गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

26 जनवरी 2020   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (6723 बार पढ़ा जा चुका है)

गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

गणतन्त्र दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ

अल्पानामपि वस्तूनां संहति: कार्यसाधिका

तॄणैर्गुणत्वमापन्नैर्बध्यन्ते मत्तदन्तिन:।। हितोपदेश 1/35

छोटी छोटी वस्तुओं को भी यदि एक स्थान पर एकत्र किया जाए तो उनके द्वारा बड़े से बड़े कार्य भी किये जा सकते हैं | उसी प्रकार जैसे घास के छोटे छोटे तिनकों से बनाई गई डोर से एक मत्त हाथी को भी बाँधा जा सकता है |

वास्तव में एकता में बड़ी शक्ति है ऐसा हम सभी जानते हैं | तो क्यों न आज गणतन्त्र दिवस के शुभावसर पर हम सभी मनसा वाचा कर्मणा एक हो जाने का संकल्प लें ? इसका यह अर्थ कदापि नहीं है कि हम सब एक जैसे ही कार्य करें, एक जैसी ही बोली बोलें या एक जैसे ही विचार रखें | निश्चित रूप से ऐसा तो सम्भव ही नहीं है | प्रत्येक व्यक्ति की पारिवारिक, सामाजिक, आर्थिक, व्यावसायिक आदि विभिन्न परिस्थितियों की आवश्यकताओं के अनुसार हर व्यक्ति मनसा वाचा कर्मणा एक दूसरे से अलग ही होगा | हर कोई एक ही बोली नहीं बोल सकता, हर व्यक्ति की सोच अलग होगी, हर व्यक्ति का कर्म अलग होगा |

मनसा वाचा कर्मणा एक होने का अर्थ है कि हम चाहे अपनी परिस्थितियों के अनुसार जो भी कुछ करें, पर मन वचन और कर्म से किसी अन्य को किसी प्रकार की हानि पहुँचाने का जाने अनजाने प्रयास न करें | और जब आवश्यकता हो तो पूरी दृढ़ता के साथ एक दूसरे को सहयोग दें |

मनसा वाचा कर्मणा एक सूत्र में गुँथने का अर्थ है कि हम अपनी व्यक्तिगत समस्याओं और आवश्यकताओं के साथ साथ सामूहिक समस्याओं और आवश्यकताओं पर भी ध्यान दें… जैसे बच्चों और महिलाओं का सशक्तीकरण यानी Empowerment… और बच्चों तथा महिलाओं का स्वास्थ्य यानी Good Health… यदि इन दोनों विषयों के लिए हम सामूहिक प्रयास करते हैं तो हम मनसा वाचा कर्मणा एकता की डोरी में ही गुँथे हुए हैं…

सर शान से उठाए लहराता तिरंगा भी यही तो सन्देश देता है कि कितनी भी विविधताएँ हो, कितने भी वैचारिक मतभेद हों, किन्तु अन्ततोगत्त्वा राष्ट्रध्वज के केन्द्र में चक्रस्वरूप सबके विचारों का केन्द्र देश ही होता है… अर्थात अपने अपने कार्य करते हुए, अपनी अपनी सोच के साथ, अपनी अपनी भाषा का सम्मान करते हुए साथ मिलकर आगे बढ़ते जाना… ऐसी स्थिति में न विचार बाधा बनेंगे, न भाषा, न वर्ण, न वेश, और न ही कर्म… ऐसे देश को निरन्तर प्रगति के पथ पर अग्रसर होने से कोई रोक नहीं सकता…

एकता की इसी भावना के साथ सभी को गणतन्त्र दिवस की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ…

गणतन्त्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

अगला लेख: कर्क राशि के लिए शनि के मकर में गोचर के सम्भावित प्रभाव



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
26 जनवरी 2020
गणतन्त्र दिवस की हार्दिक बधाई औरशुभकामनाओं के साथ प्रस्तुत है इस सप्ताह का सम्भावित राशिफल...नीचे दिया राशिफल चन्द्रमा की राशि परआधारित है और आवश्यक नहीं कि हर किसी के लिए सही ही हो – क्योंकि लगभग सवा दो दिनचन्द्रमा एक राशि में रहता है और उस सवा दो दिनों की अवधि में न जाने कितने लोगोंका जन्म होता है
26 जनवरी 2020
30 जनवरी 2020
शुक्र का मीन राशि में गोचर रविवार 2 फरवरी, माघ शुक्ल नवमी को 26:18 (अर्द्धरात्र्योत्तर दो बजकरअठारह मिनट) के लगभग बालव करण और शुक्ल योग में समस्त सांसारिक सुख, समृद्धि, विवाह, परिवार सुख,कला, शिल्प, सौन्दर्य,बौद्धिकता, राजनीति तथा समाज में मानप्रतिष्ठा में वृद्धि आदि का कारक शुक्र अपने परम मित्र शनि
30 जनवरी 2020
19 जनवरी 2020
डॉ दिनेश शर्मा के यात्रा संस्मरण, जिनमें समूची यात्रा के शब्दचित्र उकेरे हुए हैं...मिराबेल पैलेस का महिला वायलन बैंड - दिनेश डॉक्टरपहाड़ी से नीचेउतर कर पैलेस के परिसर से वापस बस स्टैंड पर आकर पच्चीस नम्बर की बस पकड़ करसाल्जबर्ग शहर के सेंटर में उतर गया | सुबह का मुफ्त का नाश्ता कभी
19 जनवरी 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x