मीन राशि के लिए शनि का मकर में गोचर

22 जनवरी 2020   |  डॉ पूर्णिमा शर्मा   (7940 बार पढ़ा जा चुका है)

मीन राशि के लिए शनि का मकर में गोचर

शनि का मकर में गोचर

माघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक माना जाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीत करके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर रहते हुए ही अपनी स्वयं की राशि मकर में प्रविष्ट हो जाएगा | यहाँ विचरण करते हुए शनि 22 जनवरी 2021 को श्रवण नक्षत्र तथा 18 फरवरी 2022 को धनिष्ठा नक्षत्रों पर भ्रमण करते हुए अन्त में 17 जनवरी 2023 को सायं छह बजकर चार मिनट के लगभग अपनी स्वयं की दूसरी राशि कुम्भ – जो शनि की मूल त्रिकोण राशि भी है – में प्रस्थान कर जाएगा | उत्तराषाढ़ नक्षत्र के स्वामी सूर्य, श्रवण नक्षत्र के स्वामी चन्द्र तथा धनिष्ठा के अधिपति मंगल इन तीनों के साथ शनि की शत्रुता है | इस बीच ग्यारह मई 2020 से 29 सितम्बर 2020 तक शनि वक्री भी रहेगा | सामान्यतः शनि के वक्री होने पर व्यापार में मन्दी, राजनीतिक दलों में मतभेद, जन साधारण में अशान्ति तथा प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़ और आँधी तूफ़ान आदि की सम्भावनाएँ अधिक रहती हैं | 7 जनवरी 2021 से दस फरवरी 2021 तक शनि अस्त भी रहेगा | इन्हीं सब तथ्यों को ध्यान में रखते हुए अगले लेख में जानने का प्रयास करेंगे शनि के मकर राशि में गोचर के समस्त बारह राशियों के जातकों पर क्या प्रभाव सम्भव हैं...

किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसी कुण्डली के विस्तृत फलादेश के लिए केवल एक ही ग्रह के गोचर को नहीं देखा जाता अपितु उस कुण्डली का विभिन्न सूत्रों के आधार पर विस्तृत अध्ययन आवश्यक है | अस्तु, आज मीन राशि...

आपकी राशि लिए एकादशेश और द्वादशेश होकर शनि एकादश भाव में ही गोचर कर रहा है जहाँ से आपकी लग्न, पञ्चम भाव तथा अष्टम भावों पर इसकी दृष्टियाँ होंगी | आपके लिए यह गोचर अनुकूल प्रतीत होता है | पूर्ण प्रभाव तो आपकी लग्न पर पड़ेगा जिसके कारण आपके शरीर में आलस्य की अधिकता हो सकती है | यदि इस आलस्य के साथ लड़कर इसे परास्त कर दिया तो आपके लिए सफलता का मार्ग प्रशस्त हो सकता है | अन्यथा आप बहुत सारी Opportunities से वंचित रह जाएँगे | इसे ऐसे समझ सकते हैं कि उगते हुए सूर्य का सौन्दर्य देखने के लिए सूर्योदय से पूर्व जागना आवश्यक होता है अन्यथा उस कुछ पल के सौन्दर्य से वंचित रह जाते हैं | व्यापार से सम्बन्धित बहुत से अवसर आपके समक्ष उपस्थित होने वाले हैं जिनके कारण आप बहुत समय तक व्यस्त रहते हुए अर्थ लाभ कर सकते हैं | नौकरी मैं हैं तो मनचाहे स्थान पर पदोन्नति के साथ आपका ट्रांसफर भी सम्भव है | नई नौकरी की तलाश में हैं तो वह भी इस अवधि में पूर्ण हो सकती है |

सामाजिक गतिविधियों में वृद्धि के साथ ही मान सम्मान में भी वृद्धि की सम्भावना की जा सकती है | इस अवधि में आपके स्वभाव में गम्भीरता आएगी तथा आप लक्ष्य के प्रति एकाग्रचित्त होकर कार्य करेंगे जिसके कारण आप अपनी एक नई पहचान बनाने में भी समर्थ हो सकते हैं | मित्रों तथा भाई बहनों का और परिवार का सहयोग आपको उपलब्ध रहेगा | कार्यस्थल पर भी सहकर्मियों का सहयोग मिलने की सम्भावना है | आप अपने कार्य से सम्बन्धित कोई एडवांस कोर्स भी इस अवधि में कर सकते हैं | कार्य से सम्बन्धित यात्राओं में भी वृद्धि की सम्भावना है | आपकी सन्तान के लिए भी यह गोचर अनुकूल प्रतीत होता है | यदि उसके विवाह की योजना है तो वह भी इस अवधि में सम्पन्न हो सकता है |

स्वास्थ्य की ओर से सावधान रहने की आवश्यकता है | विशेष रूप से सोशल गेट टुगेदर के दौरान अपने खान पान पर संयम रखने की आवश्यकता है | जिन बातों अथवा सम्बन्धों के कारण मानसिक तनाव हो सकता है उनसे भी दूर रहने की आवश्यकता है | साथ ही नियमित रूप से योग, ध्यान और प्राणायाम का अभ्यास करेंगे तो बहुत सी समस्याओं से बचे रह सकते हैं |

यदि किसी के साथ प्रेम सम्बन्ध में हैं तो वहाँ उस व्यक्ति के स्वभाव के कारण किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न हो सकती है, अथवा आपको स्वयं उसके सम्बन्ध में सन्देह हो सकता है | इस ओर से सावधान रहेंगे तो कोई समस्या ही नहीं होगी | विवाहित हैं तो जीवन साथी का पूर्ण सहयोग आपको प्राप्त होने तथा दाम्पत्य जीवन माधुर्य बना रहने की सम्भावना है |

अन्त में बस इतना ही कि यदि कर्म करते हुए भी सफलता नहीं प्राप्त हो रही हो तो किसी अच्छे ज्योतिषी के पास दिशानिर्देश के लिए अवश्य जाइए, किन्तु अपने कर्म और प्रयासों के प्रति निष्ठावान रहिये - क्योंकि ग्रहों के गोचर तो अपने नियत समय पर होते ही रहते हैं, केवल आपके कर्म और उचित प्रयास ही आपको जीवन में सफल बना सकते हैं...

अगला लेख: वृषभ राशि के जातकों के लिए शनि का मकर में गोचर



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
20 जनवरी 2020
वृश्चिक तथा धनु राशि के जातकों के लिए शनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्ष
20 जनवरी 2020
11 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के मिथुन राशि के जातकों परसम्भावित प्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज कर्क राशि के जातकों पर शनि के मकरमें गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के
11 जनवरी 2020
23 जनवरी 2020
Saturn transit in Capricornशनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर रहते
23 जनवरी 2020
10 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के वृषभ राशि के जातकों परसम्भावित प्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज मिथुन राशि के जातकों पर शनि के मकरमें गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के
10 जनवरी 2020
08 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के समय आदि के विषय में चर्चा कीथी, आज सभी राशियों पर शनि के मकर में गोचर के सम्भावित प्रभावों पर चर्चा...किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के लिए केवल एक ही ग्रह के गोचर को नहीं देखा जाताअपितु उस कुण्
08 जनवरी 2020
09 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के मेष राशि के जातकों पर सम्भावितप्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज वृषभ राशि के जातकों पर शनि के मकरमें गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के लि
09 जनवरी 2020
08 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के समय आदि के विषय में चर्चा कीथी, आज सभी राशियों पर शनि के मकर में गोचर के सम्भावित प्रभावों पर चर्चा...किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के लिए केवल एक ही ग्रह के गोचर को नहीं देखा जाताअपितु उस कुण्
08 जनवरी 2020
09 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के मेष राशि के जातकों पर सम्भावितप्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज वृषभ राशि के जातकों पर शनि के मकरमें गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के लि
09 जनवरी 2020
11 जनवरी 2020
बुधका मकर में गोचरमाघ कृष्ण तृतीया यानी सोमवार तेरह जनवरीको प्रातः 11:35 के लगभग विष्टि करण और आयुष्मान योग में बुध कागोचर मकर राशि में हो जाएगा | बुध इस समय उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर है तथा अस्त है |यहाँ से 19 जनवरी को बुध श्रवण नक्षत्र और 27 जनवरी को धनिष्ठा नक्षत्र पर भ्रमण करता हुआ अन्त में तीस जनवरी
11 जनवरी 2020
21 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर रहते हुए ही अपनी स्वयं कीराशि म
21 जनवरी 2020
10 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के वृषभ राशि के जातकों परसम्भावित प्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज मिथुन राशि के जातकों पर शनि के मकरमें गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम सामान्य हैं | किसीकुण्डली के विस्तृत फलादेश के
10 जनवरी 2020
22 जनवरी 2020
डॉ दिनेश यात्रा वृत्तान्तों में पूरा शब्दचित्र उकेर देने में माहिर हैं...पूरी सैर करा देते हैं उन स्थलों की जहाँ जहाँ उन्होंने भ्रमण किया है... ऐसा हीएक और यात्रा वृत्तान्त...साल्जबर्ग में आखिरी दिन : दिनेश डॉक्टरकेबल कार सुबहसाढ़े सात बजे चलनी शुरू होती थी । नाश्ता सुबह साढ़े छह बजे ही लग जाता था । ज
22 जनवरी 2020
30 जनवरी 2020
शुक्र का मीन राशि में गोचर रविवार 2 फरवरी, माघ शुक्ल नवमी को 26:18 (अर्द्धरात्र्योत्तर दो बजकरअठारह मिनट) के लगभग बालव करण और शुक्ल योग में समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख,कला, शिल्प, सौन्दर्य,बौद्धिकता, राजनीति तथा समाज में मानप्रतिष्ठा में वृद्धि आदि का कारक शुक्र अपने परम मित्र शनि
30 जनवरी 2020
11 जनवरी 2020
डॉ दिनेश शर्मा का यात्रा वृत्तान्त कल से आगे...चलो थोड़ा घूमने चलें - 2 कल से आगे - दिनेश डॉक्टरमानहाइम आकर चला गया । कुछ लोग उतरे कुछ चढ़े । आजकलबिना किसी अपवाद के हर देश शहर में सब लोग अपने मोबाइल में ही मस्त रहते हैं ।ट्रेन पर समस्त उद्घोषणा तीन भाषाओं में बारी बारी से होती है । पहले फ्रेंच फिरजर्म
11 जनवरी 2020
26 जनवरी 2020
गणतन्त्र दिवस की हार्दिकबधाई एवं शुभकामनाएँअल्पानामपिवस्तूनां संहति: कार्यसाधिकातॄणैर्गुणत्वमापन्नैर्बध्यन्तेमत्तदन्तिन:।। हितोपदेश 1/35छोटीछोटी वस्तुओं को भी यदि एक स्थान पर एकत्र किया जाए तो उनके द्वारा बड़े से बड़ेकार्य भी किये जा सकते हैं | उसी प्रकार जैसे घासके छोटे छोटे तिनकों से बनाई गई डोर से
26 जनवरी 2020
26 जनवरी 2020
गणतन्त्र दिवस की हार्दिक बधाई औरशुभकामनाओं के साथ प्रस्तुत है इस सप्ताह का सम्भावित राशिफल...नीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है
26 जनवरी 2020
09 जनवरी 2020
शुक्र का कुम्भ राशि में गोचर आज पौष शुक्लचतुर्दशी को सूर्योदय से पूर्व चार बजकर तेईस मिनट के लगभग गर करण और ब्रह्म योगमें समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख, कला, शिल्प,सौन्दर्य, बौद्धिकता, राजनीतितथा समाज में मान प्रतिष्ठा में वृद्धि आदि का कारक शुक्र अपने परम मित्र शनि कीएक राशि मकर से
09 जनवरी 2020
14 जनवरी 2020
संक्रान्ति 2020 और मकर संक्रान्तिॐ घृणि: सूर्य आदित्य नम: ॐमाघ कृष्णपञ्चमी यानी पन्द्रह जनवरी को सूर्योदय से पूर्व दो बजकर नौ मिनट (चौदह जनवरी कोअर्द्धरात्र्योत्तर) के लगभग भगवान भास्कर गुरुदेव की धनु राशि से निकल कर महाराजशनि की मकर राशि में गमन करेंगे और इसके साथ उत्तर दिशा की ओर उनका प्रस्थान आरम
14 जनवरी 2020
14 जनवरी 2020
हल्दी और कुमकुम का टीकालगाकर हो शुभारंभ.तिल और गुड़ की मिठास वाणी में जाए घुल.सुगंधित सुमन से सुवासित हो मनमंदिर.अनंत आकाश में अपना अस्तित्व दर्ज कराए रंगबिरंगी पतंग.धनु राशि स
14 जनवरी 2020
21 जनवरी 2020
शनि का मकर में गोचरमाघ मास की अमावस्या को यानी शुक्रवार 24 जनवरी 2020 को दिन में नौ बजकर अट्ठावन मिनट के लगभग अनुशासन और न्याय का कारक मानाजाने वाला ग्रह शनि तीन वर्षों से भी कुछ अधिक समय गुरु की धनु राशि में व्यतीतकरके चतुष्पद करण और वज्र योग में उत्तराषाढ़ नक्षत्र पर रहते हुए ही अपनी स्वयं कीराशि म
21 जनवरी 2020
16 जनवरी 2020
कन्या और तुला राशि के जातकों के लिए शनि का मकर में गोचरकल के लेख में शनि के मकर राशि में गोचर के सिंह राशि के जातकों परसम्भावित प्रभावों के विषय में चर्चा की थी, आज कन्या और तुला राशि के जातकों परशनि के मकर में गोचर के सम्भावित प्रभावों पर संक्षेप में दृष्टिपात... किन्तु ध्यान रहे, ये सभी परिणाम साम
16 जनवरी 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x