नीतेश अजनबी

02 फरवरी 2020   |  Neetesh shakya   (4659 बार पढ़ा जा चुका है)

🚗 दहेज लेना कोई गुनाह नही* 💰

आज के वर्तमान सत्र में दहेज लेना कोई गुनाह नहीं क्योंकि कन्या पक्ष के हमेशा यह सोचते हैं कि मेरी बेटी को ससुराल में कोई काम न करना पड़े और मेरी बेटी की शादी ऐसे घर में हो जहां पर नौकर नौकरानी कार्यरत हों और मेरी बेटी बैठकर हुकूमत चलाए अब इस क्रिया में लड़की पक्ष के गरीब हो या अमीर दोनों व्यक्तियों की सोच यही रहती है कि लड़का हष्ट पुष्ट और सुंदर हो जमीन की जोते भी अच्छी हो लेकिन दहेज न लगे अमीर परिवार के लियेे कन्या पक्ष के लाखों रुपए बोहरे ब्याजवाले से व्याज पर ले लेंगे लेकिन गरीब परिवार मैं शादी नहीं करेंगे। इस लिए इसी सोच के अनुसार दहेज लेना अनिवार्य है। लड़के पक्ष के भी अपनी मेहनत करके घर मकान जमीन उपलब्ध करते हैं। ऐसे में वो कन्या पक्ष से दहेज न ले तो भी ठीक नहीं रहता। क्योंकि जिसके पास जमीन है दौलत है वे व्यक्ति बिना दहेज के शादी करने लगेंगे तो एक बात तो सच है। गरीब परिवार के लड़कों की शादी की मात्रा कम हो जाएगी और कोई लड़की वाला यही नहीं सोचेगा कि गरीब परिवार में शादी की जाए। इसीलिए बर्तमान सत्र के अनुसार दहेज लेना अनिवार्य है।

"सभी पाठक बंधुओं से अनुरोध है यदि आपको ऐसा लगता है कि मेरे द्वारा लिखे गए शब्द गलत हैं तो आप हमसे संपर्क कर सकते हैं l "

📝🖋 नीतेश शाक्य अजनबी 📖🖊

अगला लेख: देश की अर्थव्यवस्था एन.एस.अजनबी



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x