मौन के रुप अनेक

07 जनवरी 2020   |  शिल्पा रोंघे   (4988 बार पढ़ा जा चुका है)

एक ही मौन के देखो कितने रूप.

कभी ध्यान है,

कभी निद्रा है मौन,

कभी उपासना है मौन,

कभी भोर

तो कभी रात का काला सन्नाटा है मौन,

ना पूरा "हां" ना पूरा "ना"

है मौन.

ना पूरा है ना अधूरा है

सचमुच एक रहस्य ही है मौन.


शिल्पा रोंघे

अगला लेख: अलविदा 2019



सच में अच्छी पंक्तियाँ

धन्यवाद

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
09 जनवरी 2020
रॉक गार्डन पर कविता- फ़र्क बस नज़रिये का था.टूटी हुई चीज़ समझकर बेज़ान मान लिया गया.इक शख़्स ने जोड़ जोड़कर मुझे खूबसूरत बागीचा बना लिया.शिल्पा रोंघे
09 जनवरी 2020
11 जनवरी 2020
अग्नि मे तपकर, सोने की पहिचान होती है।नन्नी सी जान, देश की शान होती है।यही ज्योति सबके घर की उजाला होती है।नन्नी सी गुड़िया दिल की तारा होती है।।यही सम्मान यही दिल की जान होती है।नन्नी सी जान देश की शान होती है।।1।।ये ना समझ नादान, इनक
11 जनवरी 2020
13 जनवरी 2020
इन दिनों सखी शिव मेरे स्वप्न में आते हैहै भभूत लगाए.कंठ में विषधारी सर्प है सजाएमस्तक पे चंद्र लगाए.वो त्रिशूलधारीइंद्रधनुषी दुनिया से दूरहिमालय में अ
13 जनवरी 2020
08 जनवरी 2020
जी
ललचाती,सकुचाती,सीखाती,भरमाती,इठलाती,अंततः,सुस्ताती चीर निंद्रा!!जीवन यात्रा।अंदाज अलग,भागमभाग,चैन औ सुकूं की,अंततः,नींद उड़ाती!!जीवन यात्रा।अनुभव बांटे,भविष्य को बांचती,वर्तमान भुलाती,अंततः,मन भटकाती!!जीवन यात्रा।कहकहे लगाती कभी,मन कचोटती कभी,हंसाती कभी, रुलाती,अंततः,मिट्टी मिश्रित होती!!जीवन यात्रा।
08 जनवरी 2020
30 दिसम्बर 2019
नू
वहीं खड़े है वृक्ष सभी तनकर.वहीं खिल रहे है फूल सुंगध फैलाकर.सदियों से वहीं खड़े पर्वत विशाल.उसी समुद्र में जाकर मिल रही तरंगिणी.उसी डाल पर बैठा है पक्षी घरौंदा बनाके,उसी नभ में उड़ रहा है पंख फैलाकर.कुछ नहीं बदलता नवीन वर्ष के साथ हां बस संकल्प निश्चित ही हो जाते है दृढ़.बीते वर्ष में मिली सीखें मा
30 दिसम्बर 2019
31 दिसम्बर 2019
सा
चंद्र की शुभ्र किरणेंले रही विदा दुल्हन की तरह.रात्री की डोली मेंबैठकर उन्हें सूर्योदय के घर जाना है.तम तो प्रकाशतक जाने का प्रतिदिन का साधन है.किंतु आज पिछले बरस कोसबको नवीनवर्ष से मिलवानाहै.शिल्पा रोंघे
31 दिसम्बर 2019
25 दिसम्बर 2019
मो
उसकी मोहोब्बत ने मुझे इस तरह जकड़ा हुआ था। में सुबह ये भूल जाता था कि रात में किस बात पर झगड़ा हुआ था।।
25 दिसम्बर 2019
10 जनवरी 2020
10 जनवरी 2020
11 जनवरी 2020
<!--[if gte mso 9]><xml> <w:WordDocument> <w:View>Normal</w:View> <w:Zoom>0</w:Zoom> <w:TrackMoves></w:TrackMoves> <w:TrackFormatting></w:Tr
11 जनवरी 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x