अभिव्यक्ति की आजादी का अर्थ ये तो नहीं......

18 दिसम्बर 2019   |  शिल्पा रोंघे   (555 बार पढ़ा जा चुका है)

हमारे संविधान ने आर्टिकल 19 के तहत अभिव्यक्ति की आजादी दी है, ताकि हम बिना डरे अपनी बात रख सके, क्योंकि इस मौलिक अधिकार के साथ हम सम्मानपूर्वक जीवन बिता सकते है। अगर आप सोशल मीडिया की सूचना के दौर को देखे तब आपको महसूस होगा कि बहुत सारी सकारात्मक चीज़े हुई है आम लोगों को भी अपनी राय रखने का मौका मिला है और जिन चीज़ो को परंपरागत मीडिया में जगह नहीं मिल पाती थी वो सोशल मीडिया के द्वारा उजागर हो रही है, लेकिन अगर अखबारों से तुलना की जाए तब प्रामाणिकता के मामले में अखबार सोशल मीडिया न्यूज़ या पोस्ट से कहीं आगे है, सारे तथ्यों की जांच और आंकलन, पुष्टी करने के बाद ही अखबार में कोई खबर छापी जाती है, आज कल हर कोई पोस्ट लिखकर शेयर कर रहा है बिना तथ्यों की जांच किए, याद रखिए अपने आप को अभिव्यक्त कीजिए लेकिन जान लिजिए की कुछ ऐसा ना पोस्ट करे जिससे देश की अखंडता, संप्रभुता को खतरा पहुंचे। धर्मिक हिंसा फैलाने या मानहानि करने वाली चीज़ो को पोस्ट ना करे।



अधिकारों के साथ एक नागरिक होने के नाते अपने कर्तव्य याद रखना भी ज़रुरी है।

आज की पीढ़ी समस्या यही है कि पढ़ती बहुत कम है लेकिन अपने विचार अभिव्यक्त बहुत करती है।


अपना नॉलेज बढ़ाइए अखबारों के संपादकीय पढ़ेंगे तो आप पाएंगे कि कितनी सधी हुई भाषा और तर्कों के साथ लेखक अपनी बात रखते है बिना किसी की भावना आहत किए।

जिस विषय का हमें नॉलेज नहीं उस पर विचार रखना ज़रुरी नहीं सिर्फ इसलिए कि हमारे दोस्त या परिचित उस विषय पर बात कर रहे है।

सचमुच वाट्स अप और सोशल मीडिया के द्वारा होने वाली सूचना के आदान प्रदान पर फिर एक बार गंभीरता से सोचने की ज़रुरत है।


अगला लेख: अलविदा 2019



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
09 दिसम्बर 2019
रानी बेटी ,लाडो बेटीअसुरक्षित क्यों ?डॉ शोभा भारद्वाज देश में एक ही प्रश्न पूछा जा रहा है देश कीलगभग 48% आबादी महिलायें हैं |हर क्षेत्र में महिलायें पुरुष समाज से कमतर नहीं हैकई क्षेत्रों में आगे हैं |देश के विकास में उनका बराबर का योगदान है नेवी में एकमहिला पायलेट बनी , फाईटर पायलेट हैं लेकिन असुर
09 दिसम्बर 2019
06 दिसम्बर 2019
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w
06 दिसम्बर 2019
14 दिसम्बर 2019
पानीपत के लिए कृति सेनन ने मराठी स्टाईल अपनायाहै, इस फिल्म में वो दुल्हन के रुप में भी नज़र आई है।इस फिल्म सेपहले बाजीराव मस्तानी में प्रियंका चोपड़ा और मनीकर्णिका में कंगना ने झांसी की रानी में रॉयल ब्राईड लुकअपनाया था। जिसकी काफी तारीफ हुई थी। अब कृति की खूबसूरती में चा
14 दिसम्बर 2019
01 जनवरी 2020
किसी की मोहब्बत में खुद को मिटाकर कभी हम भी देखेंगे अपना आशियां अपने हाथों से जलाकर कभी हम भी देखेंगे ना रांझा ना मजनूं ना महिवाल बनेंगे इश्क में किसी के महबूब बिन होती है ज़िंदगी कैसी कभी हम भी देखेंगे मधुशाला में करेंगे इबादत ज़ाम पियेंगे मस्ज़िद में क्या सच में हो जायेगा ख़ुदा नाराज़ कभी हम भी देखेंगे
01 जनवरी 2020
02 जनवरी 2020
हर राम का जटिल जीवन पथ होगा जब पिता भार्या भक्त दशरथ होगा करके ज़ुल्म करता है वो इबादत कहो फिर कैसे पूर्ण मनोरथ होगा नींद आयेगी तुझे भी सुकून भरी जब तू भी पसीने से लथपथ होगा कृष्ण का भी रथ बढ़ रहा नहीं आगे सुदामा के रक्त से सना राजपथ होगा आज भी दुःशासन कर रहा विचरण कानून खरीदने में वो महारथ होगा
02 जनवरी 2020
21 दिसम्बर 2019
सा
साथी उसे बनाओं जो सुख दुख में साथ दे.ना कि उसे जो सिर्फ तस्वीरों में आपकी शोभा बढ़ाएं.शिल्पा रोंघे
21 दिसम्बर 2019
13 दिसम्बर 2019
जो
आसान नहीं है ज़िंदगीजीने का तरीका सीखलाना.आसान नहीं किसी कोसही राह दिखाना.आसान नहीं है खुद को भी बदलना, कुछ ख़्वाहिशोंको छोड़ना, कुछ सुविधाओं को त्यागना.त्याग की अग्नी में तपना औरउम्मीद के दीपक जलाना.धूप, बारिश, और ठंडको सहना.होंठो पर शिकायत कम और समाधाननिकालना.हां सचम
13 दिसम्बर 2019
07 दिसम्बर 2019
हां दर्द सहना भी एक कला है। गम बर्दाश्त कर लेना भी एक कला है। खुद नाखुशी के दौर में रहकरदूसरों से ना जलना भी एक कला है। छिपकर रोना भी एक कला है । अंधेरे में भी जुगनू बनकर जीनाएक कला है। कहती है अगर खुदगर्ज़ दुनिया तोकहने तो कहने दो। क
07 दिसम्बर 2019
21 दिसम्बर 2019
सा
साथी उसे बनाओं जो सुख दुख में साथ दे.ना कि उसे जो सिर्फ तस्वीरों में आपकी शोभा बढ़ाएं.शिल्पा रोंघे
21 दिसम्बर 2019
31 दिसम्बर 2019
वर्ष 2020 की हार्दिक शुभकामनाएँ कोस कोस परबदले पानी, चार कोस पर बानी भारत मेंविभिन्न प्रान्तों व समुदायों के नववर्षआज 2019 का अन्तिम दिन है – दिसम्बर माह का अन्तिम दिवस... और कल वर्ष 2020का प्रथम दिवस - पहली जनवरी – जिसे लगभग हर जगह नव वर्ष के रूप मेंमनाया जाता है | सबसे पहले तो सभी को कलसे आरम्भ हो
31 दिसम्बर 2019
सम्बंधित
लोकप्रिय
24 दिसम्बर 2019
17 दिसम्बर 2019
स्
20 दिसम्बर 2019
01 जनवरी 2020
28 दिसम्बर 2019
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x