्दे पर ये बात करने से डरते हैं.

6. ऐसे लोग निराशावादी होते हैं...

हम पहले ही जान चुके हैं, ये अपने जीवन से संतुष्ट नहीं होते. इसका एक कारण इनका अतिनिराशावादी होना भी है. इन्हें खुद पर तनिक भी यकीन नहीं होता और अपने किये हर काम पर निराश होते हैं. इनके अंदर से निराशा की इतनी भयवाह लहर निकलती है, जिस वजह से इनका बना काम भी बिगड़ जाता है. जैसे हम जब भी घर से निकलते हैं, तो ये सोचते हैं सब ठीक रहे. लेकिन ये घर से ही ऐसा सोच कर निकलते हैं कि सब ख़राब होने वाला है.

7. इन्हें हर बात में समस्या निकालना अच्छा लगता है...

ऐसा कहा जाता है कि ऐसे लोगों को, 'लेकिन' शब्द बहुत पसंद होता है. 'लेकिन' शब्द हम किसी काम में कुछ समस्या बताने के लिए इस्तेमाल करते हैं. पर ऐसे लोगों को इस शब्द से इतना प्यार होता है कि इनसे बात करने के दौरान आप कई बार इस शब्द को सुन सकते हैं. ये कुछ पॉजिटिव भी बोलते हैं, तो उसके बाद लेकिन लगाकर उसको नेगेटिव रंग में रंग देते हैं.
8. ऐसे लोग सफ़लता से दूर रहने वालों से होते हैं...

इनकी भावनाएं इन्हें कभी सफ़लता के करीब नहीं पहुंचने देतीं. अब आप किसी काम को ये मान कर करेंगे कि ये आपसे नहीं ही पायेगा या इसके करने का कोई फ़ायदा नहीं है, तो फिर आपको क्यों मिलेगी सफ़लता. इनकी सारी समझदारी इनकी नकारात्मकता की भेंट चढ़ जाती है. ऐसे लोग अपने असफ़लता की कहानी आपको मिर्च-मसाला लगाकर सुनाने नहीं भूलेंगे. लेकिन इन्हें इस बात का एहसास नहीं होता कि अगर इन्होंने थोड़ी सी Positivity दिखाई होती, तो आज ये सफ़ल होते.
9. ऐसे लोग अच्छाई में भी बुराई ढूंढ लेते हैं...

अगर ये अपने जीवन में कुछ अच्छा काम करते हैं, तो भी ये संतुष्ट नहीं होते. लोग जब इनकी तारीफ़ करते हैं, तो तारीफ़ें भी इन्हें आलोचना लगती है. अगर आप कोई मज़ाक कर रहे हैं, तो ये अपने Negative मन से उस बात को ख़ुद से जोड़ कर बुरा मान जाएंगे.

10. अपनी ज़िंदगी को एक सीमित दायरे में रखना चाहते हैं...
ये अपनी लाइफ़ में एक Comfort Zone बना लेते हैं, जिससे ये कभी बाहर नहीं आना चाहते. इन्हें रिस्क, चुनौतियां और जीवन की नई बाधाओं का सामना करने में बहुत डर लगता है. इसी वजह से ये लोग अपने जीवन में कुछ नया नहीं करते. चुनौतियों से भागने की वजह से इन लोगों के पास बिलकुल अनुभव नहीं होता.
11. ऐसे लोग अपने साथ शिकायतों का पिटारा लेकर घुमते हैं...
ये लोग अपने जीवन में नकारात्मकता को इस तरह घोल चुके होते हैं कि पूरी दुनिया इन्हें इनके खिलाफ़ लगती है. ये अपने जीवन में हर चीज़ से परेशान होते हैं. ख़राब मौसम, गुस्सैल बॉस, महंगी सब्जियां और बुरी किस्मत हर बात से इन्हें शिकायत होती है. इन चीज़ों के कारण ये अपने जीवन में कदम पीछे की ओर बढ़ा लेते हैं.
12. भविष्य की योजनाओं से कभी Excited नहीं होते...

दुनिया का हर आदमी भविष्य की प्लानिंग ख़ुशी-ख़ुशी करता है, लेकिन ये लोग इतने नेगेटिव ख़्यालों के होते हैं कि ये बात इन्हें प्रभावित नहीं करती. ये अपनी ज़िंदगी के बेहतरीन पलों को यूं ही गंवा बैठते हैं.

देखिये दुनिया में हर बीमारी का इलाज हो सकता है, पर आपके अंदर की Negativity का कोई इलाज नहीं. इस कारण कई लोग डिप्रेशन में चले जाते हैं और अपने जीवन को दुःख और निराशा का प्रतीक बना लेते हैं. खुश रहने का अधिकार सबको है, तो टेंशन में क्यों जीना. खुश रहें, स्वस्थ रहें और सुखी रहें...

अगला लेख: एक अच्छे इंसान की परिभाषा क्या है?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x