स्तन संक्रस्तन संक्रमण (मैस्टाइटिस) के कारण

31 जनवरी 2020   |  पूजा शर्मा   (419 बार पढ़ा जा चुका है)



  1. स्टैफिलोकोकस ऑरियस बैक्टीरिया (Staphylococcus aureus bacteria)

स्टैफिलोकोकस ऑरियस बैक्टीरिया स्तन संक्रमण का भी का कारक माना जाता है। जिसे मुख्यता स्टैफ संक्रमण (Staph infcetion) के नाम से भी जाना जाता है।

  1. स्ट्रेप्टोकोकस एग्लैक्टिया (Streptococcus agalactiae)
    स्ट्रेप्टोकोकस एग्लैक्टिया बैक्टीरिया के कारण भी स्तन संक्रमण का खतरा होता है।

  2. मिल्क डक्ट का जाम होना (Clogged milk duct)
    यदि महिला स्तनपान करती है,तो इससे महिला के दूध नलिका का जाम होने से भी स्तन संक्रमण का भी खतरा होता है। ऐसी स्थिति में स्तन में गाँठ, दर्द और सूजन के लक्षण देखने को मिलते हैं।

  3. निप्पल क्रैक (Nipple Crack)
    क्रैक निप्पल भी स्तन संक्रमण का एक बहोत बढ़ा कारण है। बच्चे के मुँह के द्वारा बैक्टीरिया क्रैक निप्पल के माध्यम से अंदर चला जाता है, जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

  4. कमजोर प्रतिरक्षा क्षमता (Weak Immune System)
    सामान्यता स्तनसंक्रमण स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को ही होता है। लेकिन यदि जिन महिलाओं के शरीर में प्रतिरक्षा क्षमता कम मात्रा में होती है,उनलोगों को भी संक्रमण से जूझना पड़ सकता है। जैसे डायबिटीज से ग्रषितमहिलाओं को संक्रमण का खतरा बहुत बढ़ जाता है।

स्तन संक्रमण (मैस्टाइटिस) का उपचार

  1. एंटीबायोटिक दवाइयां (Antibiotic medicine course)
    आपके चिकित्सक आपको एंटीबायोटिक दवाइयॉं का कोर्स भी दे सकते हैं। इन दवाइयॉं का कोर्स 10 से 14 दिनों तक का होता है।इन दवाइयों से महिलाओं को 2-3 दिनों में ही राहत मिलने लगती है। लेकिन यह समस्या ठीक होने पर दवाइयॉं खाना बंद नहीं करना चाहिए और दवाइयों का कोर्स पूरा करना चाहिए। इन दवाइयों का सेवन करते हुए भी आप स्तनपान करा सकती हैं। यदि स्तनपान कराना बहुत ही मुश्किल हो रहा है तो ऐसी स्थिति में ब्रैस्ट पंप (Breast pump) का उपयोग किया जा सकता है। जिससे आपका दूध की प्रवाह प्रभावित ना हो।

  2. फोड़ा हटाना (Removal of lump)
    यदि आपके स्तन में फोड़ा है तो इसे हटाया भी जा सकता है,स्तन या कांख के पास में लिम्फ नोड्स हो तो इसे सर्जरी की सहयता से भी हटाया जाता है।


  3. कीमोथेरपी या रेडिएशन थेरेपी (Chemotherapy or Radiation therapy)


यदि आपको दुर्लभ कैंसर है तो, आपके कैंसर का इलाज कीमोथेरेपी या रेडिएशन द्वारा किया जाएगा। कीमोथेरपी में दवाइयों का प्रयोग करके कैंसर की कोशिकाओं को मारा जाता है और रेडिएशन थेरेपी में उच्च शक्ति के रेडिएशन का प्रयोग करके कैंसर कोशिकाओं को मारा जाता है।



अगला लेख: प्रेगा न्यूज़ और प्रेगनेंसी टेस्ट किट क्या है



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 फरवरी 2020
IVF की प्रक्रिया आईवीएफ प्रकिया में इन-विट्रो-फर्टिलाइज़ेशन, गर्भधारण की एक आर्टिफिशयल सहायक प्रजनन प्रक्रिया के नाम से जानी जाती है। आईवीएफ उपचार एक प्रकार की फर्टिलिटी प्रकिया है।जिन महिला,पुरूषों के जोडों को प्राकृतिक रूप से गर्भधारण करने में समस्या होती है,वो आईवीएफअर्थात् टेस्ट ट्यूब बेबी की
14 फरवरी 2020
11 फरवरी 2020
पुरुष बाँझपन दुर करने के घरेलु उपाय वर्तमान समय में बांझपन न सिर्फ महिलाओं में ही एक समस्या नहीं है बल्कि यह पुरुषों के लिए भी एक चिंता का बन है।जब पुरुषों के वीर्य में तरलता और उसमें शामिल स्पर्म में ज़रूरी संख्या या काउंट नहीं की जाती है तब यह समस्या पुरुष बांझपन के नाम से जानी जाती है।साथ ही साथ
11 फरवरी 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x